सड़क से लेकर सदन तक विरोध, प्रदर्शनकारियों ने सरकार को दी 15 दिन की मोहलत

धर्म-समाज राजनीति राज्य

रायपुर @ News-36. प्रदेश सरकार के खिलाफ आज सड़क से लेकर सदन तक हंगामा हुआ। छत्तीसगढ़ विधानसभा में कांग्रेस विधायक के काफिले पर हमले क लेकर विपक्ष ने हमला बोला। वहीं छत्तीसगढ़ एससी-एसटी, ओबीसी, सामाजिक और कर्मचारी संगठन के आदिवासियों ने स्प्रे मैदान पर नारेबाजी की। तो इधर भाजपा के किसान मोर्चा ने विधानसभा स्तर पर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

स्प्रे शाला मैदान
छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति और अन्य पिछड़ा वर्ग, सामाजिक और कर्मचारी संगठन के लोग बड़ी संख्या में राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए राजधानी पहुंचे थे। सभी पैदल मार्च करते हुए विधानसभा का घेराव करने के लिए आगे बढ़ रहे थे कि पुलिस ने उन्हें सप्रे स्कूल मैदान के पास बैरिकेटिंग कर रोक दिया। इससे नाराज प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर ही सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। प्रदर्शनकारी और पुलिस बल के बीच काफी देर तक झूमा झटकी हुई। बाद में प्रदर्शनकारियों ने अधिकारियों की समझाइश के बाद मुख्यमंत्री और राज्यपाल के नाम 13 सूत्री ज्ञापन सौंपकर प्रदर्शन समाप्त कर दिया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अगर सरकार उनकी मांग 15 दिन के अंदर नही मानती है, तो आने वाले समय में उग्र आंदोलन किया जाएगा।

नियम विरूद्ध पदोन्नति
एनके मरकाम का कहना है कि नियमों को ताकपर रखकर पदोन्न्त किया जा रहा है और अब तक कई लोगों की पदोन्नति किया जा चुका है। अनुसूचित जनजाति वर्ग,अनुसूचित जाति के जिन लोगों की पदोन्नति होना था, उनको किनारे कर दिया। इसके कारण हमारे लाखों की तादाद में जो रायपुर से बाबू से बड़े बाबू बनना चाहते थे। शिक्षक के बड़े शिक्षक बनना चाहते थे। सब वंचित हो गए हैं। अब स्थिति यह है कि आदिवासी समाज का जो व्यक्ति यदि बाबू में भर्ती हुआ है, तो बाबू में ही रिटायर होगा। यानी हमारे समाज के युवा वर्ग जो नौकरी में आते वह उनके नौकरी लगने ही नहीं है. इसके ठीक विपरीत सामान्य वर्ग में लाखों की तादाद में पदोन्नति होने से वह पद खाली हो गया है. वहां पर सामान्य वर्ग के लोग भर्ती हो जाएंगे। सरकार को पेशा कानून के नियम को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। स्कूल शिक्षा विभाग, उच्च शिक्षा विभाग के रिक्त पदों पर भर्ती करना चाहिए।

भिलाई-३ में विरोध प्रदर्शन
इधर प्रदेश में खाद बीच के संकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों ने भिलाई-३ में विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में जिला अध्यक्ष वीरेन्द्र साहू, प्रदेश कार्य समिति के सदस्य राकेश पांडेय, चरोदा निगम की महापौर चंद्रकांता मांडले, पूर्व जिला अध्यक्ष सांवला राम डाहरे सहित अन्य शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *