Homeस्वास्थ्यस्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी जैसी दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है बच्ची, इंजेक्शन...

स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी जैसी दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है बच्ची, इंजेक्शन की कीमत है 16 करोड़


दुर्ग कलेक्टर के जनदर्शन में आज एक आवेदक ने शिशु रोग से संबंधित एक दुर्लभ बीमारी की समस्या कलेक्टर के समक्ष रखी। उसने बताया कि उसकी द्वितीय संतान स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी नामक बीमारी से ग्रसित है, जिसमें इलाज के लिए उसे जे के लॉन हॉस्पिटल जयपुर राजस्थान के डॉक्टर द्वारा जोल्गेसमा इंजेक्शन का सुझाव दिया गया है। जिसकी कीमत 16 करोड़ बताई गई है।

कलेक्टर ने उन्हें कहा कि वे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से इस संबंध में चर्चा करेंगे। विभाग द्वारा इस तरह की गंभीर बीमारियों में योजना मुताबिक जिस तरह राहत देने के उपाय संभव हैं, वे सारे उपाय सुनिश्चित कराए जाएंगे।


कलेक्टर के पास रोजगार से संबंधित आवेदन भी आ रहे हैं, जिसमें से एक आवेदन दिव्यांग द्वारा भी आया था, उसने बताया कि उसकी पत्नी भी दिव्यांग है और उसकी दो बेटियां भी है। इस पर कलेक्टर ने शासन द्वारा चलाई जाने वाली स्किल डेवलपमेंट कोर्स में उन्हें पंजीकरण करने की सलाह दी और समाज कल्याण विभाग में आवेदक को मिलने के लिए कहा ताकि शासन की योजनाओं से वह स्वरोजगार की ओर आगे बढ़े।


ग्राम अंडा से भी एक आवेदिका ने अपना आवेदन दिया, जिसमें उसने बताया कि उसके खेत के ऊपर से 33 केवी की हाई टेंशन वायर गुजर रही है, जिसकी ऊंचाई बहुत ही कम है। जिससे कभी भी अप्रत्याशित घटना होने की संभावना है, कलेक्टर ने सीएसपीडीसीएल के इंजीनियर को मौके का मुआयना कर शीघ्र निराकरण करने का निर्देश दिया।


ग्राम पहंदा के कृषि विज्ञान केंद्र में वृक्षारोपण मनरेगा के तहत् ग्रामवासियों से वृक्षारोपण कार्य कराया गया था, जिसमें कुछ मजदूरों का भुगतान रुका हुआ है। जिसे लेकर मजदूरों द्वारा कलेक्टर के समक्ष ज्ञापन सौंपा गया था, कलेक्टर ने जिला पंचायत सीईओ को तुरंत इसका निराकरण करने के लिए निर्देशित किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular