Homeराज्यमुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ यात्रा की आज से होगी शुरुआत,करसा से गोमूत्र...

मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ यात्रा की आज से होगी शुरुआत,करसा से गोमूत्र की खरीदी शुरू करेंगी सरकार

रायपुर.खेती किसानी से जुड़े छत्तीसगढ़ के पहली तिहार हरेली गुरुवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गोवंश के अच्छे स्वास्थ्य की कामना के साथ गौमाता को लोई (आयुर्वेदिक औषधी से बनी आटे की लोई) खिलाकर आशीर्वाद लेंगे और कृषि यंत्रों की पूजा भी करेंगे।पाटन विकासखंड के करसा से गोमूत्र खरीदी का शुभारंभ करेंगे। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की पहल परमहतारी न्याय रथ को आज हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ी लोक कलाकारों द्वारा सुआ, कर्मा, ददरिया और गेड़ी नृत्य की प्रस्तुति दी जाएंगी। हरेली गीत भी गाए जाएंगे।

करसा में कृषक सम्मेलन

हरेली के दिन पाटन ब्लाक के गांव करसा में कृषक सम्मेलन होगा। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे। वहीं गोधन न्याय योजना का विस्तार करते हुए गोमूत्र खरीदी का शुभारंभ करेंगे। गांव के पशुपालक चार रुपए प्रति लीटर में गोमूत्र विक्रय कर सकेंगे। हरेली के मौके पर होने वाली इस खरीदी से प्रदेश के गौवंश पालकों को आर्थिक रूप से बड़ी मजबूती मिलेगी। अब तक किसान गोबर का विक्रय करते आये थे अब गोमूत्र भी बेचने से उनकी आय में इजाफा होने से पशुधन विकास के कार्य को बढ़ावा मिलेगा। विशेषज्ञ मानते हैं कि कृषि के साथ पशुपालन का कार्य करने से किसान अपनी आय दोगुनी करने का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।

नए कृषि उपकरणों की लांचिंग

कृषि सम्मेलन नये कृषि उपकरणों की लांचिंग होगी। खेती किसानी के लिए उपयोगी कृषि प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। मुख्यमंत्री किसानों से खेती किसानी के बारे में बातचीत करेंगे और उनका सम्मान भी करेंगे। बता दें कि 20 जुलाई 2020 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हरेली के दिन देश की अनूठी गोधन न्याय योजना की शुरुआत थी।

बैलगाड़ी से पहुंचेंगे पूजा स्थल

मुख्यमंत्री हरेली पूजास्थल में बैलगाड़ी से पहुंचेंगे। वहां वे गौमाता की पूजा करेंगे। साथ ही परंपरागत रूप से कृषि उपकरणों की पूजा करेंगे। वे मशीन से पैरा काटेंगे और गायों को खिलाएंगे। हरेली के मौके पर गोवंश की पूजा होती है। बता दें कि पिछले साल मुख्यमंत्री ने अपने निवास से बैलगाड़ी से निकले थे और सुंदर परंपरागत तरीके से हरेली का उत्सव मनाया था।

किसान सम्मेलन का खास आकर्षण नये कृषि उपकरणों की लांचिंग होगा। इसमें सबसे खास है एक ऐसा ड्रोन जिसके माध्यम से फर्टिलाइजर और कीटनाशक की समुचित मात्रा में काफी कम समय में छिड़काव हो सकेगा। इसके साथ ही कृषि के लिए उपयोगी अत्याधुनिक उपकरण भी डिस्प्ले के लिए लगाए जाएंगे। कृषि सम्मेलन में विशेषज्ञ भी मौजूद रहेंगे जिनसे किसान आधुनिक तरीके से खेती के संबंध में और खेती में आई नई तकनीक के बारे में जानकारी ले सकेंगे।

यह भी पढ़ें: गृहमंत्री साहू नेवई गौठान में तैयार स्वरोजगार केन्द्र का लोकार्पण मनाएंगे हरेली तिहार

हरेली तिहार: हरे रंग की वेशभूषा धारणकर महिला कर्मचारियों ने बनाया छत्तीसगढ़ का मानचित्र

छत्तीसगढ़ी खेलों की होगी धूम

हरेली खेती का त्योहार है और साथ ही छत्तीसगढ़ में खेलों का सबसे बड़ा दिन। इस मौके पर छोटे बच्चे तो गेड़ी चढ़ते ही हैं बड़े बुजुर्ग भी गेड़ी चढ़ते हैं। इस दिन करसा में गेड़ी प्रतियोगिता भी होगी और इसके विजेताओं को सम्मानित भी किया जाएगा। इस मौके पर गेड़ी रेस, भौंरा, पिट्ठूल, कंचा, पतंग, गोली चम्मच, खोखो, रस्सा खींच, तिग्गा गोटी और गिल्ली डंडा जैसे खेलों का आयोजन भी किया जाएगा। प्रदेश के सभी स्कूलों में भी गेड़ी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

chhattisgarh
फाइल फोटो-गेंड़ी पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

खेती किसानी पर होगी चर्चा

हरेली का त्योहार अच्छी फसल की कामना के लिए सबसे खास त्योहार है। यह उत्सव का समय भी है और बेहतर खरीफ फसल के लिए विचारविमर्श कर योजना बनाने का भी। मुख्यमंत्री कृषक सम्मेलन में किसानों से बातचीत करेंगे। मुख्यमंत्री स्वयं किसान भी हैं इसलिए अपने अनुभव भी साझा करेंगे। साथ ही सरकार द्वारा किसानों के हित में आरंभ की गई योजनाओं की जानकारी भी देंगे। वे किसानों के अनुभव भी जानेंगे और उनसे चर्चा भी करेंगे।

यह भी पढ़ें:दपूमरे रुट की 7 एक्सप्रेस गाड़ियां अतिरिक्त कोच के साथ चलेंगी

34 प्रतिशत मंहगाई भत्‍ता और एरियर्स की मांग को लेकर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

कावड़ यात्रा:जय हनुमान सेवा वाहिनी, शिवनाथ के जल से प्राचीन देव बलौदा मंदिर में करेंगे भोलनाथ का महाभिषेक

मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ यात्रा की होगी शुरूआत
राज्य महिला आयोग की पहल पर हरेली पर्व से प्रदेश की महिलाओं को उनके अधिकारों और कानूनों की जानकारी देने तथा जागरूक करने के लिए ‘मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ यात्रा‘ की भी शुरूआत की जाएगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिलों और गांवों तक संदेश पहंुचाने ‘मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ‘ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। सबसे पहले दुर्ग जिले से रथ अपनी यात्रा शुरू करेगा।
गांव-गांव पहुंचेगा न्याय रथ, देगा कानूनी जानकारी 
मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ शुरूआत में खनिज न्यास निधि प्राप्त करने वाले नौ जिलों दुर्ग, रायपुर, राजनांदगांव, बलौदाबाजार-भाटापारा, महासमंुद, जांजगीर-चांपा, गरियाबंद, धमतरी, कांकेर में जाएगा। इसके बाद रथ प्रदेश के बाकी बचे जिलों के भ्रमण पर जाएगा। ‘‘बात हे अभियान के महिला मन के सम्मान के’’ सूत्र वाक्य के साथ यह यात्रा शुरू होगी। रथ में लगी एलईडी स्क्रीन के मााध्यम से महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने शॉर्ट फिल्म दिखाई जाएगी। रथ में दो अधिवक्ता भी होगे जो महिलाओं की समस्याओं का समाधान करने के साथ उनसे आवेदन भी लेंगे, ताकि महिला आयोग के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान किया जा सके। इस अभियान के तहत महिलाओं को निःशुल्क कानूनी सहायता दी जाएगी। इससे पहले भी महिला आयोग ने वाट्सएप नंबर +91-9098382225 जारी किया है, जिसके माध्यम से भी महिलाएं आयोग में अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं।

यह भी पढ़ें:तिरंगे की शान के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स में खेलेंगे भारत के 213 खिलाड़ी,बर्मिंघम में छग की बेटी भी करेंगी परफॉर्म

स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों की संविदा भर्ती नियम में आंशिक संधोधन

विस में अनियमित और संविदा कर्मचारियों के नियमितिकरण का मामला विस में उठा

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!