Homeबिजनेसबस्तर में 10 मिट्रिक टन क्षमता की इमली प्रोसेसिंग यूनिट शुरू

बस्तर में 10 मिट्रिक टन क्षमता की इमली प्रोसेसिंग यूनिट शुरू

  • धुरागांव में इमली प्रसंस्करण संयंत्र की स्थापना
  • इस संयंत्र में प्रतिदिन 10 मिट्रिक टन इमली गुदा प्रोसेसिंग करने की है क्षमता
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संयंत्र का किया शुभारंभ

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज एक दिवसीय बस्तर प्रवास के दौरान लोहंडीगुड़ा विकासखंड के धुरागांव में इमली प्रसंस्करण संयंत्र का शुभारंभ किया और संयंत्र का अवलोकन किया। संयंत्र संचालक से इसकी तकनीकी, क्षमता एवं आवश्यक मानव संसाधन के संबंध में जानकारी ली।

उन्होंने धुरागाँव में इमली प्रसंस्करण संयंत्र की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे क्षेत्र में औद्योगिक निवेश की संभावना बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि यहां रोजगार सृजन के लिए स्थानीय वनोपज और कृषि उपज का यहीं प्रसंस्करण आवश्यक है तथा यह संयंत्र इस दिशा में एक बड़ी उपलब्धि है। इस मौके पर उद्योग एवं जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, सांसद दीपक बैज, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप, स्थानीय विधायक राजमन बेंजाम, मुख्य वन संरक्षक मोहम्मद शाहिद, कलेक्टर चंदन कुमार सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

संयंत्र के संचालक कार्तिक कपूर ने बताया कि इस संयंत्र में प्रतिदिन 10 मिट्रिक टन इमली गुदा, 5 मिट्रिक टन इमली चपाती और 3 मिट्रिक टन इमली बीज का पाउडर बनाने की क्षमता है। यह संयंत्र सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ पीईबी और पफ पैनल में कुल निर्माण के 35000 वर्ग फुट के साथ 2 एकड़ में फैला हुआ है।

 

खाद्य प्रयोगशाला का निर्माण यहां किया गया है। इसके साथ ही, उपकरणों के तौर पर प्रीमियम गुणवत्ता वाला स्टील का उपयोग किया गया है। यहां एफएसएसएआई के सभी मानदंडों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। यह संयंत्र पूरी तरह से स्वचालित है, पावर बैकअप, निर्बाध निर्माण के लिए मैनुअल मोड में काम करने का प्रावधान है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!