Homeशिक्षाआम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्कूलों की अव्यवस्था पर उठाए सवाल

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्कूलों की अव्यवस्था पर उठाए सवाल

 

भिलाई. आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल फरीद नगर एवं शासकीय विद्यालयों की व्यवस्था पर सवाल उठाया है। उनका कहना है कि वैशाली नगर विधानसभा के सभी वार्डों में जनसपर्क कर स्कूल, वार्ड की साफ सफाई, स्वास्थ्य व्यवस्था,महंगाई, बेरोजगारी और पानी की कमी जैसे विषयों पर शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया जा रहा है, लेकिन शासन प्रशासन के जिम्मेदार लोग किसी भी प्रकार का सहयोग या समस्या के समाधान की उम्मीद नहीं रखती हैं ।

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता देविंदर सिंह भाटिया का कहना है कि 15 अक्टूबर को उन्होंने वार्ड 7 राधिका नगर में स्थित स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल फरीद नगर की अव्यवस्था लेकर शिकायत की। इसके बाद अनिल प्रजापति,सतीश साहू ,ईश्वरी कुर्रे समेत अन्य के साथ 17 अक्टूबर को पालकों से मुलाकत की और उनके साथ स्कूल का जायजा लिया। जहां पालकों ने बताया कि स्कूल में कोई पढ़ाई नहीं होती है। स्कूल में अभी टीम शिक्षकों की कमी है,नियुक्ति नहीं हुई है।

डीपीआर की वेबसाइट में अब हर जिले का सेगमेंट,सीएम ने किया द्विभायी वेबसाइट का लोकार्पण

आदिवासियों को 32 प्रतिशत के आरक्षण का लाभ दिलाने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध- मुख्यमंत्री बघेल

पेयजल की प्राॅपर व्यवस्था नहीं

उनका कहना है कि स्कूल परिसर में पेयजल की प्रापर व्यवस्था नहीं है, सप्लाई लाइन टूटी हुई है। सफाई का अभाव है। बाथरूम की हालात खराब है। स्कूल में पर्याप्त कमरे नहीं है। इस वजह से विद्यार्थियों को दो समूहों में बांट दिया गया है और एक दिन छोड़कर स्कूल में बुलवा रहे हैं। प्राचार्य,शिक्षक,लिपिक किसी की भी नियुक्ति नहीं हुई है। स्कूल का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार नहीं है।बच्चों को अब तक सभी पुस्तकें वितरण नहीं हुआ है। खेलकूद की सामग्री नहीं है, साफ सफाई और अन्य आवश्यक खर्चो के लिए वित्तीय व्यवस्था नहीं है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में पहली बार होगा बैडमिंटन का अंतरराष्ट्रीय मुक़ाबला

Surya Grahan 2022: दीपावली के दूसरे दिन सूर्य ग्रहण,जानिए कब तक रहेगा सूतक काल

आप नेता भाटिया का यह भी है कहना कि वोट बैंक की राजनीति के लिए शिक्षा का सिर्फ प्रचार प्रसार शासन न करें। शासकीय विद्यालयों में बच्चो के भविष्य के साथ हो रही खिलवाड़ को अविलम्ब रोकें। इसमें नगर निगम की भी भागीदारी सुनिशित कर कार्यो की निगरानी किया जाना चाहिए। उनका कहना है कि प्रतिनिधि मंडल के साथ बहुत जल्द ही शिक्षा अधिकारी और संयुक्त संचालक लोकशिक्षण संचालनालय से लिखित में शिकायत कर निराकरण की मांग किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:छत्तीसगढ़ में अब 108 अनुविभाग, तहसीलों की संख्या हुई 227 

Big decision of Cabinet :ओबीसी एवं कमजोर वर्ग के युवाओं को मिलेगा उच्च शिक्षा प्राप्त करने का अवसर,सरकार निजी संस्थानों से करेगाअनुबंध

जिले में तीन आईपीएस की आमद,संभाला नगर, ग्रामीण और छावनी सीएसपी की कमान

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!