Homeराज्यकमी रह गई है, उसे भी अब हम दूर करेंगे - मुख्यमंत्री

कमी रह गई है, उसे भी अब हम दूर करेंगे – मुख्यमंत्री

  • गुण्डरदेही में एसडीओपी की होगी पदस्थापना
  • अर्जुंदा एवं गुण्डरदेही में स्वास्थ्य केन्द्र और अर्जुंदा में बस स्टेण्ड का होगा निर्माण
  • बेलौदी जलाशय का होगा गहरीकरण, दो निजी स्कूलों का होगा अधिग्रहण

बालोद.मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत विधानसभा क्षेत्र गुण्डरदेही के ग्राम बेलौदी  स्थित मां दुर्गा एवं शीतला मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों के सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों से चर्चा करते हुए कहा कि भेंट मुलाकात के पहले चरण में बस्तर और सरगुजा संभाग के लोगों से मुलाकात की। उसके बाद रायगढ़ और अब बालोद जिले में आपके पास गया हूं। आज आपके बीच पहुंचकर बहुत ही खुशी का अनुभव हो रहा है।

 

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर गुण्डरदेही में एसडीओपी की होगी पदस्थापना करने की घोषणा की। इसी प्रकार अर्जुंदा और गुण्डरदेही के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए भवन और अर्जुंदा में बस स्टेण्ड के निर्माण की मंजूरी दी। गुण्डरदेही विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी बाहूल्य गांवों में देवगुड़ी सौन्दर्यीकरण हेतु 50 लाख रूपए, बेलौदी जलाशय के गहरीकरण और विभिन्न सड़कों के मरम्मत की स्वीकृति दी। इसके अलावा भाटागांव, बेलौदी, कुरदी में जिला सहकारी बैंक का एटीएम, भाठागांव बी और पैरी में संचालित दो निजी स्कूलों के शासकीयकरण की भी मंजूरी दी।

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत मैं यह जानने आया हूँ कि आप लोगों को योजनाओं का लाभ मिल रहा है या नहीं। मुख्यमंत्री के यह कहने पर सबने उत्साहपूर्वक जोर से कहा कि योजनाओं का लाभ मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि मैं जानना चाहता हूं कि क्या कमी रह गई है, उसे भी अब हम दूर करेंगे।

 

भेंट मुलाकात के दौरान  शत्रुघ्न ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तारीफ करते हुए कहा कि मुझे इस योजना का लाभ दो साल से मिल रहा है। इसके अलावा अल्पकालीन कृषि ऋण माफ योजना के तहत 35 हजार का कर्ज माफ हुआ। शत्रुघ्न ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए जोर से कहा ’छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया’।

 

मुख्यमंत्री को आभार व्यक्त करते हुए डोमार सिंह साहू ने बताया कि अल्पकालीन कृषि ऋण योजना तहत 3 लाख रूपए का कर्ज माफ हुआ है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत अक तक 38 हजार रूपए का लाभ मिला। इस पर मुख्यमंत्री ने डोमार सिंह साहू पूछा कि इतना अतिरिक्त पैसा मिला तो क्या किया? डोमार सिंह ने बताया कि बेटे की शादी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि लड्डू नहीं खिलाये भैया। किसान ने कहा आप तो आये नहीं। कुंवर सिंह आये थे। मुख्यमंत्री ने बहु पूर्णिमा से पूछा, क्या लिया आपके ससुर जी ने, बहु ने कहा कि मेरे लिए कार लेंगे। मुख्यमंत्री ने पूछा मायके कहां हैं। पूर्णिमा ने बताया कि अभनपुर मायके है।

chhattisgarh
मुख्यमंत्री से चर्चा करते हुए गोमती साहू

मुख्यमंत्री को गोमती साहू ने बताया कि मुख्यमंत्री सुपोषण योजना से उनके बच्चे का वजन तेजी से बढ़ गया। अब वह सामान्य बच्चों की श्रेणी में आ गया है। इस पर मुख्यमंत्री ने गोमती को बताया कि एनीमिक महिलाओं के पोषण के लिए भी व्यवस्था है। एनीमिक महिलाएं योजना का लाभ लेकर स्वास्थ लाभ ले सकती हैं। एक हितग्राही ने अपने दिव्यांग बच्चे को दिखाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन्हें विशेष स्कूल भेजें, इसके लिए हर जिले में सुविधा है। ऐसे सभी दिव्यांग बच्चों के स्वास्थ के लिए हम कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पूछा कि हाट बाजार मोबाइल वैन में कितना पैसा दिए। ग्रामीण ने कहा कि वो तो फोकट में हे। फोकट में दवाई तको हे।

 

मुख्यमंत्री ने पूछा किसका-किसका राशन कार्ड बना है। एक हितग्राही ने बताया कि एक कार्ड बना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सास बहू साथ में रहो, कार्ड बर अलग होना सही नहीं है। हल्दी निवासी देववती साहू ने बताया कि परिवार में 3 लोग हैं, नमक,  शक्कर, चावल सब सही निर्धारित मूल्य पर मिल रहा है। मुख्यमंत्री से देववती ने कहा चना भी देतेव तो अच्छा होतीस कका। यह सुनकर सब खिलखिलाकर हंसने लगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत सभी पात्र किसान अनिवार्य रूप से अपना पंजीयन करवा लें। इस योजना के तहत पात्र किसानों को प्रतिवर्ष 7 हजार रुपये देने का प्रावधान है।

 

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर भाठागांव में पानी और बिजली की बेहतर व्यवस्था के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। चंचल महिला समूह की सदस्य ने मुख्यमंत्री को बताया कि 51 हजार वर्मी कम्पोस्ट बेचे हैं। इससे 28 हजार शुद्ध कमाई है। इसके अलावा 15 हजार का तो कीटनाशक बेच चुके हैं। मुख्यमंत्री ने समूह की महिलाओं कि 10 साईकल की डिमांड पर स्वेच्छानुदान से तुरंत 50 हजार रूपए स्वीकृत किए।

Chhattisgarh
लोगों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री को सुश्री पद्मा ने स्वरचित कविता के माध्यम से श्री भूपेश बघेल कि तारीफ की। कविता के माध्यम से कहा कि
’दिल में दया और आंखों में करुणा और मुस्कान।
मुश्किल है आप जैसे इंसान का मिलना।

भोलाराम साहू ने सर्दी की फसल लेने के लिए मुख्यमंत्री से सोलर पंप की मांग की। साथ ही कहा कि समर्थन मूल्य पर प्रति एकड़ 18 क्विंटल धान खरीदने का आग्रह भी किया। इस पर लोगों ने खूब ताली बजाई। लोगों ने कहा कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी से किसानों में खुशहाली का माहौल है। यदि 18 क्विंटल प्रति एकड़ धान खरीदी प्रारंभ हो जाए तो किसान ज्यादा मजबूत होंगे। मुख्यमंत्री ने डोमर सिंह कि मांग को पूरा करते हुए कहा कि सोलर पंप दे।

यह भी पढ़ें:नर्मदाधाम में दीपदान का है विशेष महात्म्य – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!