Homeराज्यखेत में अर्र..त.. त.. त... हल चलाते हुए नजर आए प्रदेश के...

खेत में अर्र..त.. त.. त… हल चलाते हुए नजर आए प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल

मनेन्द्रगढ़. छत्तीसगढ़ के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खेत में अर्र..त.. त.. त… करते हुए नजर आए। खेत में हल चलाकर जुताई की और ‘सोनम’ धान की बुवाई की। यह नजारा बुधवार को पाराडोल में देखने को मिला। दरअसल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट मुलाकात अभियान के दौरान बुधवार को पाराडोल पहुंचे।

जहां कार्यक्रम स्थल से लगे हुए खेत में नांगर-बइला (हल और बैल) से धान की बुवाई करते हुए किसान को देख खुद को रोक नहीं पाए और सीधे खेत पहुंच गए। उन्होंने खेत में ‘सोनम’ धान छिड़क कर बुवाई की और हल चलाकर जुताई भी की। यह खेत गांव के कोटवार भागीरथी को कोटवारी जमीन के रुप में मिली है। वहीं मुख्यमंत्री ने किसान मनकेश्वर सिंह के घर दोपहर का भोजन किया। पारम्परिक व्यंजन बथुआ के सुक्सी भाजी, मुनगा सब्जी, तोरई सब्जी और लकड़ा चटनी का स्वाद लिया।

 

पहले तीन स्थान पर आने वाले समूह को प्राईज देंगे

वहीं सीएम ने गौठानों में सबसे अधिक वर्मी कम्पोस्ट बनाने वाले और बेचने वाले समूह को पुरस्कृत करने की घोषणा भी की। पहले तीन स्थान पर आने वाले समूह को प्राईज देंने की बात कही। इस मौके पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल और मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल भी मौजूद थे।

योजनाओं का जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन देखने आया हूं

मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात में कहा कि मैं जमीनी स्तर पर योजनाओं का क्रियान्वयन देखने आया हूं। जनप्रतिनिधि विधानसभा में योजना बनाते है, तो अधिकारी उसको क्रियान्वित करते है.. योजनाओं का लाभ लोगों को मिल रहा है या नहीं, इसका पता लगाने अधिकारियों को साथ लेकर आया हूं।

chhattisgarh
पाराडोल में भेंट-मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री, गृहमंत्री और राजस्व मंत्री

विकास कार्यों  को दी स्वीकृती

भेंट-मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री बघेल ने तेंदुडांड पाराडोल में हसदेव नदी पर उच्चस्तरीय पुल, हसदेव नदी पर एनीकट का निर्माण, नगर पंचायत झगराखांड में मिनी स्टेडियम का निर्माण, ग्राम पंचायत नारायणपुर मुख्यमार्ग से घुईपानी तक 03 किमी पक्की सड़क,छिपछिपी हाई स्कूल के लिए नये भवन का निर्माण की घोषणा की।

कार्यक्रम के दौरान नीलोफर नायक ने बताया कि डेयरी का व्यवसाय करती हैं और गोबर बिक्री कर 6000 रुपये महीने कमाती हैं। पाराडोल की लक्ष्मी ने बताया 100 क्विंटल धान बेचा, पैसा मिला तो मोटर साइकल ख़रीदी। तेंदूपत्ता संग्राहक खोंगापानी के ओमप्रकाश रजवाड़े ने बताया 4000 मानक बोरा रेट मिल रहा है, जो पूरे देश में सबसे ज्यादा है। उन्होंने बताया तेंदूपत्ता से 31 हजार 200 कमाए।

जैनुद्दीन ने बताया कि हाट बाजार क्लिनिक से घर के पास ही मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। ममता परस्ते ने बताया की बच्चों का जाति प्रमाणपत्र नहीं बना है, मुख्यमंत्री ने बच्चों के जाति प्रमाणपत्र के लिए नियमानुसार करवाई करने के निर्देश कलेक्टर को दिए। पाराडोल देवमंती ने कहा कि गौठान में वे लोग मुर्गीपालन कर रहे हैं। पाराडोल में मुख्यमंत्री ने वनाधिकार पट्टा वितरण का फीडबैक भी लिया।

गोबर बेचकर कमाए पैसों से की शादी

श्याम जायसवाल ने बताया कि गोधन न्याय योजना के कारण उनकी शादी हुई है। उन्होंने बताया कि डेयरी के व्यवसाय से उन्हें कम आमदनी होती थी, फिर उन्होंने गोधन न्याय योजना में गोबर बेचना शुरू किया। इससे मिली राशि से उन्होंने डेयरी का व्यवसाय और आगे बढ़ाया, उनकी आर्थिक स्थिति भी सुधरी और विवाह भी हो सका। इस पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छतीसगढ़ सरकार पर विश्वास कर लड़की वालों ने शादी कराई है। विश्वास है कि गोबर तो सरकार खरीदेगी ही, लड़की सुखी रहेगी। मनेन्द्रगढ़ की प्रीति टोप्पो ने बताया कि गौठान में उनका समूह केंचुआ खाद का उत्पादन कर रहा है।

यह भी पढ़ेंसदन में विषय पर सार्थक चर्चा कहां होती है, करते हैं हंगामा – सांसद डॉ सरोज पांडेय

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!