Homeशिक्षाछात्रहित में बड़ा निर्णय: कॉलेजों में 30 सितंबर तक एडमिशन,स्टूडेंट्स को लेनी...

छात्रहित में बड़ा निर्णय: कॉलेजों में 30 सितंबर तक एडमिशन,स्टूडेंट्स को लेनी होगी इससे अनुमति

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने छात्रहित में बड़ा निर्णय लिया है। जो छात्र-छात्राएं अब तक किसी भी कॉलेज में एडमिशन नहीं लिए हैं, उनके लिए उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज में एडमिशन की तारीख बढ़ाकर अब 30 सितंबर कर दी है। छात्रों के भविष्य की चिंता करते हुए शिक्षा विभाग ने इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है।

कुलपति से लेनी होगी अनुमति

छत्तीसगढ़ शासन के उच्च शिक्षा विभाग के अपर सचिव ने इस संबंध में सभी विश्वविद्यालयों को आदेश जारी किया है। जारी आदेश में कहा गया है कि, छात्रों के लाभ को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। यदि किसी विश्वविद्यालय या उससे संबद्ध कॉलेज में सीट रिक्त है, तो विद्यार्थी को कुलपति की अनुमति से 30 सितंबर तक प्रवेश दिया जाए। इसके लिए कुलपति को अनुमति प्रदान की गई है।

उच्च शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में एडमिशन की तारीख 26 अगस्त तक तय थी। इससे बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स कॉलेज में दाखिला नहीं ले पाए थे। ऐसे स्टूडेंट्स अब 30 सितंबर तक प्रवेश ले पाएंगे। इसके लिए स्टूडेंट्स को संबंधित विश्वविद्यालय के कुलपति से अनुमति लेनी होगी।

यह भी पढ़ें: मछली पालन करने वाले,मत्स्य किसान उत्पादक संगठन से जुड़कर उठाएं सरकार की योजना का लाभ

Exclusive:सरकार ने किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए रबी फसलों के प्रमाणित बीजों की कीमत को किया रिवाइज

दीवारों पर स्पिटिंग करने वाले सुधर जाएं,नहीं तो कोटपा एक्ट के तहत कार्रवाई तय

दुर्ग विश्वविद्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक उच्च शिक्षा विभाग द्वारा 23 सितंबर को इस संबंध में आदेश जारी किया है। प्रवेश की अंतिम तिथि छात्र हित में 30 सितंबर 2022 तक बढ़ा दी गई है। कई कॉलेजों में सीटें फुल हो चुकी हैं तो कई जगह अभी सीटें खाली हैं। ऐसी स्थिति में छात्रों के लिए काफी राहत की बात है। जो छात्र BCA, BBA, BCom., BSc, MSc, MCom, PGDCA, DCA, कोर्स में अभी तक प्रवेश नहीं ले पाए हैं, और वो एडमिशन लेना चाहते हैं। तो 30 सितंबर से पहले कुलपति की अनुमति के बाद एडमिशन ले सकते हैं। छत्तीसगढ़ के छात्र संघ ने कई बार उच्च शिक्षा विभाग से प्रवेश तिथि बढ़ाने की मांग किया था। इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को आवेदन भी दिया गया था।

यह भी पढ़ें: ’हमर बेटी-हमर मान’ अभियान का शुभांरभ जल्द, महिला अधिकारी कॉलेजों में जाकर बेटियों को देंगे कानून की जानकारी

एसपी ने दुर्गोत्सव समितियों को बताए नियम, गड़बड़ी होने पर समिति होंगे जिम्मेदार

मुक्तिधाम तालाब बनेगा वैशाली विस क्षेत्र के लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र

हमारा मॉडल है जो गांधी जी की सोच पर चलता है- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!