HomeEntertainmentCrimeग्राहकों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले संचालकों से पुलिस ने जब्त...

ग्राहकों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले संचालकों से पुलिस ने जब्त किया 500 एटीएम ,5 हजार पासबुक और लैपटाप

बेमेतरा. छत्तीसगढ़ की बेमेतरा पुलिस ने नगर पंचायत देवकर के एसबीआई ग्राहक केन्द्र लोगों से धोखाधड़ी करने वाले ताम्रकार बंधु के मामले में मंगलवार को सनसनीखेज खुलासा। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने 15 ग्राहकों के एकाउंट से फर्जी तरीके से 17 लाख 88 हजार 063 रुपए निकाल लिए हैं। इनमें ज्यादातर पीड़ित किसान है। इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के पास से करीब 500 एटीम कार्ड, एसबीआई के 5 हजार पासबुक और लैपटाप के साथ दस्तावेज भी जब्त किया है।

पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि ग्राहक सेवा केन्द्र के संचालक, ग्राहकों को फर्जी पासबुक जारी करता था। समय-समय पर उनके द्वारा जमा रकम को खातों में जमा न कर आरोपी अपने पास रख लेता था। इस मामले में ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक ओमप्रकाश ताम्रकार, मुकेश ताम्रकार एवं पूजा ताम्रकार को गिरफ्तार किया है।उनसे पूछताछ के लिए अति पुलिस अधीक्षक पंकज पटेल, बेरला एसडीओपी तेजराम पटेल, साजा थाना प्रभारी निरीक्षक अंबर सिंह भारद्धाज और देवकर चौकी प्रभारी उप निरीक्षक टी. आर. कोसिमा की टीम बनाई गई है। जो पूरे मामले की जांच करेंगे।

प्रेस कान्फ्रेंस में मामले का खुलासा करते हुए एसपी धर्मेन्द्र सिंह

गिरफ्तार आरोपी हैं भाई-बहन

पुलिस ने खिसाेरा निवासी प्रार्थी हेमन्त साहू पिता चिन्ताराम साहू उम्र 29 साल की लिखित शिकायत पर एसबीआई के ग्राहक सेवा केन्द्र संचालकों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया है।देवकर चौकी पुलिस ने शिकायत पर ग्राहक केन्द्र के संचालक ओम प्रकाश ताम्रकार, मुकेश ताम्रकार और पूजा ताम्रकार के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420,409,34 के तहत अपराध दर्ज किया है। बता दें कि तीनों आरोपी भाई बहन हैं। तीनों के नाम से एसबीआई साजा से ग्राहक सेवा केन्द्र के लिए तीन आईडी जारी हुआ।

 एकाउंट से चार लाख हड़प लिए

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पटेल ने बताया कि प्रार्थी हेमंत साहू ने वर्ष 2014 में ग्राहक सेवा केन्द्र के संचालक ओमप्रकाश ताम्रकार से मुलाकात की और खाता खुलवाने के संबंध में सलाह लिया तो, उसने आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो और मूल निवासी प्रमाण पत्र दिया। उसके बाद उसने फार्म में हस्ताक्षर करवाया एवं खाता खोलने के लिये 10,000 रुपए जमा करवाया और बोला कि आपको पास बुक के लिये स्टेट बैंक साजा जाने कि जरूरत नहीं हैं। यही बनवाकर दूंगा।

करीब 15 दिन बाद उसने हेमंत को खाता कमांक …..4144480 नंबर का पास बुक दिया। फिर खाता में कुछ दिन के बाद हेमंत ने 20,000, 50,000, 40,000 रुपए जमा किया। तब संचालक ने हेमंत को बोला कि खाता में ज्यादा रकम है। चालू खाता में ब्याज कम मिलता है। उसने हेमंत को आर.डी. खाता खुलवाने की सलाह दी और उसी खाता नंबर में फिक्स डिपजिट आर.डी. खाता खोला। पासबुक का पुरा पन्ना पैक हो जाने पर इसे ओमप्रकाश ताम्रकार ने पुराना पास बुक को अपने पास रख लिया। 13 सितंबर 2021 को नया पासबुक प्रार्थी के नाम का आर.डी. खाता खोला था। उसका खाता नंबर ….231118 को दिया। जिसमें 3,33,731 रुपए था। फिर 22 अप्रेल 21 को उक्त खाता में 95818 रुपए और जमा किया।  26अक्टूबर 21 को 40,000 रुपए निकाला। फिर 15 नवंबर 21 को 20,000 जमा किया। 22 अप्रेल 22 को 21551 रुपए ब्याज का जोड़कर कुल रकम 4,00,742 रुपए उनके खाते में था।

एकाउंट से 3 लाख रुपए उड़ा दिए

10 जून को हेमंत ने जब एसबीआई ग्राहक सेवा केन्द्र देवकर में फर्जीवाड़ा होने की खबर सुना। तब वह ग्राहक सेवा केन्द्र देवकर में जाकर देखा तो ग्राहक सेवा केन्द्र में ताला बंद होने पर वह स्टेट बैंक शाखा साजा में करीबन 12.30 बजे जाकर बैंक मैनेजर से मिला एवं बैंक खाता क्रमांक….0231118 को चेक करवाया तो बैंक मैनेजर ने बताया कि तुम्हारे खाता में मात्र 100 रुपए शेष है। खाता में जमा रकम 4,00642 रुपए नहीं है। तब उन्हें पता चला कि उक्त रकम को ग्राहक सेवा केन्द्र देवकर के संचालक ओमप्रकाश ताम्रकार, मुकेश ताम्रकार, पूजा ताम्रकार के द्वारा निकालकर धोखाधड़ी किया है।

नवकेशा के किसानों के खाते से निकाली राशि

आरोपियों ने नवकेशा निवासी सोनबाई सतनामी 40,127, पुष्पा साहू के खाते से 50029, कुसुम बाई 55077, सुनिता साहू 22000, नारायण प्रसाद साहू के खाते से 7988 रुपए निकाल लिए हैं।

अकलवारा के साहू परिवार के खाते से निकाले लिए करीब 3.50 लाख

ग्राम अकलवारा के साहू परिवार के खाते से आरोपियों ने करीब 3.50 लाख फर्जी तरीके से निकाल लिए हैं। इनमें लोकराम साहू के खाते से 29,936, उनके बड़े बेटा शिवकुमार साहू के खाते से 91,830 और बेटे प्रदीप कुमार साहू के खाते से 2,14,837 रुपए गायब कर दिए हैं। इसी प्रकार अकलवारा राधिका साहू के खाते से 26248, देवकर निवासी मधुलिका शर्मा  2,80,000, देवकर निवासी मिश्रीलाल ढीमर 43,447 रुपए, देवकर निवासी धनराज साहू 1,68,000, गोदावरी बाई साहू 1,74,500 और गीता बाई साहू देवकर से 1,83,052 रुपए समेत कुल 17,88,063 रुपए आहरण कर धोखाधड़ी किया है।

जांच में फर्जीवाड़ा के और मामले आएंगे सामने 

बताया जा रहा है ग्राहक सेवा केन्द्र में इस तरह का फर्जीवाड़ा लंबे समय से चल रहा था।बारीकी से जांच होने पर लोगों से धोखाधड़ी और फर्जीवाड़ा के कई और मामले सामने आ सकते हैं। बता दें कि देवकर में एसबीआई के ग्राहक सेवा केन्द्र 2014 से संचालित है। इसका संचालक ओम प्रकाश ताम्रकार है। यह सेंटर साजा स्थित एसबीआई से संबद्ध है। बाद में उन्होंने अपने भाई मुकेश और बहन पूजा ताम्रकार के अलग-अलग दो आईडी लिया। इन्ही तीन आइडियों से एसबीआई के 8 हजार से ज्यादा लोगों का खाता खोला गया है।

यह भी पढ़ें: ग्राहक सेवा केन्द्र में बड़ी धांधली,पासबुक में एंट्री दिखाकर पार कर दिए ग्राहकाें की जमा पूंजी

ग्राहक सेवा केन्द्र में फर्जीवाड़ा: फिक्स डिपाजिट के पैसे डकार गए संचालक

पीड़ितों की मानें तो आरोपियों ने कई लोगों के साथ धोखाधड़ी की है। धोखाधड़ी का यह आंकड़ा करोड़ से भी ज्यादा हो सकता है। वहीं पुलिस प्रशासन का कहना है कि जांच चल रही है। प्रेस विज्ञप्ति जारी कर लोगों से आवेदन मंगाए गए हैं। ताकि गड़बड़ी की वास्तविक स्थिति पता लगाया जा सके।

लोगों की मानें तो यहां ज्यादातर किसान और जनधन योजना के हितग्राहियों के खाते हैं। इसके अलावा , नौकरीपेशा, व्यापारी और छात्र-छात्राओं के भी खाते हैं। जो देवकर के अलावा आसपास के गांव डेहरी, बचेड़ी, नवकेशा, सहसपुर, लुक बुंदेली, जामगांव, खुरुसबोड़, अकलवारा, हरडुवा, कांचरी, बुड़ेरा,राखी, जोबा, खपरी, भोजेपारा, बासीन के रहने वाले हैं। इनके साथ कई तरह से धोखाधड़ी की है।

यह भी पढ़ें :अपनी गलती छात्र पर थोप रहा था विवि, न्यायालय के आदेश पर एग्जाम में बैठने की दी अनुमति

105 घंटे बाद बोरवेल के गडढे से बाहर आया राहुल, ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ले जाया जाएगा बिलासपुर

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!