Homeराजनीतिगंगरेल के रिजॉर्ट में भाजपा के कोर ग्रुप की बैठक, बदले जा...

गंगरेल के रिजॉर्ट में भाजपा के कोर ग्रुप की बैठक, बदले जा सकते हैं 22 जिलाें के अध्यक्ष

धमतरी गंगरेल रिजॉर्ट में भाजपा संगठन के कोर ग्रुप के नेताओं की गुप्त बैठक
आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार को घेरने बना रहे हैं रणनीति
संगठन महामंत्री अजय जमवाल पार्टी के शीर्ष नेताओं से कर रहे हैं चर्चा

 

धमतरी.भारतीय जनता पार्टी (BJP)के कोर ग्रुप के नेताओं की गंगरेल रिजॉर्ट में बैठक चल रही है। जहां राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जमवाल, प्रदेश संगठन से प्रभारी नितिन नबीन प्रदेश के शीर्ष नेताओं के साथ आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी और जिला संगठन को लेकर चर्चा कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि यह बैठक आगामी विधानसभा चुनाव को अहम है।

 

बैठक में पांडेय, अग्रवाल और मूणत को नहीं बुलाया

सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में नेताओं को आमंत्रण देकर बुलाया गया है। बैठक में कोर ग्रुप के अलावा डॉ रमन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद अरूण साव समेत टॉप के 25 स्थानीय नेताओं को बुलाया गया है। पूर्व मंत्री राजेश मूणत, अमर अग्रवाल और प्रेम प्रकाश पांडे को नहीं बुलाया गया। जबकि केदार कश्यप, गौरी शंकर अग्रवाल, विक्रम उसेंडी बैठक में आमंत्रित हैं।

बैठक में भाजपा आने वाले चुनाव में जातिगत समीकरणों और क्षेत्र के समीकरणों पर भी मंथन कर रही है। विकास मरकाम, विष्णुदेव साय, पुन्नूलाल मोहले, शालिनी राजपूत, संतोष पांडे, विजय शर्मा, ओपी शर्मा, किरण देव, नवीन मार्कंडेय, भरत लाल वर्मा, बृजमोहन अग्रवाल, रामविचार नेताम जैसे नेताओं से रायपुर आए संगठन के नेता एक-एक कर पार्टी की आगामी गतिविधियों को लेकर बातचीत कर रहे हैं।

पिछले कुछ महीने से क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जमवाल छत्तीसगढ़ भाजपा में बड़े बदलाव करने के लिए चर्चा में आए । प्रदेश अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष जैसे चेहरों को बदला गया। प्रदेश महामंत्री, मीडिया विभाग, भाजयुमो जैसे घटकों में भी नए चेहरों को जिम्मेदारी दी गई। अब इस बैठक के बाद भी प्रदेश भाजपा में बड़ा बदलाव होने जा रहा है।

दरअसल जल्द ही प्रदेश के लगभग 22 जिलों में भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष बदल दिए जाएंगे । नए चेहरों को मौका दिया जाएगा । इसका ऐलान भी जल्द किया जाएगा। जिलाध्यक्ष बदलने वाले जिलों में रायपुर भी शामिल है। मौजूदा अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी की जगह मूणत खेमे से आने वाले प्रफुल्ल विश्वकर्मा, ओंकार बैस जैसे नेताओं को मौका दिए जाने की चर्चा है।

भारतीय जनता पार्टी की तरफ से आमतौर इस तरह की बड़ी बैठकों की जानकारी सार्वजनिक की जाती है। सोच-समझकर रायपुर से बाहर बैठक की गई। जिनमें प्रदेश के टॉप लीडर्स के अलावा बाहर से आए संगठन के नेता हैं। इस बैठक को लेकर किसी भी तरह की जानकारी आधिकारिक तौर पर नहीं दी गई है। यहां तक की बैठक की तस्वीरें भी लेने से मीडिया को मनाही है। पार्टी के बड़े नेता इस बैठक को सामान्य बैठक बता रहे हैं।

गोपनीय बैठक पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा अब प्रतिबंधित संगठनों की तरह चोरी छिपे गोपनीय बैठक क्यों कर रही है। प्रदेश भाजपा को जनता को बताना चाहिए कि गंगरेल बांध के रिजॉर्ट में चल रही गोपनीय बैठक का एजेंडा क्या है। कहीं भाजपा प्रदेश की शांत धरा को अशांत करने के लिए कोई षड्यंत्र तो नहीं बनाने वाली ।

इन मुद्दों पर चर्चा
गंगरेल रिजॉर्ट में हो रही बैठक में शराबबंदी, धर्मांतरण, आदिवासी आरक्षण, बिगड़ती कानून व्यवस्था, रोजगार जैसे मुद्दों पर चर्चा जारी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक इन्हीं मुद्दों पर आगामी चुनाव में भाजपा कांग्रेस को घेरने का काम करेगी। बहुत मुमकिन है कि इस बैठक में आए नेताओं को अलग-अलग मुद्दों और कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाने की जिम्मेदारी भी दी जाएगी। ताकि आने वाले चुनाव में भाजपा को इसका फायदा मिल सके।

यह भी पढ़ें: बेहतर और सभ्य समाज के लिए रावण रूपी बुराई को समूल नष्ट करना होगा-राज्यपाल

स्टेट विजिलेंस टीम की बड़ी कार्रवाई,रिश्वतखोरी के मामले में एआइजी गिरफ्तार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!