HomeAdministrationकस्टम मिलिंग में लापरवाही बरतने वाले मिलर ब्लैक लिस्टेड

कस्टम मिलिंग में लापरवाही बरतने वाले मिलर ब्लैक लिस्टेड

न्यूज डेस्क @ News-36. कस्टम मिलिंग में लापरवाही बरतने वाले मिलर के खिलाफ ने कड़ी कार्रवाई की गई। आदेश के अनुसार कार्य नहीं करने पर कलेक्टर रजत बंसल ने श्री मेसर्स आर.बी. राइस इण्डस्ट्रीज बालेंगा को काली सूची में डाल दिया है।


खाद्य नियंत्रक अजय यादव ने बताया कि मेसर्स आर.बी. राईस इण्डस्ट्रीज बालेंगा के प्रोप्राइटर, संचालक मोहम्मद आसिफ एवं मोहम्मद एजाज है। फ र्म की मिलिंग क्षमता 4 टन प्रति घंटा है। इस प्रकार 0.6 माह में उक्त फ र्म के द्वारा 96 हजार क्विंटल धान का कस्टम मिलिंग किया जा सकता था, परंतु उक्त फ र्म के द्वारा वर्तमान में केवल 64 हजार क्विंटल का अनुबंध कराया गया है, एवं अनुबंध के विरूद्ध केवल 15 हजार 751 क्विंटल धान का उठाव किया गया है। जो कि मिलिंग क्षमता का मात्र 16 प्रतिशत है। उक्त फ र्म के द्वारा अंतिम बार 11 जून 2021 को छोटेदेवड़ा से डीओ के माध्यम से धान उठाव किया गया था। विगत 1 माह से उक्त फ र्म के द्वारा धान का उठाव नहीं किया। इससे स्पष्ट हो गया था कि उक्त फर्म के द्वारा कस्टम मिलिंग के कार्य में रूचि नहीं लेकर घोर लापरवाही की गई है।


बता दें कि बस्तर जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के अन्तर्गत 1 लाख 42 हजार 633 मैट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। इसके अतिरिक्त जिले के संग्रहण केन्द्रों में कुल 1 लाख 24 हजार 232 मैट्रिक टन धान की आवक हुई है। खरीदे गए धान व संग्रहण केन्द्र में भंडारित सम्पूर्ण धान का निराकरण जिले के पंजीकृत 27 राईस मिलरों के द्वारा कस्टम मिलिंग के माध्यम से किया जा रहा है। जिले के कुछ मिलरों के द्वारा अपने अपने मिलिंग क्षमता के अनुरूप कार्य नहीं किया जा रहा है। तथा बार-बार निर्देशित करने के वाबजूद उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना की जा रही है। इसी सिलसिले में विभाग के द्वारा बालेंगा स्थित आर.बी राईस इण्डस्ट्रीज की जांच की गई।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!