Homeदेश10 दिन बाद होगा ब्रिटिश की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार

10 दिन बाद होगा ब्रिटिश की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार

न्यूज डेस्क.स्कॉटलैंड के बाल्मोरल में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद ऑपरेशन यूनिकॉर्न को शुरू कर दिया गया है। ब्रिटेन के अधिकारियों ने रानी की मृत्यु और अंतिम संस्कार के बीच पहले 10 दिनों के दौरान घटनाओं का प्रबंधन करने के लिए ऑपरेशन लंदन ब्रिज तैयार किया था। स्कॉटलैंड में रानी की मृत्यु के मामले में उन्होंने ऑपरेशन यूनिकॉर्न के बारे में सोचा था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह पहले से ही तय था कि अगर स्कॉटलैंड में महारानी का निधन होता है तो ऑपरेशन का नाम स्कॉटलैंड के राष्ट्रीय पशु के नाम पर रखा जाएगा। इसके तहत ऑपरेशन के कुछ हिस्सों को पहले ही सक्रिय कर दिया गया है। ऑपरेशन लंदन ब्रिज’ के हिस्से के रूप में बीबीसी के एंकर ने काल कपड़े पहनकर समाचार पढ़ा। इस बीच, डाउनिंग स्ट्रीट पर राष्ट्रीय ध्वज को पहले ही आधा झुका दिया गया है और राजनेता शोक प्रस्ताव और राजकीय अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे हैं। शाही परिवार पहले से ही बाल्मोरल में है और राजा चार्ल्स के अंतिम संस्कार से पहले के दिनों में देश के दौरे पर जाने की संभावना है।

10 दिन बाद अंतिम संस्कार
10 दिन बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। गुरुवार को “डी-डे” घोषित कर दिया गया है। अंतिम संस्कार के लिए आने वाले प्रत्येक दिन को उनकी मृत्यु के दसवें दिन तक “डी + 1,” “डी + 2” के रूप में संदर्भित किया जाएगा। एक आधिकारिक ज्ञापन के अनुसार, रानी की मृत्यु का संदेश देने के लिए कोड “लंदन ब्रिज डाउन है” जारी किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भीड़ और यात्रा के दौरान अराजकता को प्रबंधित करने के लिए एक विशाल सुरक्षा अभियान का अनुसरण किया जाएगा।

वेस्टमिंस्टर एब्बे में होगा महारानी का अंतिम संस्कार 

महारानी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ वेस्टमिंस्टर एब्बे में होगा और विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में एक कमिटमेंट सर्विस होगी। इसके बाद, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को महल के किंग जॉर्ज VI मेमोरियल चैपल में दफनाया जाएगा। रानी की मृत्यु के दस दिन बाद, ब्रिटेन के नवनियुक्त प्रधानमंत्री लिज ट्रस बयान देने वाले सरकार के पहली सदस्य होंगी। पीएम और सरकार के अन्य सदस्यों के बयान के अलावा सभी सैल्यूटिंग स्टेशनों पर तोपों की सलामी की व्यवस्था की जाएगी। इसके बाद, लिज ट्रस नए राजा के साथ जनता के लिए एक जनसभा का आयोजन करेंगी और किंग चार्ल्स देश को संबोधित करेंगे।

आगे राष्ट्रगान में होगा संशोधन
नए राजा की घोषणा के बाद यूनाइटेड किंगडम के राष्ट्रगान में भी संशोधन होगा। ताकि अगले ब्रिटिश सिंहासन को शामिल किया जा सके। वहीं ब्रिटेन के नोटों और सिक्कों का पूरा स्टॉक रानी की छवियों के साथ धीरे-धीरे चार्ल्स के द्वारा प्रतिस्थापित किया जाएगा।

प्रिंस चार्ल्स किंग चार्ल्स तृतीय के नाम से जाने जाएंगे

Inter National
प्रिंस चार्ल्स किंग चार्ल्स तृतीय महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के साथ

रानी की मृत्यु के तुरंत बाद सिंहासन बिना किसी समारोह के प्रिंस ऑफ वेल्स चार्ल्स (73) के पास चला गया। प्रिंस चार्ल्स किंग चार्ल्स तृतीय के नाम से जाने जाएंगे। उनके पास फिलिप, आर्थर या जॉर्ज नाम चुनने का विकल्प भी था। उन्हें अपने पिता की उपाधि ड्यूक ऑफ कॉर्नवाल विरासत में मिली है।

चार्ल्स की पत्नी क्वीन कंसोर्ट कही जाएंगी

उनकी पत्नी कैमिला को डचेस ऑफ कॉर्नवाल के नाम से जाना जाएगा। चार्ल्स की पत्नी क्वीन कंसोर्ट कही जाएंगी। पहले 24 घंटों में चार्ल्स को लंदन के सेंट जेम्स पैलेस में प्रिवी काउंसिल के सामने आधिकारिक तौर पर राजा घोषित किया जाएगा। प्रिवी काउंसिल में वरिष्ठ सांसदों (पुराने व वर्तमान) का एक समूह, वरिष्ठ सिविल सेवकों, राष्ट्रमंडल उच्चायुक्तों और लंदन के लॉर्ड मेयर शामिल होते हैं।

राजा की पहली घोषणा
प्रिवी काउंसिल फिर से एक दिन बाद बैठेगी। राजा भी प्रिवी काउंसिल की बैठक में भाग लेंगे। फिर नए राजा चर्च ऑफ स्कॉटलैंड को संरक्षित करने की शपथ लेंगे। चार्ल्स को नया राजा घोषित करने के लिए एक सार्वजनिक घोषणा की जाएगी। इसके बाद हाइड पार्क, लंदन के टावर और नौसेना के जहाजों से तोपों की सलामी दी जाएगी। वहीं एडिनबर्ग, कार्डिफ और बेलफास्ट में चार्ल्स को राजा बनाए जाने की घोषणा पढ़ी जाएगी।

औपचारिक रूप से ताज
अंतिम चरण में औपचारिक रूप से चार्ल्स को ताज पहनाया जाएगा। वेस्टमिंस्टर एबे में 900 वर्षों से ताजपोशी हो रही है। पहली बार विलियम द कॉन्करर को वहां ताज पहनाया गया था, चार्ल्स 40वें होंगे। कैंटरबरी के आर्कबिशप सेंट एडवर्ड्स क्राउन को चार्ल्स के सिर पर रखेंगे। यह एक ठोस सोने का मुकुट होता है। इसका वजन 2.23 किलो है। संतरे, गुलाब, दालचीनी, कस्तूरी और एम्बरग्रीस के तेलों से अभिषेक किया जाएगा।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!