HomeUncategorizedनजूल अधिकारी के खिलाफ छत्तीसगढ़ राजस्व निरीक्षक संघ ने खोला मोर्चा

नजूल अधिकारी के खिलाफ छत्तीसगढ़ राजस्व निरीक्षक संघ ने खोला मोर्चा

दुर्ग.छत्तीसगढ़ राजस्व निरीक्षक संघ ने नजूल अधिकारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। संघ के पदाधिकारियों ने इस संबंध में 24 जून को कलेक्टर डॉक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे और संभागायुक्त महादेव कावरे से लिखित शिकायत कर नजूल अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस समस्या का निवारण नहीं होने पर राजस्व निरीक्षक संघ सर्वसम्मति से निर्णय लेने के लिए बाध्य होने की जानकारी दी गई है।

संघ ने शिकायत में नजूल अधिकारी प्रियंका वर्मा पर आरोप लगाया है कि वह राजस्व निरीक्षकों के साथ अप्रशासनिक एवं अमर्यादित शब्दों का प्रयोग करते हुए दुर्व्यवहार करती हैं। अनावश्यक रूप से जिले की नजूल शाखा में भय पूर्ण माहौल निर्मित कर रही हैं। उनके व्यवहार के चलते नजूल शाखा में पदस्थ राजस्व निरीक्षक स्वयं को प्रताड़ित महसूस कर रहे हैं। साथ ही अपने पदीय कर्तव्यों का निर्वहन करने में असहजता महसूस कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: अंग्रेजी माध्यम स्कूल में फर्जी तरीके से संविदा स्टाफ भर्ती, 16 कर्मचारी बर्खास्त

ग्राहकों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले संचालकों से पुलिस ने जब्त किया 500 एटीएम ,5 हजार पासबुक और लैपटाप

advt

छत्तीसगढ़ राजस्व निरीक्षक संघ के जिलाध्यक्ष विजय कुमार शर्मा का कहना है कि संघ के पदाधिकारियों ने जब इस मामले में शिकायत की तो वह नजूल शाखा में पदस्थ राजस्व निरीक्षकों से मुलाकात की। मामले की जांच पड़ताल की। समीक्षा करने पर उन्होंने पाया कि नजूल अधिकारी द्वारा नजूल शाखा में लगातार काफी समय से दमनात्मक रवैया अपनाते हुए भयपूर्ण माहौल निर्मित किया गया है।

यह भी पढ़ें: 3 करोड़ की लागत से सिकोला में बनी हाइटेक नर्सरी का मुख्यमंत्री 27 को करेंगे लोकार्पण

प्रदेश का पहला ऑक्सीरिडिंग जोन बनेगा शहीद पार्क भिलाई में, जानिए किस तरह की सुविधाएं होगी इस लाइब्रेरी में

कार्रवाई नहीं तो विरोध 

राजस्व निरीक्षक संघ ने शिकायत पत्र में विरोध प्रदर्शन की बात स्पष्ट रूप से उल्लेख तो नहीं किया है, लेकिन उन्होंने इसकी चेतावनी जरूर दी है। संघ ने पत्र में साफ-साफ लिखा है कि कलेक्टर इस मामले को संज्ञान में लेकर संबंधित नजूल अधिकारी पर कार्रवाई करते हुए कार्य स्थल पर सौहार्द पूर्ण माहौल निर्मित करने का निर्देश दें। यदि इस समस्या का निवारण नहीं होता तो राजस्व निरीक्षक संघ सर्वसम्मति से निर्णय लेने के लिए बाध्य होगा। इसकी पूरी जवाबदारी जिला प्रशासन की होगी।

यह भी पढ़ें: GOVT JOB: नगरीय निकाय क्षेत्र के स्कूलों में 440 पदों पर होगी उर्दू शिक्षकों की भर्ती

स्वामी आत्मानंद स्कूलों में निकली 61 पदों पर भर्ती, जिला शिक्षा विभाग ने मंगाए आवेदन

कुटुम्ब न्यायालय और स्वास्थ्य विभाग के रिक्त पदों पर बंपर भर्ती

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!