Homeराज्यमुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से पराली न जलाने की अपील, मवेशियों के लिए...

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से पराली न जलाने की अपील, मवेशियों के लिए करें दान

  • मुख्यमंत्री ने भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत अर्जुनी में लगाई चौपाल
  • डोंगरगांव में माटीकला, शिल्पकला के लिए ग्लेजिंग यूनिट की स्थापना
  • अर्जुनी में महाविद्यालय खोलने और लाल बहादुर नगर को नगर पंचायत बनाने की घोषणा की

राजनांदगांव.भेंट-मुलाकात अभियान के तहत शनिवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल डोंगरगढ़ विधानसभा के ग्राम अर्जुनी पहुंचे। जहां मुख्यमंत्री ने जन चौपाल में लोगों से मुलाकात की और लोगों की मांग पर अर्जुनी में कॉलेज खोलने की घोषणा की।मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान छत्तीसगढ़ की पुरानी ग्राम्य परंपरा है। आवारा मवेशियों की समस्या से निपटने के लिए गांव-गांव में गौठान बनाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से पैरा (पराली) न जलाने की अपील की।

 

उन्होंने चारा को मवेशियों के लिए इस्तेमाल करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि मवेशियों को चारा मिलेगा तो उनका अच्छा आहार मिलेगा। साथ ही उनसे मिलने वाले गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाकर उसे खेतों में खाद की तरह उपयोग कर सकते हैं। इससे उत्पादन भी बढ़ेगा। फसल के लिए रासायनिक खादों के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है, जैविक खाद से फसल के सेवन से शरीर को कोई नुकसान नहीं है, जो मानवता की सेवा भी है।

 

मुख्यमंत्री ने तुमड़ीबोड़-सूखानाला बैराज सिंचाई परियोजना के लिए प्रशासनिक स्वीकृति, डोंगरगांव में माटीकला, शिल्पकला के लिए ग्लेजिंग यूनिट की स्थापना और डोंगरगांव के सभी वार्डों में गली कांक्रीटीकरण किए जाने, कोटरासरार से मोहभट्टा तक सड़क निर्माण, मचानपार और बुद्धुभदररा में हाईस्कूल भवन निर्माण किए जाने की भी घोषणा की।

Chhattisgarh
मुख्यमंत्री से चर्चा करती हुई महिलाएं

50 क्विवंटल गोबर बेचा

चौपाल में मुख्यमंत्री से ग्राम कोपेडीह (आलीकुटा) की महिला सरिता साहू ने बताया कि अभी तक 50 क्विंटल गोबर बेचा है। इसके एवज़ में एक लाख रुपये मिले। जिसमें घर की ज़रूरतों को पूरा करने के साथ ही एक स्कूटी की ख़रीदी भी की। कुलेश्वरी ने बताया कि उसने 13 हजार रुपये का गोबर बेच चुकी हूं।’ उसने कहा कि कभी सोची नहीं थी गोबर से भी पैसा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तभे सराफा बाजार में अतका भीड़ दिखत हे।

बच्चों का समय पर हीमोग्लोबिन की जांच बहुत जरूरी- डॉ श्रुतिका ताम्रकार यादव

मुख्यमंत्री से ग्राम अमलीडीह की महिला लक्ष्मी वैष्णव ने बुनकर के कार्य के लिए जमीन मांगी तो मुख्यमंत्री बघेल द्वारा जानकारी दी गई कि उनके ग्राम में रीपा (रुरल इंडस्ट्रियल पार्क) के लिए दो करोड़ रुपये दिये गए हैं, जो बनकर तैयार भी हो चुका है। वहां लघु व मध्यम उद्योग संचालित किये जा सकते हैं।

chhattisgarh

मुख्यमंत्री द्वारा राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन किसान मज़दूर न्याय योजना के हितग्राहियों के बारे में पूछा तो सिंगारपुर निवासी श्री परस राम निषाद ने बताया कि बीते वर्ष योजना की पूरा किश्त मिल चुकी है। इस बार भी एक किश्त उनके खाते में आ चुका है। इसके अलावा मुख्यमंत्री से स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल की छात्रा सानिया मेमन ने चर्चा की। इस दौरान जब वह बात करते हुए नर्वस हुई, मुख्यमंत्री ने उनकी हौसला बढ़ाया और निडर होकर बात करने के लिए कहा।

दर्दनाक हादसा: आमने सामने भिड़े बाइक, तीन युवकों ने मौके पर ही तोड़ा दम

सानिया ने बताया कि वह कक्षा 12 वीं की जीव विज्ञान संकाय की छात्रा है और प्रोफ़ेसर बनना चाहती हैं। मुख्यमंत्री के पूछने पर उसने बताया कि इससे पहले वो सीजी पब्लिक स्कूल में पढ़ती थी जहां उसे 20 हजार रूपए देने पड़ते थे। लेकिन आज वह शासन के द्वारा खोले गए स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ रही है और बहुत ही उच्च कोटि की शिक्षा प्राप्त कर रही है और उसके पैसे भी बच रहे हैं। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: हीमोफीलिया से पीड़ित बच्चे का छत्तीसगढ़ सरकार कराएगी इलाज-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री बघेल 14 नवंबर को रखेंगे राजीव भवन की आधारशिला

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव राजधानी में, मुख्य सचिव ने विभागाें की तय की जिम्मेदारी

लाल बहादुर नगर में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल शुरू करने, आलिवारा में हाईस्कूल का हायर सेकंडरी स्कूल में उन्नयन व किसान सुविधा केंद्र, मांगीखुटा जलाशय निर्माण, जमारी डायवर्सन क्रमांक 2 के प्रशासकीय स्वीकृति और ग्राम माटेकसा से पिनकापार वृहद पुल निर्माण की घोषणा की। इस मौके पर उन्होंने विभिन्न विभागीय योजनाओं के 77 हितग्राहियों को मोटराइज्ड सायकल, ट्राय सायकल, पोषण कीट, सिलाई मशीन, गैस सिलेण्डर, बीज किट का वितरण किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!