मुख्यमंत्री बघेल ने लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने खराब सड़कों को मरम्मत जल्द कराने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 6181 किलोमीटर की सड़कों में तत्काल पैचवर्क कराने की जरूरत है। इसे दिसंबर 2022 तक मरम्मत कर लें। सड़क मरम्मत के लिए बजट की कोई कमी नहीं आएंगी। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि, खराब सड़कों की मरम्मत का कलेक्टर स्वयं मॉनिटरिंग करें।

बहाना नहीं चलेगा

मुख्यमंत्री ने सख्त लहजे में हिदायत देते हुए कहा कि, दौरे पर जाऊंगा तो खराब सड़कों की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। सड़क हर हाल में बनना चाहिए। सड़क चाहे किसी भी विभाग की हो, मुझे कोई बहाना नहीं चाहिए। मुख्यमंत्री ने इस विषय पर दुबारा चर्चा नहीं करने की बात की।

Chhattisgarhia Olympics:महिलाएं चढ़ी गेड़ी, रस्साकसी में दिखाया दम

जिसके नाम पर किया था बीमा राशि का कलेम्प वह मिला जिंदा,पति-पत्नी और उसके सहयोगी जेल दाखिल

निगम और लोक निर्माण बनाएं आपसी समन्वय

मुख्यमंत्री ने कहा कि, सड़क निर्माण में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होना चाहिए। सड़क निर्माण की सभी संस्थाओं को आपस में कोआर्डिनेट करने के निर्देश दिए। इस कार्य में कलेक्टर्स नोडल अधिकारी के रूप में काम करेंगे। उन्होंने कहा कि, किसी विभाग को सड़क निर्माण में दिक्कत है तो वो एनओसी दे, जिसके बाद लोक निर्माण विभाग काम करेगा। मुख्यमंत्री ने तल्ख लहजे में कहा कि, सड़कों का निर्माण प्राथमिकता है, कौन सा विभाग निर्माण करता है ये मायने नहीं रखता।

यह भी पढ़ें: Chhattisgarhia Olympics को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह,महापौर ने कबड्‌डी में दिखाया दमखम

फ्लड लाइट से जगमगाया मैदान,खिलाड़ी अब रात में भी कर सकेंगे अभ्यास

बस्तर दशहरा के मुरिया दरबार में मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा