Homeराज्यनेशनल हाइवे पर 9 करोड़ की लागत से निर्मित पुल का मुख्यमंत्री...

नेशनल हाइवे पर 9 करोड़ की लागत से निर्मित पुल का मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण

  • जबलपुर-मंडला-रायपुर मार्ग से अब बारह महीने आवाजाही
  • सकरी नदी पर 9 महीने में बनकर तैयार हो गया शहर का सबसे ऊंचा पुल
  • वर्षों पुरानी मांग पूरी होने पर शहरवासियों ने मुख्यमंत्री का जताया आभार 

कबीरधाम. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भेंट- मुलाकात प्रवास के दौरान सोमवार को कवर्धा में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक(NH-30) 30 के संकरी नदी पर 9 करोड़ 10 लाख की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल का लोकार्पण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पुल जिले में विकास की नई इबारत लिखेगा और संपर्क क्रांति लाएगा।

शहर का सबसे ऊंचा ब्रिज

सकरी नदी पर निर्मित यह पुल शहर का सबसे ऊंचा पुल है। इसके बन जाने के बाद मध्यप्रदेश के जबलपुर, मंडला, रायपुर, मार्ग तथा राज्य के निकटतम जिला मुंगेली, बेमेतरा, बिलासपुर मुख्यालय के लिए बारहमासी संपर्क बना रहेगा। नव निर्मित उच्च स्तरीय पुल के निर्माण होने से बारिश के मौसम में अब मध्यप्रदेश सहित निकटतम जिला मुंगेली, बेमेतरा से संपर्क बना रहेगा। इससे बारह महीने आवागमन की सुविधा मिलेगी।

9 माह में पुल बनकर तैयार

बता दें कि ब्रिटिशकाल में निर्मित लगभग 100 वर्ष पुरानी सकरी नदी का पुल काफी जर्जर हो गया था, जिसमें बरसात के दिनों में बाढ़ आ जाने से आवागमन का संपर्क टूट जाता था। इस नदी में उच्च स्तरीय पुल बनाने की मांग काफी लंबे समय से की जा रही थी। वन मंत्री व कवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर ने जन आकांक्षाओं और कबीरधाम जिले के समुचित विकास को ध्यान में रखते हुए सकरी नदी में उच्च स्तरीय पुल निर्माण की स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री से अनुरोध भी किया था। कैबिनेट मंत्री अकबर के प्रयासों से राज्य शासन द्वारा उच्च स्तरीय पुल निर्माण के लिए 9 करोड़ 10 लाख रूपए की स्वीकृति मिली। श्री अकबर ने उच्च स्तरीय पुल निर्माण के लिए भूमिपूजन भी किया और पुल निर्माण को निर्धारित समय में पूरा करने के लिए स्वयं मॉनिटरिंग भी करते रहे, जिसके परिणाम स्वरूप महज 9 माह में उच्च स्तरीय पुल बनकर तैयार हो गया।

Chhattisgarh
जबलपुर मंडला रोड पर निर्मित पुल

मध्यप्रदेश और रायपुर-मुंगेली-बिलासपुर को जोड़ने वाली उच्च स्तरीय पुल महज 9 महीने में बनकर हुआ है।रायपुर-कवर्धा-जबलपुर राष्ट्रीय राज्यमार्ग क्रमांक 30 के सकरी नदी पर पुलमय पहुँचमार्ग का निर्माण कार्य किया गया है।

90 मीटर लंबा है पुल

पुल की लंबाई 90 मीटर और चौड़ाई 16 मीटर है। कवर्धा शहर के राष्ट्रीय राज्यमार्ग क्रमांक 30 के सकरी नदी पर पूर्व में निर्मित ब्रिटिश कालीन लगभग 100 वर्ष पुराना था जो प्रत्येक वर्ष वर्षा ऋतु में डूब जाता था, जिस वजह से आवागमन अवरूद्ध हो जाता था और शहरवासियों एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के यातायात में परेशानियों को देखते हुए उच्चस्तरीय नए पुल निर्माण के लिए प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई।

 

पुल का निर्माण कार्य 27 जनवरी 2020 को प्रारंभ हुआ और केवल 9 महीने में ही इसे पूरा कर लिया गया। इस पुल के निर्माण में प्रमुख अभियंता से लेकर उपअभियंता तक अनेकों इंजीनियरों की भागीदारी तथा कार्यस्थल पर 15-20 स्कील्ड लेबर एवं 40-50 अनस्किलड लेबर के भागीदारी से यह नवीन पुल बनकर आम जनता की सुविधा के लिए तैयार हुआ है। अब लोगों को आवागमन में सहूलियत होगी।

 

पुल के लोकार्पण अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री टी.एस. सिंहदेव, वन मंत्री मोहम्मद अकबर विधायक पंडरिया  ममता चन्द्राकर सहित नीलकण्ठ चंद्रवंशी, छ ग राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) के सदस्य कन्हैयालाल अग्रवाल  संभागायुक्त दुर्ग महादेव कावरे, कलेक्टर जनमेजय महोबे, नगरपालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा, जिला पंचायत उपाध्यक्ष प्रतिनिधि होरी साहू, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष नीलकंठ साहू, उपाध्यक्ष चोवा राम साहू उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: दुनिया में अनाज की कमी, किसान इस बात को ध्यान में रखकर करें गेंहू की खेती- मुख्यमंत्री बघेल

ईश्वर का अंश हो गया समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव

सु्प्रीम कोर्ट ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग करने वाले याचिकाकर्ता को लगाई फटकार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!