HomeEntertainmentCrimeBig News : रूंगटा कॉलेज एजुकेशन ट्रस्ट के खिलाफ न्यायालय में परिवाद...

Big News : रूंगटा कॉलेज एजुकेशन ट्रस्ट के खिलाफ न्यायालय में परिवाद दायर

भिलाई @ News-36. सामाजिक कार्यकर्ता ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दुर्ग के न्यायालय में धारा 156(3) के तहत रुंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी भिलाई एवं रूंगटा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी रायपुर-संतोष रुंगटा समूह के संचालकों के खिलाफ परिवाद प्रस्तुत किया है।

अंबिकापुर के एक अधिवक्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट डी के सोनी का कहना है कि रुंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी भिलाई एवं रूंगटा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी रायपुर-संतोष रुंगटा समूह के संचालकों ने बैंक के कर्मचारियों से मिलीभगत कर फर्जी दस्तावेज तैयार किया है। फर्जी दस्तावेज के आधार पर आयकर चोरी किया है।

सोनी का कहना है कि, इससे पहले रूंगटा समूह के संचालकों के खिलाफ बैंकिंग धोखाधड़ी और फ र्जी दस्तावेज तैयार करने और आयकर चोरी के संबंध में जामुल थाना में शिकायत की थी, किंतु उस पर कोई जांच नहीं की गई। छत्तीसगढ़ सरकार के समक्ष आवेदन के साथ तत्कालीन पुलिस अधीक्षक को भी जानकारी दी गई थी। यहां पर भी कार्रवाई नहीं होने के कारण संस्था के प्रबंधको संतोष रुंगटा, सौरभ रुंगटा, सोनल रुंगटा और कॉलेज के प्रशासनिक अधिकारियों के विरुद्ध धारा 156(3) के तहत मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दुर्ग के न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत किया गया है।

सोनी का कहना है कि स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय से जन सूचना के अधिकार के तहत जो जानकारी दी गई अनुसार मार्च 2018 में रुंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी भिलाई के कर्मचारियों को दी गई सैलरी शीट ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स शाखा रिसाली ( ब्रांच कोड 100536) की है। इस सैलरी सीट में दर्शाया गया अकाउंट नंबर फ र्जी है। बैलेंस शीट में अंकित बैंक की सील एवं सीनियर मैनेजर के हस्ताक्षर भी फ र्जी है। कर्मचारियों का वेतन 40 फीसदी बढ़ाकर बताया गया जो कि गलत है। उनका कहना है कि कर्मचारियों को कम वेतन देकर दस्तावेज में बढ़ाकर दिखाया जाना कर्मचारियों के साथ शोषण और मान्यता नियमों का उल्लंघन है। एक तरह से इनकम टैक्स की चोरी की गई है। इस पूरे आर्थिक अपराध मामले में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स एवं एचडीएफ सी बैंक के अधिकारियों की मिलीभगत है।

मिलीभगत की आशंका
रुंगटा कॉलेज के प्रबंधक द्वारा उपरोक्त दस्तावेज बैंक के कर्मचारियों से मिलकर तैयार किया गया है। एक दस्तावेज के अनुसार नई दिल्ली से तकनीकी मान्यता प्रदान करने वाली संस्था एआईसीटीई के आरटीआई पत्र क्रमांक ्रढ्ढष्टञ्जश्व/क्र/2019/52401 दिनांक 31/8/2019 से प्राप्त जून-जुलाई 2019 माह में रुंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी भिलाई के कर्मचारियों को दी गई सैलरी सीट है। यह सैलरी सीट एचडीएफ सी बैंक दुर्ग शाखा की है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!