कांग्रेस की महिला पार्षद ने दिया इस्तीफा, अधिकारियों पर लगाए गंभीर आरोप

1991
Advertisement only

धमधा @ News-36. साजा विधानसभा क्षेत्र के नगर पंचायत धमधा में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के बीच चल रही खींचतान आज सतह पर आ गई है। आपसी खींचतान इतना बढ़ गया है कि बात इस्तीफा तक पहुंच गई। प्रशासनिक व्यवस्था से नाराज कांग्रेस की महिला पार्षद ने नगर पंचायत के सीएमओ जेपी बंजारे को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। जिसमें उन्होंने उप अभियंता विनायक गर्ग पर कार्य रोकने का आरोप लगाए हैं।
@ News-36. वार्ड-15 की हैं पार्षद
सरिता यादव वार्ड-15 की पार्षद हैं। दूसरी बार की पार्षद है। उनकी गिनती नगर पंचायत अध्यक्ष सुनीता गुप्ता के चहते पार्षदों में होती है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से नगर पंचायत के प्रशासनिक कामकाज को लेकर उनकी इंजीनियर्स से अनबन चल रही थी। इस बात को उन्होंने अध्यक्ष गुप्ता से शेयर भी किया। साथ ही उन्होंने पार्टी के पदाधिकारियों के माध्यम से स्थानीय विधायक व कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे तक पहुंचाने का प्रयास किया, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। इस वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया है।
काम अधूरा पड़ा है.
पार्षद सरिता का कहना है कि उनके वार्ड के कई कार्य अधूरे पड़े हैं। ढाई साल से 5 लाख का कांजी हाउस का निर्माण अधूरा पड़ा है। टेंडर होने के बावजूद इंजीनियर ने रोड के कार्य का रोक दिया है। गर्मी में पेयजल की समस्या बढ़ गई है, लेकिन टैंकर नहीं मिल रहा है। इसकी अध्यक्ष और सीएमओ को जानकारी दी, लेकिन सुनवाई नहीं। जब वार्ड में जनता के उम्मीदों के मुताबिक काम ही नहीं हो रहा है तो पार्षद रहने का क्या मतलब है। इस वजह से उन्होंने इस्तीफा सौंप दिया है।

वर्जन
कुछ कार्यों को लेकर उन्होंने शिकायत की है, लेकिन कोविड की वजह से कार्य प्रभावित हुए हैं। मनमुटाव वाली कोई बात नहीं है।
विनायक गर्ग, उप अभियंता, नपं, धमधा

वर्जन
इस्तीफा अध्यक्ष को देना रहता है। इस विषय में आप अध्यक्ष से ही बात करें तो सही जानकारी मिल सकती है।
जेपी बंजारे, सीएमओ, नगर पंचायत, धमधा

Previous articleRaid : रेवेन्यू इंटेलिजेंस की टीम ने मोहनी ज्वेलर्स में दबिश, सोना चांदी सहित नकदी बरामद
Next articleलोन मोरोटेरियम दिलवाने राज्य सरकार करें पहल- भट्टाचार्य