Homeस्वास्थ्यपटाखों की वजह से किसी के जीवन में अंधेरा न छा जाए...

पटाखों की वजह से किसी के जीवन में अंधेरा न छा जाए इसलिए डॉ.मिश्र हर साल दीपावली में लगाते हैं नि:शुल्क शिविर

  • डॉ. दिनेश मिश्र ने दीपावली में लगाया 63वां नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर
  • पिछले 31 वर्षों से दीपावली एवं होली में लगाते आ रहे हैं शिविर
  • इस बार पटाखों की वजह से चार जिल से पहुंचे थे दुर्घटनाग्रस्त मरीज

रायपुर.डॉ मिश्र फाउंडेशन ने हर साल की तरह इस साल भी दीपावली त्योहार पर फूल चौक स्थित रायपुर नेत्र चिकित्सालय में दो दिवसीय नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर लगाकर लोगाें का इलाज किया। शिविर में ऐसे लोग पहुंचे थे, जो पटाखों की वजह से दुर्घटनाग्रस्त हुए थे। त्वरित इलाज के लिए पहुंचे थे। ऐसे लोगों को डॉ मिश्र ने नि:शुल्क इलाज कर लोगों के साथ दीपावली का त्योहार मनाया।

रायपुर नेत्र चिकित्सालय के संचालक डॉ. दिनेश मिश्र ने बताया कि दीपावली में रायपुर नेत्र चिकित्सालय में 23 अक्टूबर की शाम से 24 अक्टूबर की रात्रि तक दो दिन शिविर लगाया। जहां पटाखों की वजह से प्रभावित राजधानी रायपुर के अलावा राजनांदगांव ,पाटन, महासमुंद, बालोद जिले के लोग पहुंचे थे। डॉ मिश्र का कहना है कि पटाखों से होने वाली दुर्घटना की वजह से कई बार समय पर इलाज नहीं मिलने की वजह से आंखों की रोशनी चले जाने की आशंका रहती है। इसी बात को ध्यान मे रखते हुए सन 1991 से स्वास्थ्य शिविर की शुरुआत की। ताकि लोगों पटाखे आदि से प्रभावित लोगों का समय पर इलाज हो जाए। डॉ मिश्र का कहना कि आने वाले दिनों में जन सेवा के कार्य को विस्तार करना है। जिसकी प्लानिंग चल रही है।

बाद में अन्य त्योहारों में चिकित्सकों की अनुपलब्धता व मरीजों को होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए होली त्योहार में शिविर लगाने का निर्णय लिया। इस तरह से साल के दोनों बड़े त्योहार में अपने अस्पताल में शिविर लगाकार प्रभावित लोगों का इलाज करते हैं। उन्होंने बताया कि इस बार 63 शिविर था। जिसमें  50 से अधिक लोगों ने लाभ उठाया। वहीं अब तक 3900 लोग शिविर में स्वास्थ्य लाभ ले चुके हैं। जिसमें दीपावली में 2800 और होली में 1100 से अधिक मरीजों का निशुल्क उपचार शामिल है।

यह भी पढ़ें: TTE पर जानलेवा हमला करने वाले युवक गिरफ्तार

बंद करना चाहिए भूत प्रेत वाले टीवी सीरियल, बच्चों व विद्यार्थियों पर पड़ रहा है दुष्प्रभाव- डॉ दिनेश मिश्र

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!