HomeदेशEd Raid: मनी लांड्रिंग मामले में आईएएस और उनकी पत्नी को हिरासत...

Ed Raid: मनी लांड्रिंग मामले में आईएएस और उनकी पत्नी को हिरासत में लिया

रायपुर .प्रवर्तन निदेशालय (ED) की कार्रवाई दूसरे दिन बुधवार को भी जारी है। ईडी की टीम ने मनी लांड्रिंग के मामले में आइएएस अफसर समीर विश्नोई और उनकी पत्नी को हिरासत में लिया है। बजाया जा रहा है कि ईडी की टीम ने सुबह करीब 11 बजे समीर विश्नोई और उनकी पत्नी को अपने साथ लेकर गई है।

इससे पहले प्रदेश के छह शहरों में 16 कारोबारियों और अधिकारियों के ठिकाने पर दबिश दी है। ईडी की टीम ने मंगलवार को रायपुर, दुर्ग-भिलाई, महासमुंद, बिलासपुर, रायगढ़ और कोरबा में एक साथ कार्रवाई की। कोयला कारोबारी, रियल एस्टेट कारोबारी, सीए और सरकारी अधिकारियों के ठिकानों पर जांच जारी है।

 

इन छापों में चार करोड़ नगद बरामद हुआ है। ईडी के सूत्रों ने बताया कि राज्य के खनिज विभाग ने इसी साल जुलाई में कोयला कारोबार सेे जुड़ी कुछ कंपनियों की जांच की थी। अवैध खनन के कुछ मामलों में पुलिस में प्रकरण भी दर्ज कराए गए थे। इसी आधार पर ईडी ने मंगलवार को कार्रवाई शुरू की है।

 

बताया गया है कि मुख्यमंत्री कार्यालय में पदस्थ एक अधिकारी के अलावा प्रदेश के तीन आइएएस अधिकारी रानू साहू, जयप्रकाश मौर्या और समीर बिश्नोई के सरकारी आवास पर टीम पहुंची है। रायगढ़ कलेक्टर रानू साहू के सरकारी आवास को सीआरपीएफ जवानों की मौजूदगी में ईडी की टीम ने कब्जे में ले लिया है। उनके पति और खनिज विभाग के संचालक जयप्रकाश मौर्या और खनिज विभाग के पूर्व संचालक समीर बिश्नोई से भी पूछताछ की जा रही है।

मंगल 16 अक्टूबर से बदलेगा अपना स्थान, परिवर्तन इन राशियों के लिए हाेगा फलदायी

ईडी की टीम ने महासमुंद के पूर्व विधायक अग्नि चंद्राकर, उनके दामाद कोयला कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, एलके तिवारी, नवनीत तिवारी, लक्ष्मी तिवारी, रजनी तिवारी, बादल मक्कड़, सन्नी लूनिया, अजय नायडू के आवास में जांच शुरू की है। रायपुर में देवेंद्र नगर में सीए अजय मालू, कोयला कारोबारी सुनील अग्रवाल, शराब कारोबारी प्रिंस भाटिया की जांच चल रही है। खनिज विभाग के डिप्टी डायरेक्टर शिव शंकर नाग से पूछताछ की गई है।

 

प्रापर्टी में निवेश के दस्तावेज मिले

ईडी के दिल्ली, मुंबई और कोलकाता से आए पांच डिप्टी डायरेक्टर और एक दर्जन से ज्यादा असिस्टेंट डायरेक्टर्स की मौजूदगी में जांच चल रही है। बताया जा रहा है कि दो आइएएस अधिकारियों ने हाल ही में धमतरी के कुरुद में जमीन में निवेश किया है। यह जमीन रायपुर से विशाखापट्टनम भारत माला प्रोजेक्ट के रास्ते में खरीदी गई है। जांच में ईडी की टीम को जमीन के दस्तावेज भी मिले हैं।

यह भी पढ़ें:Surya Grahan 2022: दीपावली के दूसरे दिन सूर्य ग्रहण,जानिए कब तक रहेगा सूतक काल

उच्च प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार, खनिज विभाग के अधिकारी सोमवार को प्रदेश के कोल ब्लाक की नीलामी को लेकर केंद्रीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उसी समय ईडी की टीम उनके घर का पता तलाश रही थी। बाहरी प्रदेश से पहुंचे ईडी अधिकारियों ने सोमवार देर रात तक सभी ठिकानों की खोज पूरी कर ली थी और मंगलवार सुबह छह बजे एक साथ सभी स्थान पर धावा बोला।

यह भी पढ़ेंबाघिन की खाल की तस्करी मामले में पांच पुलिस कर्मियों की सेवा समाप्त

हमारी सरकार लोगों के जेब में पैसा डालने का काम कर रही है-मुख्यमंत्री

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!