Homeस्वास्थ्यसुपेला हॉस्पिटल में बढ़ेगी सुविधाएं, गायनीकोलॉजिस्ट रेडियोलॉजिस्ट एवं एनेस्थेटिक की होगी नियुक्ति

सुपेला हॉस्पिटल में बढ़ेगी सुविधाएं, गायनीकोलॉजिस्ट रेडियोलॉजिस्ट एवं एनेस्थेटिक की होगी नियुक्ति

  • स्वास्थ्य सचिव आर प्रसन्ना ने ओपीडी बढ़ाने के दिए निर्देश
  • हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर जिले के प्रमुख अधिकारियों से की चर्चा

दुर्ग. स्वास्थ्य सचिव आर प्रसन्ना ने आज सीएसएम हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। संचालक स्वास्थ्य भीम सिंह एवं राज्य से अन्य अधिकारियों ने पाटन के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं  लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने जिले में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर जिले के प्रमुख अधिकारियों की एक बैठक भी ली।

बैठक में स्वास्थ्य सचिव ने निर्देश दिया कि महत्वपूर्ण अस्पतालों में जहां ओपीडी की संख्या अधिक रहती है, वहां डीएमएफ आदि मदों से जरूरत के मुताबिक विशेषज्ञ चिकित्सक नियुक्त किए जाएं। उन्होंने कहा कि सुपेला अस्पताल में गाइनेकोलॉजिस्ट, निश्चेतना विशेषज्ञ, रेडियोग्राफर नियुक्त किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने अस्पताल में भी सुविधाओं को अपग्रेड करने निर्देश दिए। पाटन में शिशु रोग विशेषज्ञ नियुक्त करने निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा भी मौजूद थे। उन्होंने जिले में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की जानकारी दी। जिले में आवश्यक संसाधनों के संबंध में सचिव को अवगत भी कराया।

सचिव ने इस बात पर जोर दिया कि अस्पतालों में ओपीडी बढ़नी चाहिए। अस्पतालों में सुविधाओं का तेजी से विकास किया जा रहा है, इसके मुताबिक ओपीडी भी बढ़नी चाहिए ताकि सरकार द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ हर नागरिक उठा सके। इसके लिए स्वास्थ्य केंद्रों की लगातार मॉनिटरिंग भी होती रहनी चाहिए।अस्पतालों में दवा की उपलब्धता एवं अन्य संसाधनों के संबंध में लगातार मॉनिटरिंग होती रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा मोबाइल मेडिकल यूनिट आदि के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधा लोगों को नजदीक तक पहुंचाने की पहल की गई है। यह सुनिश्चित करें कि इसका लाभ अधिकाधिक लोगों को हो सके।

स्वास्थ्य सचिव ने इस मौके पर कहा कि स्वास्थ्य अधोसंरचना से संबंधित सभी एजेंसी अपना निर्माण कार्य समय पर पूरा करें और इसकी लगातार मॉनिटरिंग होती रहे। लैब आदि में रीजेंट्स वगैरह की उपलब्धता भी हमेशा सुनिश्चित करने पर जोर दिया। बैठक में स्वास्थ्य सेवा संचालक भीम सिंह भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य की उपलब्धता और गुणवत्ता हमारी पहली प्राथमिकता है इसके लिए जीवनदीप समिति के माध्यम से एवं डीएमएफ आदि के माध्यम से नियमित रूप से पहल करते रहें ताकि मरीजों को किसी तरह की दिक्कत ना आए। इस दौरान मिशन संचालक एनएचएम संदीप विलास भोस्करन एवं सीजीएमएससी के संचालक अभिजीत सिंह भी मौजूद रहे। इसके अलावा जिला पंचायत सीईओ अश्विनी देवांगन एवं सीएमएचओ डॉ जे पी मेश्राम एवं अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: सोनाबाई रजवार कला गैलरी बना लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र

सरगुजा और बस्तर में खुलेगा संगीत महाविद्यालय

नव गठित जिला सारंगढ़ की दुकानों के बाहर लगा हुआ है..पान, पानी, पा लगी का पोस्टर, क्या आप जानते हैं इसके मायने

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!