Homeराज्यआंगनबाड़ी नहीं पहुंच पाते उनके लिए पांच दिन सुपोषण टिफिन,मंत्री ने इसकी...

आंगनबाड़ी नहीं पहुंच पाते उनके लिए पांच दिन सुपोषण टिफिन,मंत्री ने इसकी सराहना

  • स्थानांतरण नीति के तहत होंगे ट्रांसफर
  • गृहमंत्री व जिला प्रभारी मंत्री ने समीक्षा बैठक में  शासकीय योजनाओं और विकास कार्यों की समीक्ष

कोरिया.लोक निर्माण, गृह, जेल, पर्यटन एवं कोरिया जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बुधवार को जिला प्रवास के दौरान कलेक्टोरेट सभाकक्ष में शासकीय योजनाओं और विकास कार्यों की समीक्षा की। शासन की नई स्थानांतरण नीति पर चर्चा की। उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी प्रशासनिक अधिकारियों को स्थानांतरण नीति के नियमों की विस्तार से जानकारी दी और नियम अनुसार जिला स्तरीय स्थानांतरण के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।

बैठक में मंत्री ने एनीमिया मुक्त जिला बनाने के उद्देश्य से खरीफ सीजन के दौरान आंगनबाड़ी केंद्र तक नहीं पहुंचने वाली महिलाओं को कार्यकर्ता और सहायिका के द्वारा उनके कार्य क्षेत्र तक पहुंचकर सप्ताह में पांच दिन गर्म और सुपोषण टिफिन पहुंचाया जा रहा है। इसकी सराहना की। अधिकारियों ने बताया कि जिलें में बीते 30 दिन में 300 से अधिक महिलाओं को 16 हजार टिफिन एनिमिक महिलाओं को पहुंचाया जा चुका है। बीते एक महीने में एनिमिक महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार भी देखने को मिल रहा है।

बता दें कि सरकार ने कुपोषण के खिलाफ मुख्यमंत्री सुपोषण योजना शुरू की है। इसी योजना के तहत कोरिया जिले के आंगनबाड़ी केन्द्र के संचालकों ने उन महिलाओं को उनके कार्य स्थल पर ही सुपोषण टिफिन भेजने की पहल शुरू की गई है। ताकि समय पर गर्म और पौष्टिक आहार गर्भवती, शिशुमति समेत अन्य एनिमिक महिलाओं को मिल सके।

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत जिले में विभिन्न जिले में गर्भवती व शिशुवती एनीमिक महिलाओं को चिह्नांकित कर पास के आंगनबाड़ी केंद्रों में सुपोषण टिफिन के रूप में गरम भोजन दिया जा रहा है, इसके साथ ही खेती-बाड़ी के सीजन में आंगनबाड़ी केंद्रों तक नहीं पहुंचने वाली महिलाओं को खेतों में जाकर कार्यकर्ता और सहायिका सुपोषण टिफिन पहुंचा रहे हैं। गंभीर रूप से एनिमिक महिलाओं को सभी महिलाओं को आयरन की टेबलेट और जरूरत पड़ने पर आयरन सुक्राेज का डोज देने के साथ हीमोग्लोबिन की जांच भी कराई जा रही है।

नई स्थानांतरण नीति

प्रभारी मंत्री साहू ने कहा कि सभी प्रस्ताव नई स्थानांतरण नीति में उल्लेखित नियमों के आधार पर होने चाहिए। वरीयता क्रम एवं ट्रांसफर प्रतिशत के संबंध में भी उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर श्री शर्मा ने बैठक में विभागीय योजनाओं और कार्यों पर जिले की प्रगति की जानकारी प्रस्तुत की। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत सुपोषण टिफिन की पहल की जानकारी दी जिसे प्रभारी मंत्री ने भी जाना और सराहा। इसी तरह कलेक्टर ने कृष्ण कुंज, जिले में अल्प व अति वृष्टि की स्थिति, गोधन न्याय योजना, गिरदावरी, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर योजना, सी मार्ट, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना, शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, धन्वंतरि मेडिकल स्टोर, आश्रम-छात्रावासों के शत-प्रतिशत निरीक्षण की जानकारी दी।

बैठक में संसदीय सचिव एवं बैकुंठपुर विधायक अम्बिका सिंहदेव, सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो, छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन के संचालक एवं मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ विनय जायसवाल, महापौर चिरमिरी कंचन जायसवाल, कलेक्टर कुलदीप शर्मा, एसपी त्रिलोक बंसल, ओएसडी पीएस ध्रुव, वनमंडल अधिकारी बैकुंठपुर एम्यूतेम्सु आओ, वनमंडल अधिकारी मनेन्द्रगढ़ लोकनाथ पटेल एवं सीईओ जिला पंचायत कुणाल दुदावत समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:Breaking: व्यापारी हुए लूट के शिकार,आराेपी रुपयों से भरा बैग छीनकर हुआ फरार

आदिवासी दिव्यांग युवती को सेवानिवृत्त आईएएस आफिसर की पत्नी की हैवानियत आया सामने, 8 साल तक कमरे में दिव्यांग ने खोले राज

सीएम बघेल 2 सितंबर को करेंगे मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी जिले का शुभारंभ

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!