Homeराज्यवजन त्योहार 7 से , किशोरियों के स्वास्थ्य जांच को लेकर कलेक्टर...

वजन त्योहार 7 से , किशोरियों के स्वास्थ्य जांच को लेकर कलेक्टर ने दिए ये निर्देश

बेमेतरा @ news-36. महिला एवं बाल विकास विभाग समय-समय पर अभियान चलाकर बच्चों के साथ किशोरियों में कुपोषण स्तर को दूर करने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में विभाग ने 7 से 16 जुलाई तक वजन त्योहार के माध्यम से 5 पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों में पोषण स्तर के आंकलन करने का निर्णय लिया है। साथ ही किशोरी बालिकाओं का हीमोग्लोबिन टेस्ट कराने के साथ ही उनका बीएमआई भी ज्ञात किया जाएगा।

एनीमिया नियंत्रण के लिए जरूरी है एचबी टेस्ट
इसके लिए आंगनवाड़ी केन्द्र में आने वाली 11 से 18 वर्ष की सभी किशोरी बालिकाओं को इस अभियान में शामिल किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय बनाकर किशोरियों का हिमोग्लोबिन टेस्ट कराया जाएगा। इससे किशोरियों में एनीमिया का स्तर पता कर उसके नियंत्रण में मदद मिलेगी।

बच्चा वजन लेने से छूट जाए तो..
बेमेतरा कलेक्टर ने अधिकारियों को वजन त्यौहार में जनप्रतिनिधियों के साथ समुदाय का भी सहयोग लेने के निर्देश दिए हैं। कोविड-19 के सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए वजन त्यौहार का आयोजन करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि, वजन त्यौहार में कोई बच्चा वजन लेने से छूट जायेगा तो उक्त अवधि में पल्स पोलियो की तर्ज पर घर-घर जाकर बच्चों का वजन लिया जायेगा और पर्यवेक्षक द्वारा इसका पर्यवेक्षण किया जायेगा।वजन त्यौहार के अवसर पर किसी घर के बच्चे किसी अन्यत्र रिश्तेदार के यहां गए हो तो ये बच्चे जिस भी गांव में गए हो उस गांव में इन बच्चों का वजन किया जायेगा। प्रत्येक ग्राम पंचायत को और नगरीय क्षेत्रों हेतु वार्ड को वजन उत्सव में सक्रिय भागीदारी के लिए प्रेरित किया जाएगा।

कुपोषण के खिलाफ कार्ययोजना
बता दें कि महिला एवं बाल विकास विभाग, वजन त्यौहार निर्धारित तिथि में बच्चों का वजन लेकर पोषण स्तर पता लगाया जाता है। उसे ऑनलाईन सॉफ्टवेयर में प्रत्येक बच्चे का डाटा एंट्री राज्य में कुपोषित बच्चों की स्थिति का डाटाबेस तैयार किया जाता है। इस आधार पर कुपोषण कम करने की कार्ययोजना तैयार की जाती है। जहां कुपोषण ज्यादा है, उसे सुपोषित करने के लिए विशेष अभियान चलाकर सुपोषण स्तर पर लाया जाता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!