Homeधर्म-समाजगोंडवाना समाज ने ज्योतिबा फूले एवं माता सावित्री बाई को किया याद

गोंडवाना समाज ने ज्योतिबा फूले एवं माता सावित्री बाई को किया याद

भिलाई. गोंडवाना समाज ने ज्योतिबा फूले एवं माता सावित्री बाई फूले व फातिमा शेख को याद किया। समाज में मरोदा सेक्टर में कार्यक्रम आयोजित कर देश की महान महिला विभूतियों को श्रद्धाजंलि दी। बालिका शिक्षा पर जोर देने वाले विभूतियों के संघर्ष को सार्वजनिक मंचों पर साझा करने का संकल्प लिया।

गोंडवाना गोंड़ महासभा के अध्यक्ष चंद्रभान सिंह ठाकुर ने कहा कि,आज ही के दिन 3 जुलाई 1851 को पूणे में फूले दम्पत्ति ने लड़कियों की शिक्षा के लिए दूसरा विद्यालय खोला। जिसमें पहले ही दिन 8 लड़कियों ने दाखिला लिया। उसके माध्यम से उन्होंने बालिकाओं की शिक्षा विस्तार दिया।

चंद्रभान ने कहा कि शुरुआत में बालिकाओं की शिक्षा को लेकर माता सावित्री बाई फूले को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा, लेकिन वह झुकी नहीं। काफी विरोध के बावजूद बालिकाओं की शिक्षा पर जोर दिया। उनके त्याग बलिदान समर्पण से शिक्षा का विस्तार हुआ व महिलाओं का उत्थान हुआ। देश के ऐसे महान विभूतियों को हमेशा याद करना चाहिए एवं उनके कठिन संघर्ष जीवनी को सामाजिक मंचो से बताया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ेंभक्तों को श्रीत्रयम्बकेश्वर महादेव का इस स्वरूप में पहली बार हुआ दर्शन,देखें अदभूत एवं प्राकृतिक दृश्य का वीडियो

श्रद्धालु घर बैठे करें बाबा बर्फानी के दर्शन,ऑनलाइन मंगवा सकेंगे प्रसाद, बुकिंग के लिए ये है प्रोसेस

चंद्रकला तारम ने कहा ऐसे आदर्श महान जननायकों से हम घरेलू महिलाए आज परिचित हो पा रही हैं। हमें वाकई फूले दम्पत्ति के त्याग बलिदान को आत्मसात करने की जरूरत है। हमें महिलाओं को बताना होगा हम महिलाओं के आत्मसम्मान व शिक्षा के लिए एवं सामाजिक उत्थान के लिए फूले परिवार ने पूरा जीवन समर्पित कर दिया।सभा में अषलेश मरावी,समयलाल मरावी,लोकेश्वरी ध्रुव, भुनेश्वरी उइके, चंद्रकला तारम ,चंद्रभान सिंह ठाकुर, विकी मरावी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: ब्रह्मलीन हो गए निरंकारी, दर्शन यात्रा में शहर के सभी वर्गों के लोग हुए शामिल

शहीद वीर नारायण सिंह नगर में बनेगा डोम शेड, मांग पूरी होने वार्डवासियों ने विधायक का जताया आभार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!