Homeराज्यसुकुन भरी खबर: बोरवेल में गिरा राहुल खुद बाल्टी में पानी भरने...

सुकुन भरी खबर: बोरवेल में गिरा राहुल खुद बाल्टी में पानी भरने में किया मदद,

जांजगीर-चांपा कलेक्टर ने वीडियो कॉल पर कराई बात, रेस्क्यू की प्रगति और राहुल के स्वास्थ्य की दी जानकारी

रायपुर.छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बोरवेल में फंसे 11साल के राहुल के परिजनों से वीडियो कॉल पर बात की। मुख्यमंत्री ने राहुल के फूफा बजरंग साहू की उपस्थिति में दादी श्याम बाई साहू से बात की। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा विकासखंड के गांव पिहरीद में बोरवेल में फंसे बालक राहुल साहू की दादी श्याम बाई से वीडियो कॉल पर की बात। मुख्यमंत्री ने दादी से कहा-‘तोर नाती ला निकाल लेबो…।

वीडियो कॉल में रेस्क्यू की गतिविधियों की ली जानकारी

मुख्यमंत्री ने पत्थलगांव के दौरे पर हैं। वहीं से उन्होंने कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला से वीडियो कॉल किया। कलेक्टर ने राहुल के परिजनों से बात कराई। मुख्यमंत्री ने राहुल के परिजनों से कहा कि, धीरज बनाए रखें, राहुल को सुरक्षित वापस निकालने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। पूरा विश्वास है कि राहुल सुरक्षित वापस आएगा।

कलेक्टर ने मुख्यमंत्री को वीडियो कॉल में बोरवेल में हो रहे रेस्कयू, खुदाई की जानकारी दी। वहीं गुजरात के अमरेली से आए रोबोट संचालक महेश अहीर ने राहत और बचाव के संबंध में अपनी बातें रखी। उन्होंने बताया कि अभी तक कई डेमो कर चुके है। इसके अलावा 3 रेस्कयू भी किया है। इनके साथ इनके पिताजी ऊका भाई अहीर भी साथ आये है।

राहुल ने बाल्टी में पानी भरने में की मदद

मुख्यमंत्री ने भी रोबोट और इसके संचालन की प्रक्रिया वीडियो कॉल से देखी। विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत और प्रभारी मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने भी पिहरीद के घटनाक्रम की जानकारी ली और अधिकारियों को रोबोट के माध्यम से रेस्क्यू करने और अन्य विकल्प भी रेस्क्यू के लिए तैयार रहने की बात कही। मुख्यमंत्री ने रोबोट के संचालक महेश अहीर और उनके पिता से भी बात की। रोबोट के संचालक महेश अहीर ने मुख्यमंत्री को बताया कि राहुल ने खुद बाल्टी से पानी भरने में मदद कर रहा है।

chhattisgarh
पाइप लाइन से ऑक्सीजन दिया जा रहा है।

33 घंटे से चल रहा है रेसक्यू ऑपरेशन

बता दें मालखरौदा विकासखंड के गांव पिहरीद में 11 वर्षीय बालक राहुल साहू को बोरवेल के गडढे में 60 फीट की गहराई में फंसा हुआ है। उसे निकालने के लिए पिछले 33 घंटे से रेसक्यू ऑपरेशन चल रहा है।इस ऑपरेशन में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ के साथ ही सेना के जवान लगे हुए हैं। इसके अलावा राज्य के पांच आईएएस, दो आईपीएस समेत विभिन्न विभागों के 500 से ज्यादा अफसर और कर्मचारी राहुल को बचाने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं।

यह भी पढ़ें: बोरवेल में गिरे राहुल के लिए मुख्यमंत्री बेहद चिंतित,परिजनों से वीडियो कॉल पर बात की

यदि किसी व्यक्ति का काम न हो, यह स्वीकार्य नहीं- मुख्यमंत्री बघेल

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!