Homeधर्म-समाजहरेली का पर्व हमारी गौरवशाली छत्तीसगढ़ी संस्कृति और विरासत का हिस्सा है...

हरेली का पर्व हमारी गौरवशाली छत्तीसगढ़ी संस्कृति और विरासत का हिस्सा है – मंत्री ताम्रध्वज साहू

रायपुर.प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेशवासियों को हरेली तिहार के अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। आज हरेली के अवसर पर जारी अपने शुभकामना संदेश में श्री साहू ने कहा है कि परंपरागत रूप से खेती-किसानी, हरियाली और पर्यायवरण को समर्पित हरेली त्यौहार छत्तीसगढ़ के लोगों के प्रकृति के प्रति प्रेम और समर्पण को दर्शाता है।

छत्तीसगढ़ के गांव-गांव में हरेली का पर्व बड़े उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। हरेली तिहार पर हम अच्छी फसल की कामना के साथ-साथ कृषि के काम आने वाले सभी तरह के उपकरणों की साफ-सफाई और पूजा करते है। हरेली का पर्व हमारी गौरवशाली छत्तीसगढ़ी संस्कृति और विरासत का हिस्सा है।

इस साल हरेली पर्व से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के यशस्वी नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार गौमूत्र खरीदी की शुरुआत की है। अब गांव के पशुपालक 4 रुपए प्रति लीटर में गौमूत्र विक्रय कर सकेंगे। योजना के पहले चरण में प्रदेश भर की 56 गौठानों में यह खरीदी शुरू होगी।

यह भी पढ़ें: छग के प्रथम तिहार हरेली को लेकर मुख्यमंत्री निवास में जबरदस्त उत्साह

देश की अपनी तरह की पहली और अनूठी योजना गौमूत्र की खरीदी शुरू,सीएम बघेल बनें पहले विक्रेता

कांग्रेस विधायक लक्ष्मी ध्रुव के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!