Homeराज्यबड़ी खबर:स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव के भतीजे की मौत,रेलवे ट्रैक...

बड़ी खबर:स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव के भतीजे की मौत,रेलवे ट्रैक के किनारे मिला शव

रायपुर.छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के भतीजे वीरभद्र सिंहदेव उर्फ सचिन सिंह का शव बिलासपुर जिले के बेलगहना और सलका रेलवे स्टेशन के पास झाड़ियों में मिला है। बताया जा रहा है कि वीरभद्र सिंह दुर्ग-अंबिकापुर ट्रेन से रायपुर से घर जा रहे थे, लेकिन शुक्रवार की सुबह जब वह अंबिकापुर रेलवे स्टेशन नहीं पहुंचे तो परिजनों ने खोजबीन शुरू किया।

घर नहीं पहुचे तो परिजन हुए परेशान

इसी बीच साेशल मीडिया में एक फोटो के साथ युवक मौत की खबर वायरल हुई। बेलगहना और सलका रेलवे स्टेशन के बीच ट्रैक के पास अज्ञात लाश देखे जाने की सूचना पुलिस को दी गई। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में लिया। पुलिस ने मृतक की पहचान सरगुजा जिले के लुंड्रा जनपद उपाध्यक्ष और धौरपुर राजपरिवार से जुड़े वीरभद्र सिंह के रूप में की गई। परिजनों को सूचना दी गई।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 13 अगस्त को राजधानी में शहीदों के परिजनों को करेंगे सम्मानित

जल-जंगल-जमीन के बारे में खुद फैसला ले सकेंगे आदिवासी -मुख्यमंत्री बघेल

कोटा थाना प्रभारी दिनेश चंद्रा ने बताया कि शुक्रवार की सुबह लोगों ने बेलहगना और सलका रेलवे स्टेशन के बीच गहिला नाले के पास अज्ञात शव मिलने की सूचना दी थी। इस पर पुलिस रेलवे ट्रैक के किनारे चलते हुए मौके पर पहुंची। इसके बाद शव की पहचान का प्रयास किया गया। घटना की जानकारी परिजनाें को दी गई। शाम तक स्वजन भी कोटा पहुंच गए हैं। पूछताछ में पता चला कि वीरभद्र सिंह गुरुवार को ट्रेन से रायपुर से दुर्ग-अंबिकापुर एक्सप्रेस से घर जा रहे थे। इसी दौरान यह घटना हुई है।

पोस्टमार्टम से होगा मौत का कारण स्पष्ट

प्रभारी का कहना है कि शव जंगल के बीच मिला है। वहां मोटरसाइकिल भी नहीं जा सकती है। इसके कारण जवान ट्रैक के किनारे पैदल चलते हुए पहुंचे। इसके बाद शव को कोटा लाया गया। पोस्टमार्टम से मौत का कारण स्पष्ट होगा। फिलहाल ट्रेन से फिसलकर गिरने के कारण उनकी मौत की आशंका है।

लुंड्रा जनपद के उपाध्यक्ष थे वीरभद्र

बता दें कि मृतक स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के भाई लाल सोमेश्वर प्रताप सिंहदेव के ज्येष्ठ पुत्र थे। वे जिले के लुंड्रा जनपद उपाध्यक्ष थे। शुक्रवार को पत्नी व बच्चों को रायपुर छोड़कर दुर्ग-अंबिकापुर ट्रेन से घर लौट रहे थे। इसी दौरान यह हादसा हुआ है। पुलिस को इसी आधार पर आशंका है कि वह ट्रेन से फिसल गया होगा। जिससे उनकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें:महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम ने दिखाई संवेदनशीलता, बिन माँ-बाप के बच्चाें के लिए महिला अधिकारी बनें सहारा

स्कूल में अव्यवस्था देख नाराज हुए कलेक्टर, प्राचार्य को शो कॉज नोटिस

वीरभद्र सिंह के दो छोटे बच्चे हैं। पुत्र व पुत्री रायपुर में ही रह कर पढ़ाई करते हैं। अल्पायु में उनके निधन से राज परिवार में शोक का माहौल है। उनकी पत्नी को घटना की खबर लगी तो उनका रो-रोकर बुरा हाल है। पिता सोमेश्वर प्रताप सिंह को भी गहरा आघात लगा है। वीरभद्र के छोटे भाई हैं जो उनका कामकाज भी देखते हैं।

विधायक बृहस्पत सिंह से विवाद रहा चर्चित

लुंड्रा जनपद उपाध्यक्ष वीरभद्र सिंह सचिन गत वर्ष रामानुजगंज के विधायक बृहस्पत सिंह से हुए विवाद के बाद चर्चा में आए थे। विधायक के द्वारा थाने में मामला दर्ज कराए जाने के बाद वीरभद्र को जेल भी जाना पड़ गया था। शुक्रवार को संभवत: इसी मामले की अंबिकापुर जिला न्यायालय में पेशी थी। पेशी में उपस्थित होने के लिए वे रायपुर से अंबिकापुर आ रहे थे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!