HomeUncategorizedप्रभारी सचिव एग्रीकल्चर कालेज बिल्डिंग का लिया जायजा,नालंदा की तरह बनाई जाएंगी...

प्रभारी सचिव एग्रीकल्चर कालेज बिल्डिंग का लिया जायजा,नालंदा की तरह बनाई जाएंगी लाइब्रेरी

जिले के प्रभारी सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेसी ने पाटन ब्लाक में निर्माण कार्यों का किया व्यापक निरीक्षण

दुर्ग.जिले के प्रभारी सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेसी ने पाटन में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेने के तुरंत पश्चात जिले में अधोसंरचना निर्माण एवं नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी योजना का क्रियान्वयन देखने फील्ड में पहुंचे। सबसे पहले वे पाटन में निर्माणाधीन स्पोर्ट्स कांप्लेक्स पहुंचे। यहां अधिकारियों ने बताया कि स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में खेल की शानदार अधोसंरचना के साथ ही रायपुर में नालंदा की तरह ही स्तरीय लाइब्रेरी भी बनाई जाएगी।

जिससे यह परिसर शिक्षा और खेल के बेहतरीन परिसर के रूप में बदल सके। नकटा तालाब का सौंदर्यीकरण भी उन्होंने देखा। उन्होंने कहा कि पाटन में जिस तरह से सुंदर अधोसंरचना खड़ी की जा रही है उससे नागरिक जीवन के स्तर में शानदार अभिवृद्धि होगी। उनके साथ कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा भी दौरे में उपस्थित रहे। उन्होंने बताया कि खेल के इस इंफ्रास्ट्रक्चर के बढ़िया इस्तेमाल के लिए योजना बनाई जाएगी।

chhattisgarh
सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक में अधिकारियों से चर्चा करते जिले के प्रभारी सचिव कोमल सिद्धार्थ परदेशी

नरवा प्रोजेक्ट्स को देखकर प्रसन्नता जताई सचिव ने

सचिव ने नरवा प्रोजेक्ट्स भी देखे। अधिकारियों ने बताया कि दूसरे चरण के सभी नरवा प्रोजेक्ट्स में काम पूरा हो गया है और अब मेहनत रंग ला रही है। नरवा प्रोजेक्ट्स के बनाये स्ट्रक्चर में पानी भरपूर था और किसानों ने बताया कि इससे आसपास के खेतों के लिए पर्याप्त पानी जमा हो गया है। अधिकारियों ने बताया कि इससे भूमिगत जल के स्तर में काफी वृद्धि होगी।

 हर्बल प्रसंस्करण केंद्र का लिया जायजा

सचिव ने एग्रीकल्चर कालेज की बन रही बिल्डिंग भी देखी। उन्होने कहा कि इसके साथ ही हास्टल सुविधा भी बढ़िया होनी चाहिए ताकि छात्रों को पढ़ाई में किसी तरह की बाधा न हो। स्टेडियम के लिए उन्होंने कहा कि यहां भी रेसीडेंशियल फैसिलिटी होनी चाहिए ताकि खेल संघ भी इनका बेहतर उपयोग कर सकें।

chhattisgarh
बैठक में उपस्थित अधिकारी

स्कूली बच्चों ने सुनाया पहाड़ा खुश हुए सचिव

उमरपोटी में सचिव ने प्राथमिक स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां बच्चों से पहाड़ा पूछा। एक बच्ची ने कहा कि मैं तेरह का पहाड़ा सुनाना चाहती हूँ। जब बच्ची ने तेरह का पहाड़ा सुनाया तो सचिव बहुत खुश हुए। कलेक्टर ने देखा कि बच्चों की बेल्ट में उमरपोटी स्कूल लिखा है। शिक्षक ने बताया कि यह नवाचार हमने किया है। इस पर कलेक्टर ने शिक्षकों की प्रशंसा की।

यह भी पढ़ें: जमीन घोटाला: एसडीएम ने पटवारी को किया निलंबित

बेल्हारी में पहुंचे सचिव, नवाचार की प्रशंसा की सचिव ने बेल्हारी गांव का गौठान देखा। यहां पर समूह की महिलाएं वर्मी कंपोस्ट के उत्पादन के साथ ही केंचुए भी विक्रय कर रही हैं। कलेक्टर ने बताया कि गांव के किसानों में वर्मी कंपोस्ट काफी लोकप्रिय हो रहा है और किसान केंचुए गौठान से ले रहे हैं। सचिव ने यहाँ का चारागाह भी देखा। उन्होंने कहा कि सभी गौठानों को इसी तरह से स्वावलंबी करना है।

सड़कों का जाल बिछा, किनारे न रहे गैप

दुर्ग जिले में सड़क अधोसंरचना में शानदार कार्य हुआ है। पाटन ब्लाक में ग्रामीण सड़कों का जाल बना है। आज सचिव ने निर्माणाधीन एवं निर्मित सड़कों को देखा। बटरेल-आगेसरा की सड़क के किनारे गैप भरने के निर्देश उन्होंने दिये। साथ ही सचिव ने कहा कि सभी निर्मित सड़कों के आरंभिक बिंदु पर बोर्ड लगायें। जहां ब्लैक स्पाट हैं वहां सावधानी का चिन्ह लगायें।

यह भी पढ़ें: महापौर ने व्यापारी संघ को बताया नए सब्जी मंडी को सुव्यवस्थित बनाने का प्लॉन

शहीद कर्नल कपिल देव पांडेय के नाम से जाना जाएगा नेहरू नगर का मैदान

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!