Homeबिजनेसआयकर रिटर्न की तारीख नहीं बढ़ेगी

आयकर रिटर्न की तारीख नहीं बढ़ेगी

भिलाई. आयकर रिटर्न की अंतिम तारीख नहीं बढ़ेगी। आयकर रिटर्न की अंतिम तारीख 31 जुलाई ही रहेगी। करदाता इससे पहले आयकर रिटर्न दाखिल कर लें। नहीं तो आपको लेट फीस के साथ टैक्स पर ब्याज भी चुकाना पड़ सकता है। बिना लेट फीस के 31 जुलाई तक इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। यानी आज की तारीख से केवल 7 दिन बचा है।

वेबसाइट पर लोड ज्यादा

अगर आपको आपके ऑफिस से फॉर्म -16 मिल चुका है तो तत्काल इनकम रिटर्न दाखिल कर दें। इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर ज्यादा टैक्सपेयर्स द्वारा रिटर्न फाइलिंग किया जा रहा है। इससे वेबसाइट पर लोड बढ़ गया है। इसलिए आखिरी तारीख का इंतजार किए बगैर अपना आयकर रिटर्न दाखिल कर इनकम टैक्स फाइलिंग में होने वाली परेशानियों से बचें।

यह भी पढ़ें: करदाता ध्यान दें: बोर्ड ने पुराने रिटर्न और गलत दाखिल रिटर्न में सुधार के लिए दिया है मौका

आपके सभी वित्तीय लेनदेन आईटी विभाग की निगरानी में हैं, कार्रवाई से बचने आईटीआर में दे सही जानकारी

लोन के लिए जरूरी है आईटीआर

सीए पीयूष जैन ने बताया कि जो लोग अपने कारोबार का विस्तार करने के लिए बिजनेस लोन लेना चाहते हैं या फिर जो लोग कार खरीदना चाहते हैं, उन्हें इसके लिए आयकर रिटर्न दाखिल करना जरुरी है। बैंक से लोन लेने के लिए इनकम टैक्स रिटर्न डॉक्यूमेंट का होना बेहद जरुरी है। श्री जैन ने बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 और एसेसमेंट ईयर 2022-23 के लिए आयकर रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई, 2022 है।

जल्द रिफंड पाने के लिए भरें ITR
श्री जैन ने बताया कि जिन टैक्सपेयर्स ने एसेसमेंट ईयर 2022-23 के लिए रिटर्न भर लिया है उन्हें टैक्स विभाग रिफंड जल्दी मिल जाएगा। लेकिन देरी से आयकर रिटर्न भरने पर भीड़ बढ़ने के चलते प्रोसेसिंग में देरी के बाद रिफंड मिलने में विलंब हो सकता है। मान लिजिए आप पर जितना टैक्स बनता है उससे ज्यादा आपने टैक्स का भुगतान किया तो आयकर रिटर्न भरने के बाद आपका जो रिफंड बकाया टैक्स विभाग पर बनेगा वो आपको रिफंड के तौर पर मिल जाएगा।

यह भी पढ़ें:निक जोनस को बोल्ड कट टॉप में प्यार से बाहें थामे दिखीं ये अदाकारा

शॉर्ट ड्रेस में श्रद्धा के टोन्ड लेग्स हो रहे हैं फ्लॉन्ट

देरी से फाइल करने पर लगेगा पेनल्टी

आयकर रिटर्न भरने की तारीख 31 जुलाई के बाद इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं तो इनकम टैक्स के सेक्शन 234A और अंडर सेक्शन 234F के तहत आपको लेट फीस के साथ टैक्स पर ब्याज भी चुकाना होगा। सीए जैन का कहना है कि यदि 31 जुलाई, 2022 के बाद और 31 दिसंबर, 2022 से पहले आयकर रिटर्न दाखिल किया तो 5,000 रुपये पेनाल्टी फीस देना होगा, लेकिन जिस टैक्सपेयर की सलाना टैक्सेबल इनकम 5 लाख रुपये से कम है उन्हें केवल 1,000 रुपये पेनल्टी भरना होगा। गत वर्ष का रिटर्न्स विलंब से फ़ाइल करने पर इस वर्ष धारा 206AB के प्रावधान से 194 सिरीज़ की जिस धारा के अधीन टैक्स कटना है उससे दुगनी दर या 5% जो भी ज्यादा हो उससे टैक्स कटेगा।

खबरें और भी हैं…

ED Raid:छापेमारी में बंगाल के मंत्री की करीबी के घर पर मिला नोटों का अंबार 

दो दिनों तक दुर्ग-गोंदिया स्पेशल समेत कई ट्रेनों का परिचालन रद्द, मुंबई से छूटने वाली गाड़ियां केवल नागपुर तक चलेंगी

दर्दनाक हादसा: डंपर ने कावंड़ियों को कुचला, 6 की मौत

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!