Homeशिक्षाअभिनव पहल:प्रिंस पढ़ेगा और आगे बढ़ेगा

अभिनव पहल:प्रिंस पढ़ेगा और आगे बढ़ेगा

  • घूमंतू बच्चों का भविष्य संवारने कलेक्टर ध्रुव की अभिनव पहल
  • बाल-जतन अभियान के तहत स्कूल छोड़ने वाले बच्चों को स्कूलों में दिलाया जाएगा दाखिला
  • मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में चलेगा बाल-जतन अभियान

रायपुर. प्रिंस अब घूम घूम प्लास्टिक के बोतलों को एकत्र नहीं करेगा। अन्य बच्चों की तरह स्कूल जाएगा और पढ़ाई करेगा। कलेक्टर पी.एस. ध्रुव ने घूमंतू बच्चों का भविष्य संवारने की दिशा में अभिनव पहल की है। बाल-जतन अभियान के तहत ऐसे बच्चों को स्कूलों में दाखिला दिलाने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल कलेक्टर ध्रुव आज सुबह 6 बजे कड़ाके की ठंड के बावजूद आकस्मिक रूप से चिरमिरी नगर पहुंचे और यहां विभिन्न चौक-चौराहों और वार्डाें में पैदल घूमकर साफ-सफाई की व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। इसी दौरान पोड़ी बाजार के करीब उनकी नजर कचरा बिनते 8 वर्षीय बालक प्रिंस पर पड़ी। कलेक्टर ने उसके पास पहुंचे। उसका नाम, पता और पढ़ाई-लिखाई के बारे में पूछताछ की। कलेक्टर ने प्रिंस को स्कूल जाकर पढ़ाई करने के लिए प्रेरित किया और कहा कि अभी उसकी उम्र पढ़ने-लिखने की है। उन्होंने उसे कचरा बिनने का काम बंद करने और स्कूल जाने की समझाइश दी।

 

बातचीत के दौरान पता चला कि राजा पनिका का बेटा है। वह 8 साल का है। वे अपने पिता के साथ पिछले 4 साल से यहां रहे हैं और वह स्कूल नहीं जाता। कलेक्टर ने बातचीत करने के बाद नगर पालिक निगम के अधिकारियों को सोमवार को उसका दाखिला चिरमिरी के पोड़ी बाजार स्थित सरकारी स्कूल में प्रवेश दिलाने के निर्देश दिए। प्रशासन की ओर से प्रिंस के स्कूल जाने के लिए नया ड्रेस, पुस्तक, कॉपी और बैग की व्यवस्था कर दिया है। नगर निगम चिरमिरी के अधिकारी प्रिंस को अपने साथ ले जाकर उसे स्कूल में प्रवेश दिलाएंगे। वह नियमित रूप से स्कूल जाए और अच्छे से पढ़ाई करे, इसकी मॉनिटरिंग भी की जाएगी।

मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में कलेक्टर श्री पी.एस. ध्रुव ने प्रिंस जैसे घूमंतू, कचरा बिनने वाले, अनाथ और बेसहारा बच्चों को शिक्षा की व्यवस्था कर उनका भविष्य को संवारने के लिए बाल-जतन अभियान की शुरूआत की है। प्रथम चरण में यह अभियान जिले के सभी नगरीय क्षेत्रों में संचालित होगा। नगरीय निकाय और शिक्षा विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से घूमंतू, कचरा बिनने वाले, अनाथ और बेसहारा बच्चों को चिन्हित कर उनका स्कूल में दाखिला कराएंगे। इन बच्चों को पठन-पाठन सामग्री सहित अन्य सुविधाएं भी शासकीय योजनाओं एवं गैर-शासकीय संगठनों के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएंगी।

 

Weekly Horoscope:ग्रह-नक्षत्र और सितारों की चाल इन राशियों के लिए अनुकुल परिणाम लेकर आएगा

कलेक्टर श्री ध्रुव के पूछने पर प्रिंस ने बताया कि वह कक्षा दूसरी में पढ़ता है, जबकि बाद में यह हकीकत सामने आयी कि वह स्कूल ही नहीं जाता। कलेक्टर ने नगर पालिक निगम आयुक्त को प्रिंस को पठन-पाठन, सामग्री ड्रेस उपलब्ध कराने के साथ ही उसका पोड़ी बाजार स्कूल में दाखिला कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि जिले में बाल-जतन अभियान के माध्यम से अनाथ, बेसहारा और घूमंतू बच्चों की शिक्षा-दीक्षा में सहयोग के लिए स्वयं सेवी, समाज सेवी संगठनों की भी भागीदारी होगी।

यह भी पढ़ें:मेकाहारा में इमरजेंसी मेडिसीन की सुविधा बहुत जल्द

दिल्ली में बैठकर चला रहे थे ऑनलाइन सट्‌टा, गिरफ्तार छग के 15 युवकों ने किया सनसनीखेज खुलासा

किसानों को लाख की खेती के लिए बिना ब्याज के मिलेगा ऋण

chhattisgarh

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!