HomeUncategorizedसेना में चार साल के लिए भर्ती करना ठीक नहीं-मुख्यमंत्री बघेल

सेना में चार साल के लिए भर्ती करना ठीक नहीं-मुख्यमंत्री बघेल

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारतीय सेना की अग्निवीर स्कीम के तहत भर्ती का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कई सरकारी संपत्तियों को बेच चुकी है? अब क्या इनके पास सेना में भर्ती के लिए भी पैसे नहीं हैं। क्या इनके पास देश में सुरक्षा करने वालों के लिए पैसा नहीं है ? ये देश सुरक्षा से खिलवाड़ है, युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। केंद्र सरकार को श्वेत पत्र जारी करके बताना होगा कि ऐसी स्थिति क्यों आई।

भूपेश बघेल ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ये बताए कि पूर्णकालिक भर्ती क्यों नहीं कर रहे हैं। पूर्ण कालिक भर्ती होनी चाहिए हमारी मांग है, पूर्ण कालिक भर्ती करने में तकलीफ क्या है। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में आखिर किन लोगों ने ट्रेनिंग दी नक्सलियों को ट्रेनिंग किसने दी। हजारों बच्चे बेरोजगार हो जाएंगे यदि वो गुमराह हो गए तो उस गांव के प्रदेश की स्थिति क्या होगी। जवान 20 साल बाद मैच्योर हो जाता है, उसमें समझ आ जाती है। ये युवा जब बेरोजगार हो जाएंगे तो उतने मैच्योर नहीं रहेंगे। इस प्रकार करना ठीक नहीं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि 4 साल बाद जब जवान वापस आएंगे तो क्या सभी को पुलिस में नौकरी मिलेगी। पुलिस लॉ ऑर्डर पर काम करती है। सेना दुश्मन को खत्म करने का काम करती है। दोनों की ट्रेनिंग अलग है इसे नहीं जोड़ा जा सकता। पुलिस आंदोलनकारियों को बातचीत से समझाती है, सेना वो नहीं करती। जो सेना से बेरोजगार होकर लौटेगा उसे तो बंदकू चलाना आ जाएगा, ये समाज को किस दिशा में ले जा रहे हैं, ऐसे लोगों पर तो गिरोह बनाकर आपराधिक घटना में शामिल होने की आशंका भी हो सकती है।

क्या है अग्निवीर योजना
योजना के मुताबिक इंडियन आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में युवाओं की भर्ती चार साल के लिए होगी और उन्हें ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा। आर्मी में सैनिक (जवान), नेवी में नाविक और एयरफोर्स में एयरमैन की जो भर्ती है, वो भर्तियां अब इस योजना के तहत होंगी। 4 साल के बाद 75 फीसदी सैनिकों को घर भेज दिया जाएगा। शेष 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी जवान नियुक्त किया जाएगा।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!