Homeलाइफ स्टाइलयोग के द्वारा निरोगी एवं सुदीर्घ जीवन की परिकल्पना संभव: अध्यक्ष शर्मा

योग के द्वारा निरोगी एवं सुदीर्घ जीवन की परिकल्पना संभव: अध्यक्ष शर्मा

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में एक दिवसीय निःशुल्क योग प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

रायपुर. इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं द योग इंस्टीट्यूट शंकर नगर, रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के पूर्व आज ‘‘एक दिवसीय निःशुल्क योग शिविर’’ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल ने की।

इस योग शिविर में विश्वविद्यालय के अधिकारी, कर्मचारी सहित राष्ट्रीय सेवा योजना के 250 से अधिक स्वयं सेवक शामिल हुए। द योग इंस्टीट्यूट, रायपुर के संचाला मंजीत स्थापक ने अपनी पूरी टीम के साथ उपस्थित समस्त प्रतिभागियों को योगाभ्यास कराया। शिविर योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने कहा कि मनुष्य को अपने स्वस्थ जीवन शैली के लिए योग को अपने दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि योग के द्वारा निरोगी एवं सुदीर्घ जीवन की परिकल्पना को साकार करते हुए आदर्श एवं विकार रहित समाज का निर्माण किया जा सकता है। उन्होंने 21 जून को आयोजित होने वाले ‘‘अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ के पूर्व इस एक दिवसीय निःशुक्ल योग शिविर कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल को बधाई दी।

chhattisgarh
योगाभयास करते हुए छग योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा, कुलपति डॉ गिरीश चंदेल

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल ने कहा कि योग भारत की प्रचीन एवं संमृद्ध परंपरा का अटूट अंग है। ऋग्वेद में भी योग का उल्लेख मिलता है। उन्होंने कहा कि योग मानुष्य की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा प्रदान करता है और उन्हें अपनी ऊर्जा को सही दिशा में उपयोग करने के लिए प्रेरित करता है। डॉ. चंदेल ने समस्त प्रतिभागियों से आव्हान किया कि वे प्रतिदिन योग करें जिससे वे स्वस्थ एवं निरोगी रहेंगे।

यह भी पढ़ें: पर्वतारोही नैना ने राज्यपाल से छग में पर्वतारोहियों के लिए ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खोलने की मांग

यदि किसी व्यक्ति का काम न हो, यह स्वीकार्य नहीं- मुख्यमंत्री बघेल

एक दिवसीय योग शिविर कार्यक्रम में संचालक अनुसंधान सेवाएं डॉ. विवेक कुमार त्रिपाठी, निदेशक विस्तार सेवाए डॉ. पी. के. चंद्राकर, कृषि महाविद्यालय रायपुर के अधिष्ठाता डॉ एम. पी. ठाकुर, अधिष्ठाता, स्वामी विवेकानंद कृषि अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. विनय पाण्डेय खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. एम. पी. त्रिपाठी सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, वैज्ञानिक उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. जी.के. श्रीवास्तव ने अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया। मंच का संचालन द योग इंस्टीट्यूट, रायपुर की योग छात्रा श्रीमति मंजुला चंद्राकर ने किया और अंत में योग इंस्टीट्यूट की ओर से व्यवस्थापिका लीना नंजियानी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया।

यह भी पढ़ें: यदि किसी व्यक्ति का काम न हो, यह स्वीकार्य नहीं- मुख्यमंत्री बघेल

झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस, उपायुक्त की कार्यशैली को लेकर हुए नाराज

ग्राहक सेवा केन्द्र में फर्जीवाड़ा: फिक्स डिपाजिट के पैसे डकार गए संचालक

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!