Homeनिकाय1 जुलाई से इसकी खरीदी बिक्री हो जाएंगी बंद, चेक कर लीजिए...

1 जुलाई से इसकी खरीदी बिक्री हो जाएंगी बंद, चेक कर लीजिए आपके दुकान में ये सामान तो नहीं है

केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने अगस्त 2021 में अधिसूचना जारी कर सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगाया था प्रतिबंध शासन ने स्टाक खत्म करने के लिए दिया था

भिलाई. छत्तीसगढ़ समेत देश में सिंगल यूज प्लास्टिक की खरीदी बिक्री 1 जुलाई से पूरी तरह से बंद हो जाएंगी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central pollution board) आदेशानुसार छत्तीसगढ़ शासन ने सिंगल यूज प्लास्टिक की मैन्यूफैक्चरिंग और खरीदी बिक्री पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया है। इसके बाद प्रतिबंधित सामग्री की खरीदी बिक्री या मैन्यूफैक्चरिंग करते हुए पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और पकड़े जाने पर जुर्माना के साथ कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है।

19 वस्तुओं पर लगेगी रोक

कचरा पैदा करने वाली ऐसी करीब 19 वस्तुएं हैं। जिस पर 1 जुलाई से पाबंदी लग जाएंगी। इसमें स्ट्रा (पेय पदार्थ पीने वाला प्लास्टिक की छड़) स्ट्रारर (पेय पदार्थ को घोलने वाली प्लास्टिक छड़), इयर बड,कैंडी, गुब्बारे जिसमें प्लास्टिक की छड़ लगी होती है, प्लास्टिक के बर्तन जैसे चम्मच, प्लेट, कटोरी, सिगरेट के पैक, पैकेजिंग फिल्म,साज सज्जा में इस्तेमाल होने वाले थर्माकोल, मिठाई के डिब्बे में इस्तेमाल होने वाली फिल्म, 100 माइक्रोन से कम मोटाई वाले प्लास्टिक के बैनर, 5 माइक्रोन के पतले कैरी बैग शामिल किए गए।

सिंगल यूज प्लास्टिक की वस्तुएं 1 जुलाई से पूर्णत: प्रतिबंधित, स्टाक खत्म कर लेने की दी चेतावनी

सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को पर्यावरण के लिए बेहद नुकसान माना गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा नोटिस में प्रतिबंध का उल्लंघन करने वालों को कठोर कार्रवाई की चेतावनी भी दी है। इस संबंध में 2021 में आदेश जारी किया गया था। इसके बाद केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने फरवरी 2022 में एक आदेश जारी कर स्टॉक को खत्म कर लेने की चेतावनी दी थी। इसके बाद उत्पादन और खरीदी बिक्री की कोशिश करने पर जुर्माना की कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

लग सकता है भारी जुर्माना

सिंगल यूज़ प्लास्टिक का इस्तेमाल करने वालों पर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है। केन्द्रीय प्रदूषण बोर्ड के आदेशानुसार जिस दुकान में पहली बार प्लास्टिक पकड़ी जाएंगी। उस पर क्रमशः ₹500, दूसरी बार ₹1000,तीसरी बार ₹2000 का जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही इंस्टीट्यूशनल स्तर पर भी जुर्माना लगाया जाएगा। कहा जा रहा है कि शासन स्तर पर पहली बार में ₹5000, दूसरी बार में ₹10000 और तीसरी बार में ₹20000 का जुर्माना लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: बच्चों ने मुख्यमंत्री से पूछा, हेलिकॉप्टर से कैसा दिखता है हमारा रामगढ़

chhattisgarh
प्रकाश सर्वे, आयुक्त, नगर पालिक निगम भिलाई

शासन के आदेशानुसार निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे ने अधिकारियों को 1 जुलाई से प्लास्टिक पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही व्यापारिक संगठनों, आम नागरिकों, खरीदारों, फुटकर विक्रेताओं और उत्पादकों  से प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग एवं विक्रय न करने की अपील की है।

यह भी पढ़ें: स्वामी आत्मानंद स्कूलों में निकली 61 पदों पर भर्ती, जिला शिक्षा विभाग ने मंगाए आवेदन

छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में निजी मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक गिरफ्तार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!