HomeSportsकॉमनवेल्थ गेम्स में दिग्गज खिलाड़ी सौरव ने रचा इतिहास,जूडो प्लेयर तूलिका ने...

कॉमनवेल्थ गेम्स में दिग्गज खिलाड़ी सौरव ने रचा इतिहास,जूडो प्लेयर तूलिका ने सिल्वर मेडल के साथ बढ़ाया भारत का मान

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के छठवें दिन बुधवार को भारत को दो ब्रॉन्ज और एक सिल्वर मिला। वहीं स्क्वैश में भारत के दिग्गज खिलाड़ी सौरव घोषाल ने इतिहास रच दिया। कांस्य पदक के मैच में उन्होंने इंग्लैंड के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी 2018 गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के गोल्ड मेडलिस्ट जेम्स विल्सट्रोप को 3-0 से हराया और कांस्य पदक पर कब्जा जमाया।

 

सौरव ने पहला गेम 11-6 से अपने नाम किया और दूसरा गेम भी 11-1 से जीत लिया। तीसरे गेम में सौरव ने विल्सट्रोप को 11-4 से हरा दिया। जीत के बाद सौरव भावुक हो गए और रोने लगे थे।

cwg2022
भारत के दिग्गज खिलाड़ी सौरव ने कॉमनवेल्थ गेम्स में स्कवैश में पहली बार कॉस्य पदक जीत कर रचा इतिहास

तूलिका मान ने 78 KG वेट कैटेगरी में दिलाया सिल्वर मेडल 

भारतीय जूडो प्लेयर तूलिका मान ने 78 KG वेट कैटेगरी में भारत को सिल्वर मेडल दिलाया। वो विश्व की नंबर-1 खिलाड़ी स्कॉटलैंड की सारा एडलिंग्टन से मुकाबला हार गईं। इससे पहले उन्होंने सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया की सिडनी एंड्रयूज को 10-1 से हराया था और क्वार्टर फाइनल में मॉरिशस की ट्रेशी डरहोन को भी उन्होंने मात दी थी।

cwg2022
भारतीय जूडो प्लेयर तूलिका मान ने 78 KG वेट कैटेगरी में भारत को सिल्वर मेडल दिलाया

वेटलिफ्टिंग में 9वां पदक

लवप्रीत का पदक देश के लिए वेटलिफ्टिंग में नौवां पदक रहा। वेटलिफ्टर लवप्रीत सिंह ने 109 KG वेट कैटेगिरी में कांस्य पदक जीता। इसके साथ ही भारत ने गोल्ड कोस्ट में हुए पिछले खेलों के प्रदर्शन की बराबरी कर ली। 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय टीम वेटलिफ्टिंग में बेस्ट टीम रही थी।

 

cwg2022
लवप्रीत का पदक देश के लिए वेटलिफ्टिंग में नौवां पदक रहा

इस तरह से अब तक भारत ने कुल 16 पदक जीते हैं, जिसमें पांच स्वर्ण, छह रजत और पांच कांस्य पदक शामिल हैं। पदक तालिका में भारत छठे स्थान पर है और आस्ट्रेलिया पहले स्थान पर है।

विश्व चैंपियन बॉक्सर निकहत जरीन का पदक पक्का

cwg2022
निकहत जरीन सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं

विश्व चैंपियन बॉक्सर निकहत जरीन ने राष्ट्रमंडल खेलों में अपना और भारत के लिए एक पदक पक्का कर लिया है। वह 48-50 किग्रा (लाइट फ्लाई) वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। निकहत ने वेल्स की हेलेन जोन्स को हराया। उन्होंने यह मुकाबला 5-0 से अपने नाम किया।

वेटलिफ्टिंग में पूर्णिमा पांडेय छठे स्थान पर रहीं
वेटलिफ्टिंग में महिलाओं के 87+ किलोग्राम भारवर्ग में भारत की पूर्णिमा पांडे छठे स्थान पर रहीं। उन्होंने स्नैच राउंड में 103 किलो का वजन उठाया। वहीं, क्लीन एंड जर्क में पूर्णिमा ने पहले प्रयास में 125 किलो का वजन उठाया। दूसरे प्रयास में 133 किलो वजन के लिए गईं, लेकिन नहीं उठा सकीं। तीसरे प्रयास में उन्होंने कोशिश की, लेकिन विफल रहीं। ऐसे में कुल 228 वजन उठाने के साथ पूर्णिमा छठे स्थान पर रहीं। इंग्लैंड की एमिली कैंपबेल ने 286 किलो का वजन उठाया और स्वर्ण पदक अपने नाम किया। वहीं, समोआ की फीगैगा स्टोवर्स कुल 268 किलो वजन उठाने के साथ रजत पदक अपने नाम किया। ऑस्ट्रेलिया की कैरिस्मा अमोए ने कांस्य पदक हासिल किया।

पुरुष हॉकी में भारत ने कनाडा को किया परास्त

cwg2022
जीत के साथ टीम इंडिया ग्रुप-बी में पहले स्थान पर

पुरुष हॉकी में भारतीय टीम ने कनाडा को 8-0 से रौंद दिया। इस जीत के साथ टीम इंडिया ग्रुप-बी में पहले स्थान पर पहुंच गई है। उसके तीन मैचों में सात अंक हैं। भारत ने कनाडा से पहले घाना को हराया था। वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ मैच बराबरी पर छूटा था।

महिला हॉकी टीम की बड़ी जीत
भारतीय महिला हॉकी टीम ने रोमांचक मुकाबले में कनाडा को 3-2 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारत के लिए पहला गोल सलिमा टेटे ने और दूसरा गोल नवनीत कौर ने किया। तीसरा गोल लालरेसमियामी ने दागा। कनाडा के लिए पहला गोल ब्रिएन स्टेयर्स और दूसरा गोल हन्ना ह्यून ने किया। भारत ग्रुप में चार में से तीन मैच जीतने में सफल रहा है। उसने घाना को 5-0 से और वेल्स को 3-1 से हराया था। इंग्लैंड के खिलाफ टीम को हार का सामना करना पड़ा था।

भारत के पदक विजेता
5 स्वर्णः मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम
6 रजतः संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान
5 कांस्यः गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ की पर्वतारोही अंकिता स्वतंत्रता दिवस के दिन मांउट एल्ब्रुस की चोटी पर फहराएंगी तिरंगा

क्या आप जानते हैं जूडो में कैसे होती है स्कोरिंग

जूडो में तीन तरह से स्कोरिंग होती है। इसे इपपोन, वजा-आरी और यूको कहते हैं। इपपोन तब होता है, जब खिलाड़ी सामने वाले खिलाड़ी को थ्रो करता है और उसे उठने नहीं देता। इपपोन होने पर एक फुल पॉइंट दिया जाता है और खिलाड़ी जीत जाता है। सारा ने सेमीफाइनल में इसी तरह से जीत हासिल की।

यह भी पढ़ें: कॉमनवेल्थ गेम्स में टेबल टेनिस में भारतीय पुरुष टीम ने रचा इतिहास, लॉन बाल में बेटियाें ने लहराया तिरंगे का परचम

22वें काॅमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ी कब-कब करेंगे परफॉर्म, पढ़ें खबर

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!