Homeनिकायबारिश में निचली बस्ती के सड़क नाली हुए लबालब,महापौर नीरज ने लिया...

बारिश में निचली बस्ती के सड़क नाली हुए लबालब,महापौर नीरज ने लिया जायजा

कलेक्टर मीणा ने अधिकारियों अलर्ट रहने के दिए निर्देश

भिलाई. शनिवार की सुबह से रूक-रूक कर हो रही अत्याधिक बारिश की वजह से कोसा नगर, राधिका नगर, नेहरू नगर, फरीद नगर, रिसाली और दुर्ग के निचली बस्तियों में जल भराव की समस्या सामने आई है। स्थित को देखते हुए निगम और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने क्षेत्र का जायजा लिया और साफ-सफाई करवाकर निकासी की व्यवस्था की।

हुडको में निकासी की समस्या

महापौर नीरज सुबह 11 बजे हुडको पहुंचे। जहां उन्होंने हुडको पश्चिम साइड के आवासों की निकासी व्यवस्था का जायजा लिया। इसके बाद सेक्टर 5 में नाला के किनारे बसे श्रमिक बस्ती का निरीक्षण किया। नाली में फंसे कचरे की सफाई करवाया। अतिक्रमण की वजह से प्रभावित हो रही निकासी के लिए रास्ते को जेसीबी से तोड़कर अस्थायी नाली की व्यवस्था की।

रैश्ने आवास की सड़क नाली लबालब

वार्ड-7 राधिका नगर स्थित रैश्ने आवास के लोगों को जल भराव की स्थिति का सामना करना पड़ा। सुबह हुई तेज बारिश का पानी की वजह से कोसा नाला का जल स्तर बढ़ गया था। इसकी वजह से ओवर फ़्लो होकर ढलान एरिया में जमा हो गया। इससे रैश्ने आवास का रास्ता लबालब हो गया था। महापौर लोगों से मुलाकात की और मोटर पंप चालू कर पानी को खाली कराया गया। नाले का जल स्तर काम होने के बाद सड़क नाली की अच्छी तरह से सफाई कर दवा का छिड़काव करने के निर्देश दिए।

 

chhattisgarh
वार्ड 7 स्थित रैश्ने आवास परिसर में जल भराव की समस्या

कलेक्टर और एसपी भी पहुंचे

कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा एवं एसपी डॉ अभिषेक पल्लव भी जल भराव वाले क्षेत्रों में पहुंचे। उन्होंने मौके पर मौजूद निगम अमले से वस्तुस्थिति की जानकारी ली एवं नागरिकों से भी फीडबैक लिया। लोगों ने बताया कि अत्याधिक बारिश की वजह से कोसा नाला पूरे फ्लो में है और अभी धीरे-धीरे नाले का स्तर उतरने की उम्मीद है।

chhattisgarh
कोसानाला का निरीक्षण के दौरान कलेक्टर, एसपी, और आयुक्त

मोटर पंप से खींचा पानी

निगम अमले ने वाटर पंप के माध्यम से ड्रेनेज किया है जिससे राहत हुई। मौके पर मौजूद निगम अमले ने बताया कि कोसा नाले में अत्याधिक बारिश की स्थिति में जलभराव की आशंका के चलते मानसून पूर्व ड्रेनेज के लिए कार्य कर लिया गया था। अभी बारिश अत्याधिक हुई है जिससे नाला अपने पूरे प्रवाह पर है। अभी उम्मीद है कि जलस्तर कम हो जाएगा। प्रभावित क्षेत्रों में वाटर पंप के माध्यम से ड्रेनेज किया गया है।

कलेक्टर ने कहा कि स्थिति पर नजर रखें। जलस्तर बढ़ने की स्थिति में ड्रेनेज के लिए युद्ध स्तर पर कार्य करें। साथ ही जरूरत पड़ने पर लोगों को राहत शिविरों में ले जाने की तैयारी रखें। उन्होंने कहा कि राहत शिविर में मेडिकल टीम एवं खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित रहे। निगम अमले ने कहा कि इस संबंध में पूर्व में तैयारियां कर ली गई है। आम नागरिकों से भी कलेक्टर ने बातचीत की। आम नागरिकों ने बताया कि इस बार काफी पानी गिरा है जिससे कोसा नाला में जलस्तर काफी बढ़ गया है। कुछ इलाकों में जलभराव ज्यादा हुआ है।

पूरे समय अलर्ट रहने के निर्देश

निगमायुक्त लोकेश चंद्राकर ने बताया कि निगम अमला लगातार फील्ड में तैनात है और स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। लगातार एक्टिव मोड में है किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए निगम अमला पूरी तरह से तैयार है।

इन स्थानों का भी लिया जायजा

इसके अलावा महापौर और अधिकारियों ने कोहका जुनवानी रोड, तेलहा नाला और केम्प क्षेत्र की नाला- नालियों का जायजा लिया और लोगों से बातचीत कर जलभराव की स्थिति निर्मित ना हो। इसके लिए आसपास साफ सुथरा रखने की अपील की। कचरे की वजह से नाला नालियां जाम होने पर निगम के अधिकारी या पार्षद को सूचना देने का आग्रह किया। निगम के कर्मचारियों को छोटे नालियों के आसपास उग आई  कंटीली झाड़ियां, झिल्ली, पन्नी के कचरे अच्छे तरीके से निकालकर सफाई करने कहा। इस दौरान अपर आयुक्त अशोक दिवेदी और स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: भारी बारिश की आशंका,मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश

MIC का बड़ा निर्णय, वायु प्रदूषण को कम करने प्रमुख चौक-चौराहे लगाए जाएंगे मिस्ट फाउंटेन

मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण योजना से बेटियों के सपने होंगे साकार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!