Homeदेशछापा मारने पहुंचे डीएसपी पर खनन माफियाओं ने पत्थरों से भरे डंपर...

छापा मारने पहुंचे डीएसपी पर खनन माफियाओं ने पत्थरों से भरे डंपर चढ़ा दिया, मौके पर मौत

नूंह में खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि जांच करने पहुंचे डीएसपी पर ही डंपर चढ़ा दिया। इससे उनकी मौके पर मौत हो गई है। इस घटना के बाद हरियाणा पुलिस ने आसपास के गावों में घेराबंदी कर आरोपियों को पकड़ेन का प्रयास किया। इस दौरान इनकाउंटर में एक आरोपी के पैर में गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया है।

घटना मंगलवार की दोपहर सवा 12 बजे की है। इस वारदात के बाद पूरे क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।अब तक जो जानकारी सामने आई उसके के अनुसार पुलिस और डीएसपी सुरेन्द्र सिंह की हत्या में शामिल खनन माफिया के बीच पंचगांव की पहाड़ी पर किले में एनकाउंटर हुआ। यह जगह डीएसपी की हत्या वाली जगह से कुछ ही दूर है। इस एनकाउंटर में डंपर के क्लीनर इकरार के पैर में गोली लगी। पुलिस ने इकरार को गिरफ्तार कर लिया। उसे नूंह के नल्हड़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। डंपर के ड्राइवर को भी पुलिस ने घेर लिया। दोनों पंचगांव के रहने वाले हैं।

सांरगपुर में किया गया अंतिम संस्कार

उधर डीएसपी सुरेंद्र सिंह का हिसार स्थित उनके पैतृक गांव सारंगपुर में अंतिम संस्कार किया गया।  बताया जा रहा है डीएसपी सिंह 12 अप्रैल 1994 को हरियाणा पुलिस में ASI के पद पर भर्ती हुए थे। 31 अक्टूबर 2022 को उनकी सेवानिवृत्ति होनी थी।

बताया गया है कि अवैध खनन रोकने गए डीएसपी सुरेंद्र सिंह ने अपनी गाड़ी अड़ा कर वहां से गुजर रहे डंपर को रोकने के लिए अपनी सरकारी गाड़ी के पास खड़े थे, लेकिन डंपर चालक ने उनकी गाड़ी को टक्कर मार दिया। जिससे वह नीचे गिर गए और डंपर उनको रौंदता हुआ ऊपर से निकल गया। सुरेंद्र सिंह ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। घटना की जानकारी के बाद बड़ी संख्या में अफसर और पुलिस टीम मौके पर पहुंची और सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया।

पत्थर का अवैध खनन
तावड़ू पुलिस को पंचगांव की पहाड़ी में बड़े स्तर पर अवैध खनन की सूचना मिली थी। डीएसपी सुरेंद्र सिंह पुलिस टीम के साथ पहाड़ी पर रेड मारने पहुंचे थे। पहाड़ी पर उन्हें पत्थर ले जाते वाहन मिले, जिसे उन्होंने रोकना शुरू कर दिया। इसी बीच माफियाओं ने डीएसपी पर पत्थरों से भरा डंपर चढ़ा दिया।

अरावली पहाड़ियों पर बड़े पैमाने पर अवैध खनन
तावड़ू क्षेत्र में अरावली की पहाड़ियों पर बड़े स्तर पर अवैध खनन किया जा रहा था। प्रशासन ने इस पर रोक लगाने के लिए 3 जून को ही उपमंडल स्तर पर एक स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया था। इसमें कई विभागों के अधिकारी शामिल थे। डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई को भी कमान दी गई थी। एसडीएम तावडू सुरेंद्र पाल के अनुसार टास्क फोर्स गठित कर अरावली के प्रतिबंधित क्षेत्र में अवैध खनन पर लगाम लगाने की कार्रवाई प्रशासन कर रहा था। टास्क फोर्स को सप्ताह में दो बार अरावली क्षेत्र के गांवों का दौरा कर स्थिति का जायजा लेना था। डीएसपी मंगलवार को अवैध खनन की सूचना पर यहां पहुंचे तो उनकी हत्या कर दी गई।

सीएम ने ली घटना की जानकारी

इस बीच सीएम मनोहर लाल ने DGP और SP नूंह से घटना की जानकारी ली। साथ ही दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। खट्टर ने सुरेंद्र सिंह के परिवार को 1 करोड़ रुपए की सहायता राशि और एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी देने की घोषणा की है।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!