Homeनिकायसम्मेलन में मितानिनों ने जनप्रतिनिधियों के समक्ष रखी अपने वार्ड की समस्याएं

सम्मेलन में मितानिनों ने जनप्रतिनिधियों के समक्ष रखी अपने वार्ड की समस्याएं

  • कल्याणी शीतला मंदिर प्रांगण रिसाली में हुआ सम्मेलन
  • मेयर शशि सिन्हा और सभापति केश बंछोर कार्यक्रम में हुए शामिल

भिलाई.कल्याणी शीतला मंदिर प्रांगण रिसाली में शहरी स्वास्थ्य मितानिनों का सम्मेलन हुआ। जहां मितानिनों ने मुख्य अतिथि महापौर शशि सिन्हा, सभापति केशव बंछोर एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का पौध भेंट कर स्वागत किया। सम्मेलन में स्वास्थ्य व्यवस्था और सामाजिक गतिविधियां पर चर्चा की और शासकीय योजनाओं की समुदाय आधारित निगरानी एवं सामाजिक अंकेक्षण विषय पर अपने वार्ड की समस्याएं रखी।

महापौर शशि सिन्हा ने मितानिनों की समस्याओं को जल्द निराकरण का आश्वासन दिया और लोगों को स्वास्थ्य एवं साफ-सफाई के प्रति लोगों में जागरूकता लाने की दिशा में दे रही सेवाओं की सराहना की। वहीं निगम सभापति केशव बंछोर ने भी उनके योगदान की सराहना करते हुए उनकी मांगों को लेकर अपने विचार रखे। वार्ड के पार्षदों के समन्वयक बनाकर जल्द निराकरण की बात कही। सम्मेलन में पार्षद परमेश्वर कुमार, ममता सिन्हा,हरीश नायक, गजेन्द्र कोठारी शामिल हुए। जहां मितानीन अर्पणा श्रीवास्तव, जमुना दीप्ति, अर्चना मिंज समेत महिला आरोग्य समिति के सदस्यों ने अपने वार्ड और क्षेत्र की समस्याएं रखी।

संवेदनशील सरकार : बेटी पिता के कंधों पर नहीं, मोटराइज्ड सायकिल से जाएंगी स्कूल

Chhattisgarh
जन संवाद में उपस्थित मितानिन एवं महिला आयोग्य समिति के सदस्य

मितानिनों ने रखी ये समस्याएं

  • वार्ड 17 नाली निर्माण
  • वार्ड 21 की तालाब परिसर का समतलीकरण, सीसी रोड निर्माण
  • वार्ड 35 में जर्जर भवन का मरम्मत, सुलभ शौचालय का निर्माण, नाली निर्माण, भिलाई 3 से नेवई तक सिटी बस संचालन की मांग रखी।
  • 37 में बच्चों का टीकाकरण के लिए कक्ष की व्यवस्था। मितानिन अंबिका बाघ का कहना है कि भवन जर्जर हो चुकी है। जहां गर्भवती महिलाओं और बच्चों का टीकाकरण किया जाता है। इससे हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।
  • वार्ड 40 पुरैना स्ट्रीट लाइट, पानी की समस्या का निराकरण, स्ट्रीट डॉग्स का बधियाकरण और सड़कों पर बैठने वाले मवेशियों को पकड़ कर गोठान भेजने की मांग की।

 

यह भी पढ़ें: Breaking: संभागायुक्त ने जल संसाधन विभाग के सब इंजीनियर को किया निलंबित

मानवाधिकार आयोग की टीम ने बाल संप्रेक्षण गृह का लिया जायजा, अस्पताल में अलग से जेल वार्ड बनाने के दिए निर्देश

वायु प्रदूषण के लिए सिर्फ किसान नहीं, विफलता के लिए चार राज्यों की सरकारें जिम्मेदार-एनएचआरसी

 

 

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!