Homeधर्म-समाजमाताओं ने संतान की दीर्घायु की कामना के साथ की देवी हलष्ठठी...

माताओं ने संतान की दीर्घायु की कामना के साथ की देवी हलष्ठठी की पूजा,चढ़ाया पसहर चावल का भोग

शीतला तालाब सुपेला के पूजा कार्यक्रम में शामिल हुए जिला अध्यक्ष मुकेश चंद्राकर एवं केशव चौबे, व्रती महिलाओं को दी शुभकामनाएं

भिलाई.माताओं ने बुधवार को संतान की दीर्घायु की कामना के साथ हलष्ठठी का व्रत रखा। सुपेला शीतला तालाब, मंगल बाजार कोहका, जुनवानी रोड समेत अन्य जगहों पर देवी हलष्ष्ठी की पूजा अर्चना कर कथा सुनी। देवी को पसहर चावल और भैंस के दूध से बने भोग चढ़ाकर संतान की दीर्घायु का आशीर्वाद मांगा।

शीतला तालाब सुपेला में हलषष्ठी पूजा में भिलाई शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मुकेश चंद्राकर,एम आई सी सदस्य केशव चौबे ,जिला सचिव राजकुमार चौधरी, छाया पार्षद विनोद यादव, ब्लॉक उपाध्यक्ष बंटू शर्मा, भरत टंडन,सीमा चौबे ,गायत्री देशमुख ,सोनल सिन्हा, पार्वती देवी शामिल हुए। व्रती माता एवं बहनों से मुलाकात कर हलषष्ठी की शुभकामनाएं दी।

Chhattisgarh

बता दें कि देवी हलष्ष्ठी की पूजा में हल चलाकर उपजाए गए अन्न का उपयोग नहीं किया। इसलिए आज के दिन बिना हल चलाए उपजे पसहर धान के चावल, भैंस का दूध, दही और घी से बने भोग देवी को अर्पित कर किया जाता है और महिलाएं पसहर चावल से बनी भोग और छह प्रकार की भाजी से बनी साग को प्रसाद के रूप में ग्रहण कर व्रत की पारणा करती हैं।

Chhattisgarh
देवी हलषष्ठी की पूजा अर्चना करती हुई व्रती महिलाएं

खुर्सीपार में माताओं ने की भगवान शिव – पार्वती की पूजा
खुर्सीपार में भी माताओं ने सगुरी बनाई और भगवान शिव – पार्वती की कथा वाचन कर संतान सुख प्राप्ति एवं परिवार के सुख समृध्दि की कामना की। पूजा में खेमलता साहू, सोनी, खोज कुमारी, केशरी बाई, भुनेश्वरी साहू, कल्याणी देवांगन, अमरीका बाई देवांगन, तारामती योगिता साहू, टेमिन बाई, प्रतिमा साहू, नारायणी साहू, रानी साहू शामिल हुए।

Chhattisgarh
कथा श्रवण करती हुई व्रती महिलाएं

पूजा में इनका है विशेष महत्व

भादो माह की छठवी तिथि को मनाए जाने वाले कमरछठ पूजा में सरफोक के दातुन, छः प्रकार के भाजी ,काशी (कूश)के फूल, महुआ के पत्ता और फूल, धान की लाई, छह प्रकार के अनाज गेंहूं,चना,अरहर, मसूर, तिवरा, और मूंग श्रीफल का विशेष महत्व है।

  यह भी पढ़ें:ये हैं स्टील सिटी के गौरव,जिन्होंने देश-दुनिया में भिलाई को किया है गौरवान्वित

ये हैं हमारे वरिष्ठ चिकित्सक, जो लोगों सुबह से रात तक फ्री में करते हैं इलाज, दवाइयाें का भी नहीं लेते रुपए

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!