Homeदेशनासा ने जारी की ब्रह्मांड की खुबसुरत रंगीन तस्वीरें, अमेरिकी राष्ट्रपति ने...

नासा ने जारी की ब्रह्मांड की खुबसुरत रंगीन तस्वीरें, अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा आज का दिन ऐतिहासिक

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA)ने जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप से मिली तस्वीरें जारी की है। यह सबसे हाई रिजॉल्यूशन वाली ब्रह्मांड की रंगीन तस्वीरें है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने व्हाइट हाउस ब्रीफिंग में इस बारे में जानकारी दी। बाइडेन ने कहा, आज एक ऐतिहासिक दिन है। यह अमेरिका और पूरी मानवता के लिए ऐतिहासिक है। यह तस्वीरें बताती हैं अमेरिका कितने बड़े कारनामे कर सकता है।

नासा के हेड बिल नेल्सन ने इस कामयाबी पर कहा कि, हम 13 अरब साल पीछे मुड़कर देख रहे हैं। इन छोटे कणों में से एक पर आप जो प्रकाश देख रहे हैं, वह 13 अरब साल से यात्रा कर रहा है। अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने कहा- यह हम सभी के लिए बेहद रोमांचक क्षण है। आज ब्रह्मांड के लिए एक नए अध्याय की शुरुआत हुई।

National
हाईरिजाॅज्यूशन वाली ब्रह्मांड की सबसें सुंदर तस्वीर

टेलिस्कोप को 25 दिसंबर 2021 को किया था लांच

नासा के जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप को पिछले साल 25 दिसंबर को एरियन रॉकेट के जरिए फ्रेंच गुयाना स्थित लॉन्चिंग बेस से लॉन्च किया गया था। इस टेलिस्कोप को नासा, यूरोपियन स्पेस एजेंसी और कैनेडियन स्पेस एजेंसी ने तैयार किया है। इस पर करीब 75 हजार करोड़ रुपए का खर्च आया है।यह दुनिया का सबसे ताकतवर टेलिस्कोप है। इसकी क्षमता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह अंतरिक्ष से धरती पर उड़ रही चिड़िया को भी आसानी से डिटेक्ट कर सकता है।

National
टेलीस्कोप से ली गई कैरीना नेबुला की खुबसुरत तस्वीर

ब्रह्मांड के कई रहस्य सुलझाएंगे एडवांस टेक्नोलॉजी

यह प्रोग्राम अमेरिका के इतिहास का सबसे बड़ा इंटरनेशनल स्पेस साइंस प्रोजेक्ट है। इसका नाम नासा के दूसरे हेड ‘जेम्स वेब’ के नाम पर रखा गया है। नासा ने इस टेलिस्कोप में समय के साथ कई एडवांस टेक्नोलॉजी जोड़ी हैं। इससे ब्रह्मांड के कई रहस्य सामने आ सकते हैं।

National
नासा की ओर से जारी की गई दक्षिणी रिंग नेबुला की पहली रंगीन तस्वीर, जिसमें नेबुला के केन्द्र में चमकीले तारे दिखाई दे रहा है.

गैलेक्सी और ग्रहों का पता लगाया जाएगा
जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप 1990 में भेजे गए हबल टेलिस्कोप के मुकाबले 100 गुना ज्यादा शक्तिशाली है। इसके जरिए ब्रह्मांड के शुरुआती काल में बनी गैलेक्सी, उल्कापिंड और ग्रहों का पता लगाया जा सकता है। यह टेलिस्कोप ब्रह्मांड के रहस्यों को उजागर करने के साथ ही एलियन की मौजूदगी का भी पता लगाएगा। इसके जरिए वैज्ञानिक ब्रह्मांड के कई अनसुलझे रहस्यों को सुलझाने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ें: देश-दुनिया को भगवान महावीर के सत्य और अहिंसा के सिद्धांतों को अपनाने की सबसे ज्यादा आवश्यकता- मुख्यमंत्री

राष्ट्रपति चुनाव के लिए 13 को पहुंचेगी मतदान सामग्री,कड़ी सुरक्षा में विधानसभा स्थित स्ट्रांग-रूम में रखा जाएगा

श्रावण सोमवार की पूजा को ऐसे बनाएं फलदाई,महादेव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!