Homeराजनीतिनपाप अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव,सत्ता पक्ष के दो पार्षदों ने छोड़ी...

नपाप अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव,सत्ता पक्ष के दो पार्षदों ने छोड़ी पार्टी

रायपुर. महाराष्ट्र की तरह ही छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के नगर पालिका परिषद में सियासत गर्म हो गई है। यहां नगर पालिका अध्यक्ष के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में बहुमत साबित करने के लिए कांग्रेस और भाजपा में जोड़तोड़ की राजनीति चल रही है। विपक्ष कांग्रेस को अध्यक्ष की कुर्सी तक पहुंचने के लिए पूरी ताकत के साथ पार्षदों को साधने में जुटी है, तो वहीं भाजपा के अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर अपनी कुर्सी बचाने के लिए पार्षदों को अज्ञातवास पर ले जाने की तैयारी में है।

नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्राकर के विरुद्ध कांग्रेस के 10 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया है। इस पर 4 जुलाई को सम्मिलन होना है। इससे पहले ही भाजपा के दो पार्षदों ने अध्यक्ष का साथ छोड़ दिया। शनिवार को भाजपा के दो पार्षद सरला गोलू मदनकार व कमला बरिहा विधायक निवास पहुंचे और कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। इससे कांग्रेस के पार्षदों का आंकड़ा 14 से बढकर 16 हो गई है।

सत्ता के लिए चाहिए 21 पार्षदों का समर्थन

नगर पालिका परिषद में 30 पार्षद हैं। यहां भाजपा पार्षद प्रकाश चन्द्राकर अध्यक्ष हैं। वहीं कांग्रेस पार्षद कृष्णा चंद्राकर उपाध्यक्ष हैं। अविश्वास से पहले कांग्रेस के पास निर्दलीय सहित 15 पार्षदों का समर्थन है। वहीं सत्तापक्ष भाजपा के पास निर्दलीय पार्षदों के साथ 14 पार्षदों का बहुमत हैं। एक पार्षद आम आदमी पार्टी की है, जो फिलहाल कांग्रेस खेमे के साथ है।

advt

अध्यक्ष को कुर्सी बचाने के लिए चाहिए 11 पार्षदों का समर्थन

जानकारों के अनुसार यदि सम्मिलन में सभी 30 पार्षद पहुंचे और मतदान किया तो अविश्वास प्रस्ताव में प्रकाश को नपाध्यक्ष की कुर्सी बचाने 11 मत चाहिए। जबकि कांग्रेस को अविश्वास प्रस्ताव पारित कराने 21 मत चाहिए। फिलहाल कांग्रेस के पास 16 पाषदों का समर्थन है और  21 पार्षदों का समर्थन हासिल करने लिए उसे अब भी पांच पार्षद चाहिए।

यह भी पढ़ें:महाराष्ट्र में सियासी खींचतान:गुवाहाटी में होटल में बैठकर कैंपिंग कर रहे विधायक गद्दार हैं-विधायक आदित्य ठाकरे

सीएम ने की बड़ी घोषणा: सात विशेष पिछड़ी जनजाति समूह के युवाओं को मिलेगी सरकारी नौकरी

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!