HomeAdministrationसंभागायुक्त के औचक निरीक्षण में खुल गई अधिकारी कर्मचारियों की पोल

संभागायुक्त के औचक निरीक्षण में खुल गई अधिकारी कर्मचारियों की पोल

  • आरटीओ कार्यालय में मचा हड़कंप
  • अनुपस्थित कर्मचारियों पर गिरी गाज
  • संभागायुक्त महादेव कावरे ने विभाग प्रमुख को एक दिन का वेतन कटौती करने के दिए निर्देश

दुर्ग.आरटीओ कार्यालय में गुरुवार को उस समय हड़कंप मच गया जब दुर्ग संभागायुक्त महादेव कावरे ने अचानक दबिश दी। श्री कावरे कार्यालय खुलने के समय सुबह ही वाणिज्य कर विभाग दुर्ग के दफ्तर पहुंचे, जहां बड़ी संख्या में अधिकारी कर्मचारी अनुपस्थित थे।

सर्किल 1 कार्यालय में 20 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। एवं सर्किल 2 में कुल 22 एवं सर्किल 3 में 8 कर्मचारी एवं सर्किल 4 में 18 अधिकारी कर्मचारी अनुपस्थित पाए जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए आधे दिवस का वेतन काटे जाने की कार्यवाही की गई। संभागायुक्त ने सभी कर्मचारियों के टेबल पर नाम पट्टिका आवश्यक रूप से रखे जाने के निर्देश दिए।

Chhattisgarh
निरीक्षण के दौरान संभागायुक्त महादेव कावरे

कार्यालयीन समय का रखे पूरा ध्यान

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के संभागीय कार्यालय के निरीक्षण के दौरान 06 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए जिस पर श्री कावरे ने अनुपस्थित कर्मचारियों पर कार्यवाही करते हुए, सभी कर्मचारियों को समय पर कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिए।श्री कावरे ने लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत विभागीय सेवाओं एवं प्राप्त आवेदनों पर की जा रही कार्यवाही का अवलोकन किया।

आरटीओ कार्यालय पहुंचते ही कर्मचारियों में मची अफरा तफरी

संभागायुक्त श्री कावरे जैसे ही परिवहन कार्यालय दुर्ग निरीक्षण के लिए पहुंचे उस समय उपस्थित कर्मचारियों में अफरा तफरी मच गई एवं अधिकारी सहित कर्माचारी सकते में आ गए, कार्यालय में 04 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए, जिन पर तत्काल कार्यवाही की गई। संभागायुक्त ने सभी टेबल पर नाम प्लेट रखने के साथ ही लायसेंस बनाने हेतु निर्धारित काउंटर में कार्यरत कर्मचारियों के भी नेम प्लेट भी आवश्यक रूप से रखे जाने के निर्देश दिए। कार्यालय में अव्यवस्थित रूप से रखे हुए नस्तियों को व्यवस्थित करने के निर्देश दिए साथ ही कार्यालय में नियमित साफ सफाई रखने के स्पष्ट निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:मनी लांड्रिंग के मामले में आइएएस बिश्नोई और समेत तीन गिरफ्तार

Ed Raid: मनी लांड्रिंग मामले में आईएएस और उनकी पत्नी को हिरासत में लिया

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा, इस बार किसानों को धान बेचने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!