Homeदेशमहाराष्ट्र में राजनीतिक संकट:होटल की बुकिंग दो और दिनों के लिए बढ़ाई,...

महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट:होटल की बुकिंग दो और दिनों के लिए बढ़ाई, इधर सीएम ठाकरे ने मांगे जवाब

शिंदे बोले- एमवीए के खेल को पहचानो

मुंबई. महाराष्ट्र में सियासी खींचतान जारी है। एक तरफ गुवाहाटी में बैठे एकनाथ शिंदे ने होटल की बुकिंग को दो और दिन के बढ़वा दी है। यानी सोमवार तक सियासी दावपेंच चलेगा। एकनाथ शिंदे गुट ने होटल प्रबंधन से गुवाहाटी में अपनी बुकिंग दो और दिनों के लिए बढ़ाने को कहा है। पहले यह बुकिंग 28 जून तक थी। सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी गई है।

सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं तो सीएम उद्धव ठाकरे ने भी बगावत करने वाले विधायकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी जारी की है।  ऐसे में सभी की नजरें आज होने वाले घटनाक्रम पर होंगी।

शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि यह महाराष्ट्र का दुर्भाग्य है कि जब बेरोजगारी और महंगाई है, तो कुछ लोगों को केवल सत्ता में आने की चिंता है। शिवसेना प्रमुख के बिना उनका विद्रोही विधायक भी नहीं रह सकता, उन्हें कोई नहीं पूछेगा। उनमें से कुछ दबाव और भय के कारण चले गए, इसलिए उन्हें इतनी दूर असम ले जाया गया। कई विधायक हमें फोन कर रहे हैं और कह रहे हैं कि वे वापस आना चाहते हैं।

यह सच और झूठ की लड़ाई: आदित्य ठाकरे
महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे की बगावत से पार्टी में पैदा हुआ मौजूदा राजनीतिक संकट सच्च और झूठ के बीच की लड़ाई है। हम जीतेंगे और सच्चाई की जीत होगी। इससे पहले शिवसेना अध्यक्ष एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने दक्षिण मुंबई के शिवसेना कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के चुनाव इस साल के अंत में होने की उम्मीद है।

शिंदे बोले- एमवीए के खेल को पहचानो
इस बीच एकनाथ शिंदे से ट्विटर पर एक खास अपील की। उन्होंने लिखा, ‘प्रिय शिवसैनिकों, अच्छी तरह से समझें, एमवीए के खेल को पहचानो! मैं शिवसेना और शिवसैनिकों को एमवीए के अजगर के चंगुल से मुक्त कराने के लिए संघर्ष कर रहा हूं। यह लड़ाई आप शिवसैनिकों के लाभ के लिए समर्पित है। आपका एकनाथ संभाजी शिंदे।

27 जून को शाम साढे पांच बजे तक बागियों से मांगे जवाब
महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार पर जारी संकट के बीच विधानसभा उपाध्यक्ष नरहरी जिरवाल ने शिवसेना के बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे सहित 16 बागी विधायकों को नोटिस जारी किया है। इन बागी विधायकों को 27 जून की शाम साढ़े पांच बजे तक जवाब देने के लिए कहा गया है। दूसरी ओर, शिवसेना ने भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल न होने पर सभी बागियों को नोटिस जारी किया है। पार्टी के मुख्य सचेतक सुनील प्रभु ने सभी 16 बागी विधायकों को अपात्र घोषित करने का नोटिस जारी कर दिया है। शिवसेना की तरफ से उन बागी विधायकों को 27 जून की शाम 5 बजे तक अनुपस्थित रहने पर लिखित जवाब देने के लिए कहा गया है। नोटिस में कहा गया है कि अगर विधायक जवाब नहीं देते हैं तो यह मान लिया जाएगा कि आपके पास कहने के लिए कुछ नहीं है। इसके बाद कानूनी प्रक्त्रिस्या के तहत कार्रवाई के संबंध में अंतिम फैसला लिया जाएगा।

होटल की बुकिंग दो और दिनों के लिए बढ़ाई

शिवसेना का हर कार्यकर्ता स्वाभाविक गठबंधन चाहता है: बागी विधायक
एकनाथ शिंदे द्वारा ट्वीट किए गए एक वीडियो में शिवसेना के बागी विधायक चिमनराव पाटिल ने कहा कि हम परंपरागत रूप से एनसीपी और कांग्रेस के प्रतिद्वंद्वी हैं। वे निर्वाचन क्षेत्रों में हमारी प्राथमिक चुनौती हैं। हमने सीएम उद्धव ठाकरे से अनुरोध किया था कि गठबंधन परंपरागत रूस से ही किया जाना चाहिए। चूंकि सीएम की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई, इसलिए हमारे नेता एकनाथ शिंदे ने स्टैंड लिया। शिवसेना का हर कार्यकर्ता स्वाभाविक गठबंधन चाहता है। शिवसेना के दो तिहाई से अधिक विधायकों और 10 निर्दलीय विधायकों ने शिंदे का साथ देने का फैसला किया है।

असदुद्दीन ओवैसी का तंज
महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक संकट पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी तंज कसा है। ओवैसी ने कहा कि महा विकास अघाड़ी को इस ममले पर विचार करने दें। हम इस ड्रामे पर नजर रखे हुए हैं। यह बंदरों का डांस लग रहा है। एक शाखा से दूसरी शाखा में कूदने वाले बंदरों की तरह काम हो रहा

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!