Homeदेश105 घंटे बाद बोरवेल के गडढे से बाहर आया राहुल, ग्रीन कॉरिडोर...

105 घंटे बाद बोरवेल के गडढे से बाहर आया राहुल, ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ले जाया जाएगा बिलासपुर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राहुल को सुरक्षित निकालने के लिए टीम के सभी सदस्यों को कहा आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद...

रायपुर. छत्तीसगढ़ के जांजगिर जिले के पिहरीद गांव के बोरवेल में फंसे राहुल को एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना के जवानों ने टनल बनाकर बाहर निकाल लिया है। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना के जवान और जिला प्रशासन की टीम ने राहुल को सुरक्षित निकालने के लिए अब तक सबसे बड़ी रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दिया है।

एनडीआरएफ के 8 सदस्यीय टीम जैसे ही टनल बनाकर राहुल तक पहुंचे। कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला और चिकित्सकों की टीम को मुहाने पर बुलवाया गया। इसके बाद एनडीआरएफ की टीम ने राहुल के पिता को टनल के मुहाने पर बुलवाया है और राहुल से मिलवाया। कलेक्टर शुक्ला ने बताया कि राहुल पुरी तरह से सुरक्षित है। वह आंख खोलकर देख रहा है।

चट्‌टान को तोड़ना काफी दुष्कर रहा

रेस्क्यू टीम के लिए चट्‌टान को तोड़ना काफी दुष्कर रहा।टीम सोमवार की रात 10 बजे से बड़ी मशीन से खुदाई बंद कर छोटी ड्रील मशीन की मदद से मैनुवली खुदाई करते हुए चट्‌टान को तोड़ने में जुटा हुआ था। जवानों को पिछले 24 घंटे तक जवान घुटने बल खड़े होकर चट्‌टान की परत को तोड़ना और छोटे छोटे हिस्से में चट्‌टान को तोड़ते हुए आगे बढ़े। आखिर कार मंगलवार की रात 10.50 बजे टनल बनाकर राहुल तक पहुंचे। राहुल को बोरवेल के गड्ढे से टनल के माध्यम से सुरक्षित बाहर लेकर आए।

मौके पर तैनात मेडिकल टीम उसकी स्वास्थ्य जांच करते हुए सम्पूर्ण चिकित्सकीय सुविधाओं से लैस एम्बुलेंस तक लेकर गए हैं। उसे ग्रीन कॉरिडोर बनाकर अपोलो अस्पताल बिलासपुर के लिए रवाना किया गया। अपोलो अस्पताल के इमरजेंसी गेट से अंदर ले स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद मेडिकल बुलेटिन जारी किया जाएगा।

बता दें कि शुक्रवार से 80 फीट गहराई वाले बोरवेल के 65 फीट की गहराई में 10 साल के राहुल साहू फंसे हुए थे। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, ARMY और जिला प्रशासन की टीम पिछले 5 दिनों से लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चला रहे थे।

chhattisgarh
राहुल साहू

इस आपरेशन में चौका देने वाली घटना घटी

इस ऑपरेशन में चौंका देने वाली घटना घटी है। मंगलवार की शाम को बोरवेल के गडढे में एक सांप आ गया था, लेकिन राहुल उससे डरा नहीं है। आत्मविश्वास बनाए रखा। यही वजह है कि वह पूरी तरह से स्वस्थ्य है। जब टीम उनके पास पहुंची तो वह सभी लोगों को देख रहा था।

मुख्यमंत्री लेते रहे हर पल का अपडेट

chhattisgarh
वीडियो कॉल कर रेस्क्यू ऑपरेशन का अपडेट लेते हुए मुख्यमंत्री भूपेश  बघेल

इस पूरे मामले में टीम के साथ छत्तीसगढ़ सरकार ने पूरी गंभीरता दिखाई है। टीम को जिस समान की जरूरत पड़ी, सरकार ने उसे उपलब्ध करवाया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राहुल के रेस्क्यू ऑपरेशन की हर पल-अपडेट लेते रहे। मुख्यमंत्री हर आधा घंटा के अंतराल में कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला को फोन लगाते और अपडेट लेते थे। मुख्यमंत्री दिन में कई बार वीडियो कॉल कर वस्तु स्थिति की जानकारी लेते और रेस्क्यू टीम को निर्देश भी देते रहे और जब टीम राहुल को लेकर बाहर निकले तो मुख्यमंत्री ने टीम के सभी सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए ट्वीट भी किया।

यह भी पढ़ें: मासूम को सुरक्षित निकालने में मिली सफलता, छत्तीसगढ़ के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन

लोगों की प्रार्थना ईश्वर ने सुन ली

 

chhattisgarh
राहुल की सलामती के लिए नगर पालिक निगम भिलाई के शारदापारा के लोगों ने सार्वजनिक शिव मंदिर में पूजा अर्चना करने के लिए जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़ें:बड़ी खबर: ग्राहकों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले संचालकों के पास से 500 एटीएम ,5 हजार पासबुक और लैपटाप जब्त

 खाताधारकों से धोखाधड़ी करने वाले ग्राहक सेवा केन्द्र के संचालक गिरफ्तार

सीएम को पुलिस ने किया गिरफ्तार

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!