Homeशिक्षाराष्ट्रीय साधन सह-प्रावीण्य छात्रवृत्ति योजना के चयनित प्रतिभागियों को मिलेगी छात्रवृत्ति

राष्ट्रीय साधन सह-प्रावीण्य छात्रवृत्ति योजना के चयनित प्रतिभागियों को मिलेगी छात्रवृत्ति

  • राष्ट्रीय प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा में शामिल हुए 11909 विद्यार्थी
  • चयनित प्रतिभागियों को प्रतिमाह एक हजार रुपए मिलेगी छात्रवृत्ति  
  • कक्षा 8वीं में अध्ययनरत आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के विद्यार्थियों के लिए है यह योजना

रायपुर.राष्ट्रीय साधन सह-प्रावीण्य छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत राज्य के विद्यालयों में कक्षा 8वीं में अध्ययनरत आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के मेधावी विद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। छात्रवृत्ति प्राप्ति के लिए राष्ट्रीय साधन सह-प्रावीण्य छात्रवृत्ति योजना राज्य के प्रत्येक जिले में 82 मुख्य और 13 उप परीक्षा केन्द्रों में राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा आयोजित की गई। इस परीक्षा में गत 12 हजार 582 दर्ज परीक्षार्थियों में से 11 हजार 909 शामिल हुए।

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस परीक्षा में चयनित प्रतिभागियों को कक्षा 9वीं से 12वीं तक केन्द्र शासन द्वारा प्रतिमाह एक हजार रूपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। इस परीक्षा में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित, शासकीय अनुदान प्राप्त, स्थानीय निकाय के स्कूलों के कक्षा 8वीं में अध्ययनरत विद्यार्थी जो 7वीं कक्षा में 55 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति जनजाति के विद्यार्थियों को 50 प्रतिशत अंक के साथ उत्तीर्ण होना जरूरी है।

इन विद्यार्थियों के पिता, पालक की वार्षिक सकल आय 3.5 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। इस परीक्षा में सभी आवेदकों को कक्षा 7वीं की अंक सूची, सक्षम अधिकारी द्वारा जारी आय प्रमाण पत्र, अनुसूचित जाति एवं जनजाति प्रवर्ग के प्रतिभागियों के लिए सक्षम अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र, विद्यार्थी के पिता अथवा पालक, शासकीय या अर्द्धशासकीय कर्मचारियों हो तो उनके सक्षम विभागीय अधिकारी द्वारा जारी वार्षिक आय प्रमाण पत्र का दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।

परीक्षा दो प्रश्न पत्र पहला बौद्धिक योग्यता परीक्षण जिसमें प्रत्येक वस्तुनिष्ठ प्रश्न पर एक अंक निर्धारित है। यह प्रश्न पत्र कुल 90 प्रश्न का होगा, जिसे 90 मिनट में हल करना है। इसी प्रकार दूसरे प्रश्न पत्र शैक्षणिक योग्यता परीक्षण में प्रत्येक वस्तुनिष्ठ प्रश्न का एक अंक निर्धारित है, कुल 90 प्रश्न होंगे, जिसे 90 मिनट में हल करना है। बौद्धिक योग्यता परीक्षण में गणित के 20 प्रश्न, विज्ञान (भोतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान) के 35 प्रश्न और सामाजिक विज्ञान (इतिहास, भूगोल, नागरिक शास्त्र, एवं अर्थशास्त्र) के भी 35 प्रश्न होंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!