HomeAdministrationएसडीएम पर लगे वसूली के गंभीर आरोप, कलेक्टर से शिकायत

एसडीएम पर लगे वसूली के गंभीर आरोप, कलेक्टर से शिकायत

रायपुर @ news-36.जशपुर जिले के बगीचा की एसडीएम ज्योति बबली कुजूर (बैरागी)पर वसूली के गंभीर आरोप लगे हैं। सन्ना विकासखंड के पटवारियों ने एसडीएम के खिलाफ कलेक्टर से लिखित में शिकायत की है। जिसमें यह कहा गया है कि, उक्त अधिकारी ने कलेक्टर को गिफ्ट देने के नाम पर होली में वसूली का फ रमान जारी किया था। वसूली की राशि 2 लाख रूपए पूरे न होने पर मीटिंग से तहसीलदार को बाहर कर दिया था।

इन सभी का आरोप है कि बगीचा एसडीएम ज्योति बबली कुजूर द्वारा सभी को आर्थिक एवं मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जा रहा है, पूर्व में भी ज्योति बबली कुजूर के ऊपर कई आरोप लगे है जिसमे अभी तक विभागीय जांच चल रहा है। पटवारियों का आरोप है कि उक्त अधिकारी अपने घर का राशन और ड्राइफ् रूट समेत अन्य खरीदी कर उसका बिल पटवारियों को भेज देती है और भुगतान न करने वाले पटवारी के खिलाफ कार्रवाई की धमकी देती है।

यह लिखा है शिकायत में
शिकायत में लिखा है कि उपरोक्त विषयार्गंत अनुविभागीय अधिकारी बगीचा की ज्योति बबली कुजूर के कार्यप्रणाली एवं किए जा रहे कार्यों से हम समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी गण तहसील सन्ना एवं बगीचा आर्थिक एवं मानसिक रूप से परेशान रूप स प्रताडि़त हो रहे हैं। भयपूर्ण वातारण में कार्य करने के लिए विवश हैं। हम सभी महोदय से मांग करते हंै कि अनुविभागीय अधिकारी ज्योति बबली कुजूर को जिला मुख्यालय में अटैच कर पारदर्शितापूर्वक विभागीय जांच करवाकर नियमानुसार कार्रवई करें। वहीं कलेक्टर ने इस मामले में जांच करने की बात कही है।

सालभर पहले इस वजह से आई थी चर्चा में
साल पहले बलरामपुर जिले में एक आईपीएस को रेस्ट हाउस में रुकवाने पर विवाद हो हुआ था।तब वह वाड्रफ नगर की एसडीएम थी। वहां पहले से रुकीं थी। इसी बीच एसओपी ने आईपीएस को वहां रुकवा दिया था। इस पर एसडीएम ज्योति बबली भड़क गईं थी। एसडीओपी को जमकर खरी खोटी सुनाई थी। बात बिगड़ती देख आईपीएस ने रेस्ट हाउस छोड़कर चले गए। इस घटना के बाद कलेक्टर ने एसडीएम का तबादला किया था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!