Homeस्वास्थ्यचंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल कचांदुर में स्ट्रेस मैनेजमेंट क्लीनिक की सेवाएं 13...

चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल कचांदुर में स्ट्रेस मैनेजमेंट क्लीनिक की सेवाएं 13 जून से

सीसीएम में 13 जून से ओपीडी सेवा की होगी शुरूआत

दुर्ग. चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल कचांदुर में बहुत जल्द ओपीडी शुरू होने वाली है।वर्तमान में अनियमित जीवन शैली के चलते लोग डायबिटिज और हाइपर टेंशन जैसे बीमारियों से ग्रसित हो रहे है। इसलिए यहां स्ट्रेस मैनेजमेंट क्लीनिक की शुरुआत की जाएंगी। जो अपनी तरह की एक अनूठी पहल होगी। इसके अलावा सीसीएम में जनरल फिजिशियन ,स्त्री रोग,हड्डी रोग, नाक कान गला, शिशु और आंख रोग विशेषज्ञ उपलब्ध रहेंगे। इसके अलावा अस्पताल में मोतियाबिंद, फैमिली प्लानिंग अन्य रोगों से संबंधित ऑपरेशन सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएंगी।

इस संबंध में आज कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने यहां के डॉक्टर व स्टाफ के साथ मीटिंग रखी थी। जिसमें उन्होंने बुनियादी सुविधाओं के साथ उपस्थित डॉक्टरों व संबंधित अधिकारियों को ओपीडी खोलने के निर्देश दिए। उन्होंने ओपीडी के साथ-साथ वैक्सीनेशन और फैमिली प्लानिंग सेक्शन में डॉक्टरों को विशेष ध्यान देने के लिए कहा ताकि आने वाले भविष्य के लिए एक बेहतर और सुरक्षित वातावरण तैयार किया जा सके।जीवन शैली जनित रोग के लिए स्ट्रेस मैनेजमेंट क्लीनिक की सुविधा होगी। जहां कई विशेषज्ञ सेवाएं देंगे।

पोषण पुनर्वास केंद्र (एनआरसी) से सेहतमंद बनेंगे बच्चे

बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ सीसीएम कचांदुर में कुपोषण की स्थिति से निपटने के लिए पोषण पुनर्वास केंद्र भी खोला जाएगा। जहां 5 वर्ष तक के कुपोषित बच्चों को भर्ती किया जाएगा और उन्हें 14 दिन तक स्पेशल डाइट और इलाज मुहैया कराया जाएगा।आहार विशेषज्ञों और डॉक्टरों की उपस्थिति में बच्चों के खान-पान का विशेष ख्याल रखा जाएगा और भर्ती में बच्चे के वजन में न्यूनतम 15 फीसदी की वृद्धि के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया जाएगा। बैठक में डॉ. पीके पात्रा, डॉ. अतुल मनोहरराव देशकर, डॉ. नवीन गुप्ता, डॉ. किरण, डॉ. कलीन्द्री कुमार, डॉ. विनम्रता, डॉ प्रितम राजपूत, आकाक्षा तिवारी, राकेश कुमार, ज्योत्सना भारती उपस्थित रहें।

यह भी पढ़ें : गांव वालों ने दी ऐसी जानकारी कि मुख्यमंत्री भी रह गए अवाक, कहा- महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए आप सभी का धन्यवाद …

प्रयास आवासीय विद्यालयों में कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए च्वाईंस फिलिंग 13 तक

उद्भव ने 150 प्रतिभागियों को पछाड़कर हासिल किया गोल्ड

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!