Homeस्वास्थ्यजंक फ़ूड के कई दुष्प्रभाव - डॉ. ओमेश खुराना

जंक फ़ूड के कई दुष्प्रभाव – डॉ. ओमेश खुराना

दुर्ग. बाल दिवस व विश्व डायबिटीज दिवस पर चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृत्ति शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय समेत शहरी प्राथमिक चिकित्सा केन्द्रों में विशेष कार्यक्रम हुआ। बैकुंठधाम शहरी प्राथमिक केंद्र में बाल दिवस पर कार्यक्रम की अध्यक्षता अधिष्ठाता डॉ. प्रदीप कुमार पात्रा ने की व डॉ. जयंती चंद्राकर विशेष अतिथि रहीं।

कार्यक्रम के संयोजक शिशु रोग विभाग के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. ओमेश खुराना ने स्तनपान पर प्रकाश डाला व जंक फ़ूड के दुष्प्रभाओं के बारे में बताया। इस आयोजन में डॉ.तुषार, नेशनल हेल्थ मिशन दुर्ग और डॉ.गीता सिन्हा, प्रभारी बैकुंठधाम वैलनेस सेंटर का विशेष सहयोग रहा।

इस विशेष अवसर पर मुख्य अतिथि ने कल जन्मी नवजात बेबी आरती की ठण्ड से बचाव के लिए गर्म कपड़े भेंट किए। शिशु रोग विभाग की डॉ. भवानी, डॉ. प्रशिमा पाण्डेय व कम्युनिटी हेल्थ विभाग के डॉ.वी के मनवानी व डॉ. सौरभ साहू ने इस आयोजन में विशेष योगदान दिया। विश्व मधुमेह दिवस के उपलक्ष्य में चिकित्सा महाविद्यालय में उपलब्ध डायबिटीज क्लिनिक के प्रभारी डॉ. अंशुल सिंघई के द्वारा के सारगर्भित कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे अधिष्ठाता डॉ. पी. के.पात्रा, अस्पताल अधीक्षक डॉ. अतुल मनोहर राव देशकर व चिकित्सा शिक्षकों के अलावा नर्सिंग स्टॉफ भी उपस्थित थे।

जिसमें शुगर की बीमारी के बारे में भ्रामक बातों का समधान करते हुए आधुनिक अनुसन्धानों व उसके उपचार की नई पद्धतियों पर जानकारी दी गयी। मधुमेह के निदान के लिए नई असरकारक दवाओं, इन्सुलिन पम्प और जेनेटिक इंजिनियरिंग पर भी चर्चा हुई।

इस अवसर पर अधिष्ठाता डॉ पात्रा ने नर्सिंग छात्राओं द्वारा मधुमेह पर लगायी एक प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया जिसमें जाँच के नये उपकारणों सहित जन सामान्य को खान पान से सम्बंधित बातों को भी प्रदार्शित किया गया। नर्सिंग कॉलेज की प्राचार्या रेमा राजेश ने इस कार्यक्रम के संयोजन में विशेष भूमिका अदा की।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!