HomeEntertainmentCrimeतस्कर ने छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों को फिल्मी स्टाइल में छकाया

तस्कर ने छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों को फिल्मी स्टाइल में छकाया

न्यूज डेस्क @ News-36. शातिर वाहन चालक ने फिल्मी स्टाइल में छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों को खूब छकाया। तस्करी की सूचना पर पुलिस के जवानों ने वाहन को रोकने के लिए चेक पोस्ट ,थाना के सामने के अलावा नेशनल हाइवे समेत 3 स्थानों पर पर बेरिकटिंग कर रखी थी, लेकिन शातिर चालक फिल्मी स्टाइल में 3-3 स्थानों पर जवानों को चकमा देकर भागने में सफल हो गए। आखिर में वह गांव के संकरे रास्ते में जाकर फंस गया और पुलिस ने दबोच लिया।

दअसल, पुलिस को यह सूचना मिली थी कि धान की भूसी/कनकी के बोरियों में बीच गांजा को भरकर तस्करी किया जा रहा है। इसकी सूचना महासमुंद पुलिस अलर्ट हुई। छत्तीसगढ ओडिशा बार्डर, रेहटीखोल थाना और नेशनल हाइवे पर बेरिकेटिंग कर पर जांच शुरू की।अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट रेहटीखोल में जांच के दौरान ओडिशा की ओर से आने वाले महाराष्ट्र पासिंग आयशर 1110 वाहन को जवानों ने रोकने का इशारा किया गया, लेकिन चालक वाहन को रोकने के बजाय सरायपाली की ओर भगा दिया। बार्डर पर तैनात जवानों ने इसकी सूचना थाना प्रभारी सिंघोड़ा को दी। थाना सिंघोडा के स्टॉफ अलर्ट हुए। जवानों ने उक्त वाहन को थाना के सामने रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह वहां से भी भाग निकला।

हाईवे पेट्रोलिंग की टीम ने पकड़ा
जवानों ने इसकी सूचना हाईवे पेट्रोलिंग को दी गई। पेट्रोलिंग टीम ने वाहन को रोकने के लिए ग्राम छुईपाली में एन एच 53 पर रोड को ब्लाक किया, लेकिन वाहन चालक ने रोड ब्लाक देखकर अपने वाहन को उससे पहले ग्राम खरखरी की घुमा दिया और तेज रफतार से भगाने लगा। जिसका पीछा करते हुए पेट्रोलिंग टीम ने वाहन को ग्राम खरखरी में रोका और जांच पड़ताल शुरू की।

चावल की बोरियों में छिपाया था 800किलोग्राम गांजा
जांच के दौरान धान की भूसा और कनकी के बोरियों के बीच गांजा छिपाने का खुलासा हुआ। पुलिस ने वाहन मेें छिपाए गए करीब ८०० किलोग्राम गांजा समेत वाहन को जब्त किया गया। वहीं वाहन चालक ने अपना नाम शुभम साहू पिता रूपचन्द्र साहू उम्र 27 साल साकिन प्लाट नंबर 69 गोधानी रोड़ जिंगाबाई तकली गायत्री नगर सचिन लेआउट थाना मनकापुर हॉल मुकाम कांति रोड उपलबाड़ी चुड़ा कम्पनी के पास थाना कपिल नगर जिला नागपुर महाराष्ट्र का रहने वाला बताया। पूछताछ पर वाहन आयशर 1110 क्रमांक एम एच 46 एफ 1882 मे धान भूसी कनकी बोरियों के नीचे छिपाकर गांजा परिवहन करना स्वीकार किया।

बता दें कि डीजीपी डीएम अवस्थी सख्ती के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस काफी एक्टिव नजर आ रही है। सूचना और शिकायत पर तत्काल कार्रवाई कर रही है। जवान सीमा रेखा के अलावा चेक पोस्ट पर नाकेबंदी कर अन्य राज्यों से आने-जाने वाले वाहनों की चेकिंग कर रही है। इसलिए तस्कर पुलिस को चकमने देने के लिए इस तरह के पैतरे अपना रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!