Homeदेशजापान के अधिकारियों का दल, छत्तीसगढ़ की हाईटेक खेती के हुए कायल

जापान के अधिकारियों का दल, छत्तीसगढ़ की हाईटेक खेती के हुए कायल

छत्तीसगढ़ सरकार की योजनाओं का जायजा लेने दुर्ग जिले के संडी गोठान पहुंचे जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी ( jica ) के अधिकारयों का दल प्लग टाइप वेजिटेबल सीडलिंग एवं ड्रैगन फ्रूट की हाईटेक खेती देख आश्चर्य चकित हुए। जिका के अधिकारियों ने पूरे कांसेप्ट की बारीकी से जानकारी ली। ग्रामीण अर्थव्यवस्था के कांसेप्ट से हो रही आमदनी को लेकर प्रसन्नता भी जताई।

जापान से पहुंचे से अधिकारियों का दल को दुर्ग जिले केअधिकारियो ने धमधा विकासखंड के संडी गोठान में वर्मीकपोस्ट का उत्पादन, गोठान में हैचरी, बटेर पालन, ब्रूडिंग हाउस, पोल्ट्री रैरिंग कार्य और सामुदायिक बाड़ी का अवलोकन कराया।

Chhattisgarh
हेचरी का अवलोकन करते हुए जिका दल के सदस्य

जहां दल के सदस्यों ने कार्य में सलंग्न स्व सहायता समूह की महिलाओ से चर्चा कर गोठान के कांसेप्ट को समझा एवं सराहना की। उन्होने कहा कि ऐसा कांसेप्ट उन्होंने पहली बार देख। जिससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होती हो। पूरे कांसेप्ट को देखकर एवं स्वसहायता समूह को हो रही आमदनी से अवगत होकर बहुत प्रसन्नता जाहिर की।

गिरहोला के किसान की खेती के कायल हुए दल के सदस्य

गिरहोला में कृषक मयंक चौहान के खेत पहुंचे। जहां उन्होंने प्लग टाइप वेजिटेबल सीडलिंग (Plug Type Vegetable Seedling)एवं ड्रैगन फ्रूट की खेती (dragon fruit farming) देख बहुत प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि इतना बड़ा एवं हाईटेक खेती पहली बार देखा है।

chhattisgarh
धमधा विकासखंड के संडी में जिका के अधिकारियों का दल

भ्रमण दल में जीका हेडक्वार्टर टोक्यो से कोईडे सोटा डिप्टी डायरेक्टर जिका, कंट्री ऑफिसर मिस एच शशाकि, काओरी फ्रूयामा प्रतिनिधि जीका इंडिया,अनुराग सिन्हा प्रिंसिपल डेवलपमेंट स्पेशलिस्ट एवं अपर संचालक उद्यानिकी भूपेंद्र पांडेय, उप संचालक सुरेश ठाकुर ,वेटरनरी अधिकारी सी पी मिश्रा एवं अन्य प्रक्षेत्र अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: पीरियड के दौरान महिलाओं को यह पैड रखेगा एनर्जेटिक, सस्ती दर पर मिलेगा मार्केट में

एरोमेटिक फसलों की खेती से दक्षिण बस्तर के किसान हो रहे समृद्ध

आम की खेती कर आप भी कमा सकते हैं लाखों

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!