HomeAdministrationजल जीवन मिशन के कार्यों का जायजा लेने पहुंचे डायरेक्टर ने पूछा,यदि...

जल जीवन मिशन के कार्यों का जायजा लेने पहुंचे डायरेक्टर ने पूछा,यदि पानी का सैंपल खराब आये तो क्या करोगे

  • राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के अधिकारी कार्यों का जायजा लेने पहुंचे पाटन
  •  गांवों में जलजीवन मिशन और स्वच्छता का काम देख हुए खुश
  • स्वच्छताग्राही दीदियों की प्रशंसा की

दुर्ग . केंद्र सरकार के जलशक्ति मंत्रालय के एडीशनल सेक्रेटरी और राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के मिशन डायरेक्टर विकासशील आज पाटन ब्लाक के गांवों में जलजीवन मिशन और स्वच्छता का काम देखने पहुंचे। उन्होंने देर तक यहां प्रोजेक्ट्स को देखा। उनकी बारीकियों के बारे में पूछा।

 

मिशन से जुड़े लोगों से बातचीत की और हितग्राहियों से बात की। इसके लिए वे पतोरा, तर्रा और देवादा गये। तर्रा में वे जलवाहिनी के सदस्यों से मिले और पूछा कि पानी टेस्ट कैसे करते हो। सदस्यों ने बताया। उन्होंने कहा कि यदि सैंपल खराब आये तो क्या करोगे। पीएचई के अधिकारियों ने बताया कि इसका ट्रीटमेंट करेंगे।

 

श्री विकासशील ने कहा कि पानी खराब आने पर क्या करेंगे इसके लिए स्टैंडर्ड प्रोसिजर सबको बता दें। फिर उन्होंने कहा कि इस कार्य में स्थानीय लोगों की सहभागिता भी होनी है। इसके लिए क्या किया है। इस पर सदस्यों ने बताया कि प्रति कनेक्शन सौ रुपए लिया जा रहा है। इससे आपरेटर को छह हजार रुपए भुगतान किया जा रहा है। यहां 311 घरों में कनेक्शन है। उन्होंने कनेक्शन वाले परिवारों से बात की। परिवारों ने संतुष्टि जताई।

यह भी पढ़ें: Exclusive:सरकार ने किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए रबी फसलों के प्रमाणित बीजों की कीमत को किया रिवाइज

किराए में रहने वालों के लिए अच्छा मौका, निगम ने आवेदन की तिथि बढ़ाई

 

मिशन डायरेक्टर ने जिले में और पाटन ब्लाक में अब तक हुए जलजीवन मिशन के कार्यों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि स्वच्छ और पर्याप्त जल प्रदाय करना सबसे अहम कार्य है। इसके लिए जलजीवन मिशन बनाया गया है ताकि सबके लिए यह सुनिश्चित किया जा सके। इसका काम बढ़िया होता रहे, इसकी अधिकारी निरंतर मानिटरिंग करते रहें। इस दौरान उनके साथ, राज्य से लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सचिव भारतीदासन , जल जीवन मिशन छत्तीसगढ़ के मिशन संचालक टोपेश्वर वर्मा , प्रमुख अभियंता टी जी केशरिया, मुख्य अभियंता रायपुर संभाग राजेश गुप्ता, अधीक्षण अभियंता दुर्ग समीर शर्मा , जिला पंचायत अश्वनी देवांगन एवं कार्यपालन अभियंता दुर्ग एफ सी बोरकर मौजूद थे।

देवादा में स्वच्छताग्राही दीदियों को दी शाबासी

देवादा में उन्होंने कचरा प्रबंधन का कार्य देखा। स्वच्छताग्राही दीदियों ने बताया कि वे घर घर जाती हैं कचरा एकत्रित करती हैं। फिर इन्हें अलग करती हैं। उन्होंने बताया कि हमारे ग्रामीण घरों में एक गड्ढा भी होता है जिसमें जैविक कचरा पहले ही डाले जाने की परंपरा है जिससे कंपोस्ट बन सके। इस पर श्री विकासशील ने प्रशंसा की। उन्होंने स्वच्छतादीदियों को शाबासी दी और कहा कि आप लोग अपने गांव को सुंदर स्वच्छ रखने का कार्य कर रही हैं जो सबसे अच्छा कार्य है।

पतोरा में देखा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट

पतोरा में उन्होंने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट देखा। अधिकारियों ने विस्तार से बताया कि किस प्रकार सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट काम करता है और किस तरह से ग्रामीण क्षेत्रों में सीवरेज की स्थिति को बेहतर करने के लिए यह प्लांट उपयोगी हो सका है। इसके साथ ही यहां सेग्रेशन की व्यवस्था भी उन्होंने देखी और इस पर खुशी जताई। पतोरा की दीदियों ने बताया कि स्वच्छता के क्षेत्र में 2019 में उन्हें प्रथम पुरस्कार भी मिला है। इस पर सचिव एवं उनकी टीम ने खुशी जताई।

यह भ

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!